दैनिक भास्कर हिंदी: एक्टर सुशांत को ड्रग्ज देने वाला पिठानी गिरफ्तार, एनसीबी ने हैदाराबाद से पकड़ा 

May 28th, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई। नार्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के साथ रहने वाले सिद्धार्थ पिठानी को गिरफ्तार किया है। पिठानी पर ड्रग्स खरीदकर उसे अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत तक पहुंचाने का आरोप है। पिठानी को हैदराबाद में गिरफ्तार कर ट्रांजिट रिमांड पर मुंबई लाया गया। यहां शुक्रवार को कोर्ट में पेशी के बाद उसे एक जून तक एनसीबी हिरासत में भेज दिया गया है। कोर्ट में पेशी के दौरान एनसीबी ने दावा किया कि उसके पास पिठानी के ड्रग्स माफिया से जुड़े होने के पुख्ता सबूत हैं। उसने कई बार ड्रग पेडलर्स से बातचीत की है जिसके सबूत जांच एजेंसी के पास हैं। एनसीबी ने अदालत में कहा कि आरोपी से इस मामले में और पूछताछ की जानी है जिसके लिए उसे हिरासत में भेजे जाने की जरूरत है। 

एनसीबी के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेडे ने बताया कि पिठानी को तीन बार समन भेज कर पूछताछ के लिए  हाजिर रहने को कहा गया था लेकिन वह सवालों के जवाब देने हाजिर नहीं हुआ। इसके बाद उसे फरार घोषित कर दिया गया था। एनसीबी को उसके हैदराबाद में होने की भनक लगी जिसके बाद 26 मई को एनसीबी की टीम वहां पहुंची और उसे गिरफ्तार कर लिया। उसे एनडीपीएस कानून की धारा 27ए, 28, 29 के तहत गिरफ्तार किया गया है। पिठानी अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत का दोस्त था और उनकेे साथ ही उनके बांद्रा स्थित घर में रहता था जहां पिछले साल 14 जून को अभिनेता का संदिग्ध परिस्थितियों  में शव मिला था। शव सबसे पहले देखने वालों में पिठीनी भी शामिल था। उससे केंद्रीय जांच ब्यूरो,  प्रवर्तन निदेशालय और एनसीबी पहले भी पूछताछ कर चुकीं हैं। इस मामले में पिठानी गिरफ्तार किया जाने वाला 35वां आरोपी है। इस मामले में एनसीबी अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती और उसके भाई शोविक चक्रवर्ती समेत कई आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है जो फिलहाल जमानत पर हैं।

कुछ दिनों पहले हुई है सगाई

मूल से से तेलंगाना के हैदराबाद के रहने वाले सिद्धार्थ पिठानी की पिछले सप्ताह ही सगाई हुई है। जिसकी तस्वीरें उसने सोशल मीडिया पर साझा की थीं। वह एक ग्राफिक डिजाइन एजेंसी में क्रिएटिव डायरेक्टर के तौर पर काम करता था, इसी दौरान वह राजपूत के संपर्क में आया। वह अप्रैल 2019 से राजपूत के साथ रहने लगा और उनके प्रोजेक्ट ड्रीम 150 पर काम करने लगा।