दैनिक भास्कर हिंदी: नई दिल्ली: पीयूष गोयल ने भारत-ऑस्ट्रेलिया आर्थिक रणनीति रिपोर्ट लॉन्च की

December 19th, 2020

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। वाणिज्‍य एवं उद्योग मंत्रालय श्री पीयूष गोयल ने भारत-ऑस्ट्रेलिया आर्थिक रणनीति रिपोर्ट लॉन्च की श्री पीयूष गोयल ने कहा कि भारत में ऑस्ट्रेलिया के निवेश की बहुत संभावना है व्यापार के बड़े अवसर और व्यापार के बेहतर अवसर तथा संतुलित व्यापार संबंधों के साथ हम अपने व्यापार संबंधों में बड़ी और व्यापक वृद्धि प्राप्त कर सकते हैं। केंद्रीय रेल, वाणिज्य और उद्योग, उपभोक्ता मामले, खाद्य तथा सार्वजनिक वितरण मंत्री श्री पीयूष गोयल ने कहा कि भारत में ऑस्ट्रेलिया के निवेश की व्‍यापक संभावना है, क्योंकि हमने प्रत्‍यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) मानदण्‍डों को सरल बनाया है और इसे विभिन्न क्षेत्रों के लिए खोलदियाहै। भारत-ऑस्ट्रेलिया द्विपक्षीय आर्थिक और व्यापार संबंधों को बढ़ाने के बारे मेंभारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) के सत्र को आज संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि हमने खाद्य प्रसंस्करण और मूल्य संवर्धन में अधिक निवेश के लिए अपने कृषि क्षेत्र को भी खोल दिया है। श्री गोयल ने भारत-ऑस्ट्रेलिया आर्थिक रणनीति रिपोर्ट भी लॉन्च की। श्री पीयूष गोयल ने कहा कि हम अपनी एफडीआई नीतियों को विदेशी निवेश के लिए अधिक सुविधाजनक, अनुकूल और सहायक बनाने के लिए लगातार प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि अंतरिक्ष, परमाणु ऊर्जा और रक्षा उत्पादन जैसे नए क्षेत्रों से भी आपसी संबंधों के लिए नये अवसर सृजित होंगे। उन्होंने कहा कि रक्षा, खेल, वस्त्र, टेक्‍सटाइल डिजाइनिंग, डिजिटल गेमिंग, एनिमेशन, जल प्रबंधन, वाणिज्यिक जहाज निर्माण, अंतरिक्ष सहयोग और शिक्षा में डिजिटल जुड़ाव जैसे उभरते हुए क्षेत्रों मेंइस व्यापार संबंध को संतुलित बनाने के लिए हमारे प्रयास बड़ा वादा करते हैं। श्री गोयल ने कहा कि हाल में किए गए श्रम सुधार,श्रम कानूनों और रोजगार में लचीलेपन के लिए नये इकोसिस्टमको भी सक्षम बनाएंगे। नए ढांचे के तहत पर्यटन जैसे क्षेत्र देश में बड़ी संख्‍या में रोजगार पैदा करेंगेऔर भारत में पर्यटन परियोजनाओं को अधिक व्यवहार्य बनाएंगे। उन्होंने कहा कि हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि भारत के किसानों को अधिक से अधिक आय प्राप्त हो,ऐसातभी संभव होगाजब हमारे कृषि उत्पादों का अधिक मूल्‍य संवर्धनहो और बाकी दुनिया के साथ हमारा बेहतर जुड़ाव हो, ताकि हम अंतर्राष्ट्रीय समुदाय की जरूरतों को पूरा कर सकें। श्री गोयल ने विशेष रूप से यह उल्लेख किया कि 3बी उद्देश्य- व्यापार के बड़े अवसर- व्यापार के बेहतर अवसरऔर संतुलित व्यापार संबंधोंसेहम अपने व्यापार संबंधों में बड़ी और व्यापक वृद्धि प्राप्‍त कर सकते हैं। उन्‍होंने कहा कि कोविड महामारी की पृष्ठभूमि मेंआर्थिक गतिविधियों को वापस लाने के बारे मेंउद्योग ने जो ध्यानदिया है, उसकेबहुत अच्छे परिणाम प्राप्‍त हो रहे हैं। अर्थव्यवस्था में काफी सुधार हो रहा है। कोविड-19 से पैदा हुए अवसर का भारत ने अपनी अर्थव्यवस्था को उदार बनाने और देश में व्यापार को आसान बनाने के लिए उपयोग किया है। आज हम सबसे अधिक खुली अर्थव्यवस्थाओं में से एक हैं। हमने लगभग सभी क्षेत्रों में 100 प्रतिशत तक स्‍वत: रूप से एफडीआई की अनुमति दी है। श्री गोयल ने कहा कि गैर-पारदर्शी और अपारदर्शी अर्थव्यवस्थाओं को अनुशासित करने सहित इनपुट आपूर्ति से जुड़े जोखिमों का प्रबंधन करनेके लिए आपूर्ति श्रृंखलाओं की विविधता बहुत महत्वपूर्ण है। ऑस्ट्रेलिया और भारत रणनीतिक मोर्चे पर,चाहे वह मालाबार युद्ध अभ्यास हो, क्‍यूयूएडी ग्रुपिंग हो, रणनीतिक क्षेत्रों में साझेदारी हो,सभी रणनीतिक मोर्चों पर घनिष्‍ठता से काम कर रहे हैं।उन्होंने कहा कि यह नजदीकी सहयोग आने वाले वर्षों में हमारी आर्थिक भागीदारी को और मजबूत बनाएगा। श्री गोयल ने उल्लेख किया कि ऑस्ट्रेलिया रणनीति रिपोर्ट जैसे प्रयास इस रणनीति रिपोर्ट को लागू करने के लिए हमें अपनी व्यापार और आर्थिक नीतियों को अनुरूप बनाने में भी मदद करेंगे। उन्होंने कहाकिहम सहयोग के नये क्षेत्रों का पता लगा सकते हैं, जिन्‍हें व्‍यापक आर्थिक भागीदारी अनुबंध के लिए हमारी बातचीत में शामिल किया जा सकेगा।