comScore

अब रोज लिए जाएँगे 1500 सैम्पल, सुप्राटेक लैब में ही होगी जाँच, मेडिकल नहीं भेजे जाएँगे नमूने 

अब रोज लिए जाएँगे 1500 सैम्पल, सुप्राटेक लैब में ही होगी जाँच, मेडिकल नहीं भेजे जाएँगे नमूने 

डिजिटल डेस्क जबलपुर । जिले में अब प्रतिदिन 1500 कोरोना के सैम्पल लिए जाएँगे और टेस्ट के लिए इन्हें मेडिकल या आईसीएमआर की लैब नहीं भेजा जाएगा। इन सैम्पलों की जाँच सिर्फ अहमदाबाद की सुप्राटेक लैब में ही होगी। कलेक्टर भरत यादव ने उक्त जानकारी देते हुए बताया कि मुख्यमंत्री की वीसी में जिले में सैम्पलिंग बढ़ाने के निर्देश मिले हैं, इनके तहत औसतन हर विकासखंड से 100 सैम्पल लिए जाएँगे। अभी तक जिले के सैम्पल मेडिकल कॉलेज की वायरोलॉजी लैब के साथ ही सुप्राटेक को भेजे जाते थे, लेकिन नए दूसरे जिलों में संक्रमण बढऩे की स्थिति को देखते हुए मेडिकल और आईसीएमआर में संभाग के दूसरे जिलों के सैम्पल जाँचे जाएँगे। मेडिकल कॉलेज में भर्ती या संदिग्ध मृत लोगों के सैम्पल ही वहाँ की लैब में टेस्ट हो सकेंगे। सीएमएचओ डॉ. रत्नेश कुररिया ने बताया कि पिछले कुछ दिनों से सुप्राटेक से रिपोर्ट आने में होने वाले विलम्ब में कमी आई है, अब सैम्पल भेजने के दो दिन बाद रिपोर्ट आ रही है। 
दो करोड़ का भुगतान, बढ़ा सकते थे टेस्टिंग कैपेसिटी 
पूर्व मंत्री तथा पाटन विधायक अजय विश्नोई ने बताया कि अहमदाबाद की लैब से जाँच कराए जाने का मामला समझ से परे है। सुप्राटेक लैब को जिले से अभी तक दो करोड़ रुपए का भुगतान किया जा चुका है, इतनी राशि में तो यहीं मशीनें लगाकर जाँच क्षमता कई गुना बढ़ाई जा सकती थी। उन्होंने कहा कि सैम्पलिंग बढ़ाना बेहतर है लेकिन समय पर रिपोर्ट आए इसके लिए भी अमले को सक्रिय होना होगा।

कमेंट करें
MkBDX