पाँच पेज के सुसाइड नोट में कई बार लिखा... सॉरी: वनएसटीसी के कर्नल ने की खुदकुशी

January 23rd, 2023

डिजिटल डेस्क जबलपुर। वनएसटीसी सिग्नल में पदस्थ 42 वर्षीय कर्नल निशित खन्ना ने रविवार की रात चौथा पुल से खालसा स्कूल मार्ग पर स्थित ऑफीसर्स मेस में फाँसी लगाकर आत्महत्या कर ली। कर्नल खन्ना मूलत: लखनऊ के रहने वाले थे और 25 अक्टूबर से जबलपुर के वनएसटीसी सिग्नल ट्रेनिंग सेंटर में ट्रेनी सैनिकों को प्रशिक्षण दे रहे थे। कर्नल ने मेस के कमरे में फाँसी लगाकर आत्महत्या की है। रात करीब 12 बजे घटना की जानकारी िमलने के बाद पुलिस के आला अधिकारियों के साथ सैन्य अधिकारी व पुलिस स्टाफ मौके पर पहुँचा और देर रात तक छानबीन की गई।
पुलिस को मृत कर्नल निशित खन्ना के शव के पास पाँच पन्ने मिले िजसमें कई बार सॉरी लिखा हुआ था, इसलिए िफलहाल पुलिस उन पन्नों को ही सुसाइड नोट मान रही है। हालांकि पुलिस ने कर्नल खन्ना का लैपटॉप भी जब्त कर उससे जानकारियाँ जुटाना शुरू कर िदया है। देर रात शव को मिलिट्री हॉस्पिटल की मरचुरी में रखवाया गया था। पुलिस की सूचना पर कर्नल खन्ना के परिजन सोमवार की सुबह शहर पहुँचे जिसके बाद उनके शव का मेडिकल में पीएम कराया गया और परिजन शव लेकर लखनऊ रवाना हो गए।
कैंट थाना प्रभारी अरविंद चौबे ने बताया िक ऑफीसर्स मेस के कर्मचारियों ने पूछताछ में बताया िक रविवार की रात कर्नल निशित खाना खाने के बाद अपने कमरे में चले गए और दरवाजा अंदर से बंद कर लिया। देर रात कर्नल के साथियों को अंदेशा हुआ कि उनके कमरे से किसी तरह की आवाज नहीं आ रही है। सैनिकों ने जब दरवाजे से झांककर देखा तो कर्नल फाँसी पर लटके हुए थे। सैनिकों ने तुरंत ही कर्नल को फंदे से उतारा और मिलिट्री हॉस्पिटल ले गए जहाँ डाक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। पूछताछ में ये बात भी सामने आई कि 25 अक्टूबर को जबलपुर आने के बाद से ही कर्नल ट्रेनिंग के बाद अपने कमरे में ही रहा करते थे। वे किसी से भी ज्यादा बातचीत नहीं करते थे। टीआई चौबे के अनुसार विस्तृत छानबीन के बाद ही कर्नल की आत्महत्या का कारण सामने आएगा, िफलहाल सभी पहलुओं पर जाँच की जा रही है।

 

खबरें और भी हैं...