दैनिक भास्कर हिंदी: कोरोना कंट्रोल में नहीं... 17 की मौत, 70 नए संक्रमित मिले

April 7th, 2021

 हर दिन हो रही 700 लोगों की जांच, प्रशासन ने जारी किया 69 संक्रमित और 1 मौत का आंकड़ा
डिजिटल डेस्क छिंदवाड़ा।
जिले में कोरोना संक्रमण कंट्रोल में नहीं है। संक्रमण की रफ्तार लगातार बढ़ रही है। हर दिन मौतों के आंकड़े, संक्रमण की बढ़ती दर और सरकारी सहित निजी अस्पतालों में खचाखच की स्थिति से इसका अंदाजा लगाया जा सकता है। ब्लड जांच और सीटी स्कैन सेंटर्स में भी लंबी वेटिंग की स्थिति बनी हुई है। जिले में मंगलवार को एक बार फिर नए संक्रमितों का आंकड़ा 70 तक पहुंच गया है, जबकि 17 कोरोना संदिग्ध मरीजों की जान गई है। जारी आरटीपीसीआर जांच रिपोर्ट में 70 नए संक्रमित मरीज मिले हैं।  जिसमें जुन्नारदेव से 5, चौरई से 2, परासिया से 5, तामिया से 2, सौंसर से 6, पांढुर्ना से 5, जिला अस्पताल से 21 और पिंडरई से 24 लोग कोरोना से संक्रमित निकले हैं। मंगलवार को सबसे ज्यादा संक्रमित पिंडरई कला से निकले। जिले में पिंडरई कला भी कोरोना संक्रमण के लिए नया हॉट स्पॉट बनता जा रहा है।
सिर्फ एक मौत की पुष्टि, बाकी 16 का प्रोटोकॉल से हुआ अंतिम संस्कार:
जिले में मंगलवार को 17 संक्रमितों की मौत हुई है। इनमें सिर्फ एक की पुष्टि कोविड बुलेटिन के जरिए हुई है। मृतकों में सोनपुर के एक 24 वर्षीय युवक के साथ ही 83 वर्षीय बुजुर्ग पांढुर्ना से, थांवरीकला की 62 वर्षीय महिला, गुलाबरा का 58 वर्षीय व्यक्ति, पुराना नागपुर नाका निवासी 80 वर्षीय महिला, बड़वन निवासी 60 वर्षीय महिला, पांढुर्ना के 57 वर्षीय युवक, संचार कॉलोनी 58 वर्षीय व्यक्ति, गुलाबरा निवासी 80 वर्षीय पुरूष, खमारपानी का 47 वर्षीय युवक, इमलीखेड़ा निवासी एक महिला, अमरवाड़ा से 53 वर्षीय पुरूष, तमिलनाडु का एक 26 वर्षीय युवक, रावनवाड़ा की 63 वर्षीय महिला, बोहनाखेरी 65 वर्षीय पुरूष, परासिया रोड निवासी 61 वर्षीय महिला, मनियाखाना निवासी 65 वर्षीय महिला की मौत हुई है। इन सभी का अंतिम संस्कार कोरोना गाइडलाइन के माध्यम से कराया गया है।
29 लोग स्वस्थ हुए, रिपीट रिपोर्ट आई नेगेटिव
मंगलवार को सिम्स लैब से जारी जांच रिपोर्ट में पूर्व से संक्रमित 29 लोगों की कोरोना जांच रिपोर्ट नेगेटिव आई है। कोरोना संक्रमण से ठीक होने वालों का आंकड़ा प्रतिदिन संक्रमण से कम है लेकिन जो लोग कोरोना के प्रति जागरूक होकर लक्षण आते ही जांच करा रहे हैं उनके स्वास्थ्य में तेजी से सुधार हो रहा है। चिकित्सकों का भी मानना है कि लक्षण आने पर तत्काल चिकित्सकों से परामर्श लिया जाना चाहिए ताकी रोग की पहचान कर उपचार किया जा सके।
 

खबरें और भी हैं...