comScore

पुलिस के हत्थे चढ़ा 15 हजार का इनामी डाकू 

पुलिस के हत्थे चढ़ा 15 हजार का इनामी डाकू 

डिजिटल डेस्क सतना। लंबे अर्से से फरार 15 हजार के एक इनामी डकैत शिवमूरत पिता रामगुलाम कोल (32) को मझगवां पुलिस ने मिचकुरिन के जंगल से शनिवार की दोपहर घेराबंदी करके गिरफ्तार लिया। इनामी दस्यु उत्तर प्रदेश के मारकुंडी थाना क्षेत्र के बगरहा गांव का रहने वाला है। उसे मुखबिर की पक्की खबर पर उस वक्त पकड़ा गया जब वो कानपुर से लौट कर अपने गांव जा रहा था। 
 दर्ज हैं 7 संगीन अपराध 
 पुलिस अधीक्षक रियाज इकबाल ने बताया कि गिरफ्तार किए गए इनामी डाकू शिवमूरत कोल के खिलाफ एमपी-यूपी में 7 अपराध दर्ज हैं। इसकी गिरफ्तारी के लिए अदालत से फरारी का स्थाई वारंट भी था। दस्यु के विरुद्ध सतना जिले के धारकुंडी थाने में 2, मझगवां में 2  और जैतवारा थाने में एक  तथा उत्तर प्रदेश के मानिकपुर थाने में 2 संगीन जुर्म कायम हैं। वर्ष 2012 से ये इनामी डकैत बलखडिय़ा गैंग के साथ रह कर अपहरण, लूट, डकैती और रंगदारी जैसे अपराधों को अंजाम देता था। इसके बाद शिवमूरत बबुली गिरोह में शामिल हो गया और गैंग टूटने के बाद कानपुर भाग गया था। कभी-कभी गांव आने की खबर पर मुखबिरों को सक्रिय किया गया और शनिवार को दोपहर 3 बजे मिचकुरिन के जंगल में उसे घेराबंदी करके गिरफ्तार कर लिया गया।  
 इन्होंने निभाई अहम भूमिका 
15 हजार के एक इनामी डकैत शिवमूरत पिता रामगुलाम कोल (32) निवासी बगरहा (यूपी) की गिरफ्तारी में मझगवां के थाना प्रभारी ओपी सिंह, एएसआई चक्रधर प्रजापति, आरक्षक अंकित आर्मो, रण विजय कुमार, राजेश यादव ,प्रदीप कुमार और सीतराम रावत ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। एसपी ने बताया कि तराई में डकैतों के सफाए का अभियान जारी है।  
 

कमेंट करें
3wGp9