comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

पाटील का दावा - ठाकरे सरकार के दो और मंत्रियों को देना होगा इस्तीफा

पाटील का दावा - ठाकरे सरकार के दो और मंत्रियों को देना होगा इस्तीफा

डिजिटल डेस्क, मुंबई। एंटीलिया मामले में गिरफ्तार निलंबित पुलिस अधिकारी सचिन वाझे की ओर से पत्र के जरिए प्रदेश के परिवहन मंत्री अनिल परब पर लगाए गए वसूली के आरोप के बाद राज्य की सियासत एक बार फिर से गरमा गई है। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष चंद्रकांत पाटील ने दावा किया है कि राज्य की महाविकास आघाड़ी सरकार के और दो मंत्रियों को अगले 15 दिनों में इस्तीफा देना पड़ेगा। गुरुवार को प्रदेश भाजपा कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत में पाटील ने कहा कि वाझे के आरोपों को लेकरमंत्री परब के खिलाफ थोड़े इंतजार के बादकोई अदालत में जाएगा। जिस पर अदालत यह भी फैसला दे सकती है कि पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख की सीबीआई जांच में परब का भी नाम जोड़ दीजिए। अदालत के आदेश के बाद परब को इस्तीफा देना पड़ेगा। इसके बाद और दो मंत्रियों का इस्तीफा होगा। पाटील ने कहा कि दोनों मंत्रियों का नाम मत पूछिए। उनके इस्तीफे के बाद मुझे बोलिएगा कि आपका अनुमान सही निकला। पाटील ने कहा कि किक्रेट में पहले दो बल्लेबाजों को आऊट होने में देरी लगती है। इसके बाद तो अपने आप लाइन से विकेट गिरते हैं। पाटील ने कहा कि केवल परब के इस्तीफे से काम नहीं चलेगा। यह संगठित अपराध है। इसलिए संगठित अपराध के लिए मकोका के तहत कार्रवाई होनी चाहिए। 

परब के हस्तक्षेप से नाराज थे पवार

वाझे के पत्र के बारे में भाजपा को पहले से मालूम होने के परब के आरोप पर पाटील ने कहा कि यह तो आठवीं में पढ़ने वाला बच्चा भी बता देगा। सभी को मालूम है कि परब गृह विभाग में हस्तक्षेप करते थे। परब के हस्तक्षेप को लेकर राकांपा अध्यक्ष शरद भी नाराज थे। पाटील ने कहा कि पूजा चव्हाण आत्महत्या मामले में तत्कालीन वन मंत्री संजय राठोड को इस्तीफा देना पड़ा। तत्कालीन गृह मंत्री देशमुख का इस्तीफा हुआ। अब परिवहन मंत्री परब का नाम सामने आया है। सामाजिक न्याय मंत्री धनंजय मुंडे का भाग्य अच्छा है कि वह बच गए हैं। लेकिन मुझे नहीं लगता है कि मुंडे का मामला राकांपा अध्यक्ष पवार के दिमाग से निकल गया है। 

वलसे-पाटील को बलि का बकरा बनाया गया

पाटील ने कहा कि राकांपा के वरिष्ठ नेता दिलीप वलसे-पाटील को गृह मंत्री पद की जिम्मेदारी देकर उन्हें बलि का बकरा बनाया गया है। उनकी एंजियोप्लास्टी हुई है। इसलिए गृह विभाग में आने वाली चुनौतियों से वह कैसे निपटेंगे। पाटील ने कहा कि गृहमंत्रीवलसे-पाटील ने कहा है कि गृह विभाग में आरएसएस की विचारधारा वालेअधिकारियों को खोजा जाएगा। लेकिन मेरा सवाल है कि आरएसएस आंतकवादी संगठन है क्या? पाटील ने कहा कि गृह मंत्रीअपनी राजनीतिक जरूरत के लिए आरएसएस के नाम का इस्तेमाल न करे।

नियति और परमेश्वर भी बदला लेते हैं- मुश्रीफ

प्रदेश के ग्रामीण विकास मंत्री हसन मुश्रीफ ने कहा कि भाजपा नेवाझे से परब के खिलाफ पत्र लिखवाया है।मुश्रीफ ने कहा कि मुझे बहुत दुख हुआ कि परब को अपनी दो प्राण प्रिय बेटियों की शपथ लेकर कहना पड़ा कि वाझे का आरोप छूठा है। उन्होंने कहा कि भाजपा के नेता यह याद रखें कि नियति और परमेश्वर भी बदला लेते हैं। मुझे नियति और परमेश्वर पर विश्वास है। मुश्रीफ ने कहा कि सरकार को बदनाम करने के लिए मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह और वाझे से पत्र लिखवाया गया है। पत्रकार अर्णव गोस्वामी मामले में सिंह और वाझे भाजपा के रडार पर थे। लेकिन अब दोनों भाजपा के प्यारे और दुलारे बन गए हैं। 

जेल में और लोग हैं, उनसे भी बहुत कुछ लिखाया जा सकता हैः राऊत

शिवसेना सांसद संजय राऊत ने कहा किविपक्ष को यह स्पष्ट करना चाहिए कि परब के खिलाफ पत्र लिखने वाला वाझे कितना प्रतिष्ठित और संत महात्मा है। राऊत ने कहा कि अगर जेल में बंद व्यक्ति से पत्र लिखवाकर सरकार की बदनामी की जाएगी तो जेल में और भी लोग हैं उनसे भी बहुत कुछ लिखवाया जा सकता है। राऊत ने कहा कि परब अपने बचाव के लिए शिवसेना प्रमुख दिवगंत बालासाहब ठाकरे की झूठी कसम नहीं खाएंगे। 

कमेंट करें
jtRDZ