दैनिक भास्कर हिंदी: रक्षाबंधन मनाने के लिए चोरी की ; भागकर मुंबई गए, सविल लाईन पुलिस ने किया गिरफ्तार

August 24th, 2018

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। सिविल लाइन थाना क्षेत्र स्थित छुई खदान में 11 अगस्त को हुई मिठाई की फैक्ट्री में चोरी के मामले का पुलिस ने रोचक खुलासा किया है। चोरी करने वाले कोई और नहीं बल्कि फैक्ट्री में काम करने वाले दो कर्मचारी थे, जिन्होंने अपने दो साथियों के साथ मिलकर वारदात को अंजाम दिया था और चोरी के पैसों को लेकर दो आरोपी मुंबई घूमने पहुंच गए थे। आरोपियों को सिविल लाइन पुलिस की सूचना पर कोलाबा पुलिस ने पकड़ लिया गया था। आरोपियों को महाराष्ट्र पुलिस एक्ट के तहत जेल भेज दिया गया था, जहां एक सप्ताह बाद जैसे ही आरोपी रिहा हुए उन्हें सिविल लाइन पुलिस ने गिरफ्तार किया और शहर लेकर लौटी।

आरोपियों ने रक्षाबंधन त्यौहार मनाने के लिए योजना बनाकर वारदात को अंजाम दिया था। सिविल लाइन थाना प्रभारी घनश्याम मर्सकोले ने बताया कि पटेल नगर सुहागी निवासी विनोद सिंह श्रेष्ठ की छुई खदान में मिठाई की फैक्ट्री है। 10-11 अगस्त की दरमियानी रात अज्ञात चोरों ने सीमेंट की शीट हटाकर फैक्ट्री के काउंटर में रखे 18 हजार रुपए चुरा लिए थे।

CCTV कैमरे ने खोला राज
पुलिस ने फैक्ट्री में लगे CCTV कैमरों को चैक किया तो पता चला कि चोरी करने वाले कंपनी के कर्मचारी राजेश गौतम और वीरेन्द्र वासुदेव नजर आए। पकड़े जाने पर राजेश और वीरेन्द्र ने बताया कि उन्हें जानकारी थी कि फैक्ट्री के कैमरे खराब हैं, इसलिए उन्होंने चोरी का प्लान बनाया था, लेकिन फैक्ट्री मालिक विनोद श्रेष्ठ ने 10 अगस्त की शाम ही कैमरों को सुधरवा लिया था। जिसकी जानकारी राजेश और वीरेन्द्र को नहीं लग पाई थी।

चुराने गए थे लैपटाप, मिल गया कैश
राजेश और वीरेन्द्र ने प्लान बनाया था कि काउंटर के पास रखा लैपटाप, कम्प्यूटर और अन्य इलेक्ट्रॉनिक्स आइटम्स चुराएंगे, अंदर पहुंचने के बाद सामान बोरी में बांध भी लिया था, लेकिन इसी दौरान राजेश ने काउंटर का ड्रॉज खोला तो उन्हें 18 हजार रुपए नकद मिल गए, जिससे वे लोग बंधी बोरी छोड़कर चले गए थे। राजेश ने वीरेन्द्र को साढ़े तीन हजार और अन्य दो साथियों को डेढ़-डेढ़ हजार रुपए बांटे और खुद 12 हजार रख लिए। राजेश का मोबाइल मुंबई के कोलाबा में मिला, सिविल लाइन पुलिस की सूचना पर कोलाबा पुलिस ने राजेश के साथ वीरेन्द्र को पकड़कर जेल भेज दिया। जिन्हें सिविल लाइन जबलपुर लेकर लौटी है, अन्य दो आरोपियों की भी तलाश की जा रही है।

खबरें और भी हैं...