comScore

 फेडको से 29 करोड़ की पैनाल्टी वसूली बनी गले की फांस -छह माह बाद हाथ आएंगे सुरक्षा निधि के 3.67 करोड़

 फेडको से 29 करोड़ की पैनाल्टी वसूली बनी गले की फांस -छह माह बाद हाथ आएंगे सुरक्षा निधि के 3.67 करोड़

डिजिटल डेस्क कटनी । मप्र पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी कटनी वृत्त ने मीटर रीडिंग, बिजली बिल वितरण के लिए फेडको कंपनी (मे.फीडबैक एनर्जी डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी लिमिटेड गुडग़ांव)  को तीन साल के लिए कार्य सौंपा था वह दो साल में ही डिफाल्टर हो गई।  अब इस कंपनी से 29 करोड़ की पैनाल्टी वसूलना विद्युत वितरण कंपनी के गले की फांस बन गई है। यदि छह माह के भीतर पैनाल्टी की राशि नहीं वसूल पाए तो विद्युत वितरण कंपनी के हाथ में 29 करोड़ के बदले  सुरक्षा निधि तीन करोड़, 67 लाख रुपये ही हाथ आएंगे। इस बात का खुलासा  विभाग के कार्यपालन अभियंता द्वारा सीएम हेल्पलाइन में की गई शिकायत पर दिए जवाब में हुआ है। अधिकारियों के जवाब से ही स्पष्ट है कि फेडको कंपनी पर लगाई पैनाल्टी वसूलना आसान नहीं है। इतना ही नहीं सुरक्षा निधि की रकम भी मई 2020 के बाद ही मिल पाएगी।
लापरवाही की खुली पोल
उल्लेखनीय है कि आरटीआई एक्टिविस्ट राजेश भास्कर ने फेडको कंपनी की कारगुजारी एवं विद्युत अधिकारियों द्वारा कंपनी पर कार्यवाही में हीलाहवाली का आरोप लगाया है। सीएम हेल्पलाइन शिकायत क्रमांक 9394030 ने विद्युत वितरण कंपनी में उपभोक्ताओं के साथ किए जा रहे छलावे को भी उजागर किया है। कार्यपालन अभियंता सांचा/ संधा ने  पत्र कमांक 1981 दिनक 11/11/19 के माध्यम से इस शिकायत का जवाब प्रस्तुत किया है। कार्यपालन अभियंता के पत्र के अनुसार मेसर्स फीडबैक एनर्जी डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी लिमिटेड गुडग़ांव को आदेश क्रमांक एसई/ ओ एंड एम/ केटीएन/ पीयूआर/ टीएस-708/ 21525/ 102, दिनांक  कंजमक 09/ 04/ 17 के द्वारा 03 वर्षों के लिए अनुबंधित किया गया था।  कंपनी द्वारा माह अगस्त.2017 से कार्य प्रारम्भ किया गया था।
एक साल बाद ही टेंडर टर्मिनेट
कार्यापालन अभियंता के जवाब के अनुसार सेवा में कमी के कारण को टेंडर अधीक्षण अभियंता ने टेंडर की शर्तों के अनुसार 25/8/2018 को जारी आदेश में फेडको कंपनी को टर्मिनेट कर दिया था। टर्मिनेशन के बाद कंपनी पर शास्ति की राशि 29.54 करोड़ रुपये है। फेडको कंपनी से इस राशि को वसूलने की प्रक्रिया कंपनी स्तर पर चल रही है । उक्त कंपनी वर्तमान में शहर संभाग जबलपुर एवं दमोह में कार्यरत है जिससे उक्त रुपए 2954 करोड़ की राशि का समायोजन किये जाने हेतु सम्बंधित कंपनी के देयको से प्रक्रिया लंबित है तथा सुरक्षा निधि 36762000 रुपये की बैंक गारंटी की राशि लौटाई नहीं गई है। जिसकी वैधता दिनांक 17.05.2020 है। वैधता के बाद उक्त राशि का समायोजन कर बैंक गारंटी चुकाने की प्रक्रिया की जाएगी।
इनका कहना है
  फेडको कंपनी से पैनाल्टी की राशि की वसूली की प्रक्रिया विद्युत वितरण कंपनी स्तर पर की जा रही है। बैंक गारंटी की राशि की अवधि 17 मई 2020 को
पूरी होने पर समायोजन की कार्यवाही की जाएगी।
- नीरज कुचिया, कार्यपालन अभियंता विवि कंपनी कटनी
 

कमेंट करें
PuT1A