दैनिक भास्कर हिंदी: साढ़े 5 लाख के इनामी डकैत बबुली को पुलिस ने घेरा, गोलियों से गूंजा लेदरी पहाड़

December 21st, 2018

डिजिटल डेस्क, सतना। तराई से दुर्दांत डकैत बबुली कोल का सफाया करने के लिए छेड़े गए अभियान के तहत पुलिस टीम ने मझगवां थाना प्रभारी ओपी सिंह की अगुवाई में  मझगवां से लेदरी पहाड़ तक सघन सर्चिंग की। इस दौरान डकैतों ने फायरिंग भी की किंतु पुलिस से काफी दूरी होने के कारण वे भागने में सफल रहे। कई किलोमीटर तक दुर्गम रास्ते पर चलने के बाद जब सशस्त्र जवान पहाड़ी पर पहुंचे तो एक पेड़ के नीचे डकैतों का ठिकाना मिल गया, जहां चूल्हे की राख गर्म थी तो खाना बनाने का सामान और बची हुई पूड़ी-सब्जी भी पड़ी थी। मौके पर एक थाली भी मिली। जब पुलिस टीम मौका मुआयना कर रही थी, तभी एक किलोमीटर दूर यूपी के इलाके में फायरिंग की आवाज सुनाई दी, जिससे जवान अलर्ट हो गए और कुछ दूर तक आगे भी गए, लेकिन कोई नहीं दिखा तो वापस आ गए।

इस सम्बंध में जब मारकुण्डी पुलिस से सम्पर्क किया गया तो उन्होंने मुठभेड़ होने से इंकार कर दिया। ऐसे में माना जा रहा है कि साढ़े 5 लाख के इनामी बबुली कोल और उसके साथियों ने भागते समय दहशत फैलाने के लिए हवाई फायरिंग की। डकैतों व पुलिस के बीच चल रहे इस चूहा बिल्ली के खेल में पुलिस को विश्वास है कि वह शीघ्र ही डकैतों को दबोच लेगी या उन्हें उनके अंतिम अंजाम तक पहुंचा देगी।

उधर यूपी पुलिस ने की सर्चिंग
दूसरी तरफ कर्बी एसपी मनोज झा ने दलबल के साथ मारकुण्डी थाना क्षेत्र के बम्बिया और जमुनिहाई जंगल में सघन सर्चिंग कर डकैत बबुली कोल के ठिकानों को खंगाला। हालांकि गिरोह का पता नहीं चला, पर पुलिस के हाथ अहम जानकारियां लगी हैं। उधर मानिकपुर और बहिलपुरवा के क्षेत्र में भी डीआईजी मनोज तिवारी के निर्देश पर काम्बिंग की जा रही है। इस अभियान में एसपी के साथ मानिकपुर थाना प्रभारी केशव प्रसाद दुबे, मारकुण्डी थाना प्रभारी रावेन्द्र तिवारी और बहिलपुरवा थाना प्रभारी मो. अकरम शामिल रहे।