बकाया बिल और सुरक्षा निधि के भुगतान के लिए मांगी थी रिश्वत: 30 हजार की रिश्वत लेते पकड़ाया पीआईयू का प्रभारी परियोजना यंत्री

July 15th, 2022

डिजिटल डेस्क,सिवनी। जबलपुर लोकायुक्त की टीम ने शुक्रवार की दोपहर लोक निर्माण विभाग सिवनी की पीआईयू शाखा के प्रभारी परियोजना यंत्री आनंद गोल्हानी को 30 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा। यह कार्रवाई सर्किट हाऊस के सामने चौराहे पर की गई। गोल्हानी के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है। लोकायुक्त डीएसपी दिलीप झरवड़े ने बताया कि सिवनी जिले के बांकी ग्राम के रहने वाले ठेकेदार संतोष बघेल ने लखनादौन उपजेल में वर्ष 2020 में बैरक निर्माण का ठेका लिया था। काम पूरा होने के बाद वह बकाया शेष बिल और सुरक्षा निधि के करीब पांच लाख रूपए के भुगतार के लिए पीआईयू शाखा में बार-बार आग्रह कर रहा था। भुगतान करने के लिए गोल्हानी 70 हजार रुपए मांग रहे थे और पहली किश्त 30 हजार में देने को कहा। इस मामले को लेकर बघेल ने बुधवार को लोकायुक्त से शिकायत कर दी, जिसके बाद लोकायुक्त ने गुरूवार को बातचीत की रिकॉर्डिंग कराई। शुक्रवार को लोकायुक्त की टीम पूरी तैयारी के साथ सिवनी पहुंची और दोपहर पौने 3 बजे के लगभग जैसे ही गोल्हानी सर्किट हाऊस के पास कार से पहुंचे और 30 हजार रुपए रिश्वत ली तभी लोकायुक्त टीम ने उन्हें दबोच लिया। डीएसपी झरवड़े ने बताया कि मामला दर्ज कर लिया गया है। विभाग को पत्र भेजा जाएगा। विभागीय जांच जारी रहेगी। इस कार्रवाई में निरीक्षक स्वप्निल दास, मंजू किरण तिर्की और अन्य स्टाफ मौजूद रहा।