comScore

36 गांवों के लोगों की शीघ्र बुझेगी प्यास - 55 करोड़ की लागत से जल प्रदाय योजना तैयार

36 गांवों के लोगों की शीघ्र बुझेगी प्यास - 55 करोड़ की लागत से जल प्रदाय योजना तैयार

डिजिटल डेस्क  शहडोल । गोहपारू में इस वर्ष पेयजल की किल्लत नहीं होगी। गोहपारू नगर सहित आसपास के 36 गांवों के लिए 55 करोड़ की लागत से जल निगम की समूह जल प्रदाय योजना तैयार हो रही है। सोन नदी से पानी लिफ्ट कर 10 हजार घरों तक पहुंचाया जाएगा। योजना का 65 फीसदी से अधिक काम पूरा हो गया है। विभाग की ऐसी तैयारी है कि आगामी बारिश के मौमस से लोगों को इसका लाभ मिलने लगे।  
योजना के तहत दिया पीपर के पास सोन नदी में बांध बनाकर पानी रोका जाएगा। यहां से पानी लिफ्ट कर सोना टोला में बने वाटर ट्रीटमेंट प्लांट तक लाया जाएगा। इसके बाद पाइपलाइन के जरिए घरों तक सप्लाई किया जाएगा। नदी में इंटेक वेल का काम चल रहा है। इसके बाद गांवों तक पाइपलाइन बिछाने का काम पूरा हो गया है। वहीं गोहपारू व आसपास के गांवों में 19 ओवर हेड टैंक बनाए गए हैं। टैंक का काम 90 फीसदी तक पूरा हो गया है। गांवों में डिस्ट्रिब्यूशन लाइन बिछनी है। गुजरात का कांटै्रक्टर इस काम को कर रहा है। प्रोजेक्ट शुरू होने के बाद आगामी 10 वर्षों तक कांट्रैक्टर ही वाटर सप्लाई और इसके मेंटेनेंस का काम भी देखेगा। इस समूह जल प्रदाय योजना से गोहपारू नगर सहित आसपास के 36 गांवों में 10 हजार कनेक्शन दिए जाएंगे। 
5.5 एमएलडी का ट्रीटमेंट प्लांट
सोन टोला में बनाए जा रहे वॉटर ट्रीटमेंट प्लांट की क्षमता 5.5 मिलियन लीटर प्रतिदिन (एमएलडी) रहेगी। यानि एक दिन में 5.5 मिलियन लीटर पानी ट्रीटमेंट करके पाइपलाइन के द्वारा लोगों के घरों में सप्लाई किया जाएगा। योजना के तहत बारिश के 4 महीने नदी का पानी डायरेक्ट ट्रीटमेंट प्लांट तक पंप के माध्यम से लाया जाएगा। जबकि आठ महीने तक जो पानी रोक जाएगा, उसको इंटक वेल से पंप के माध्यम से लिफ्ट किया जाएगा। 
डेढ़ वर्ष है प्रोजेक्ट की अवधि
यह पूरा प्रोजेक्ट डेढ़ वर्ष का है, जिसके मार्च-अप्रैल तक पूरा होने की उम्मीद है। चूंकि मार्च-अप्रैल तक नदी में पानी का बहाव काफी कम जो जाता है, इसलिए लोगों को इसका लाभ बारिश के मौसम से मिलने की उम्मीद है। इसके बाद रोजाना एक बार पानी की सप्लाई घरों में की जाएगी। संभाग में जल निगम का यह दूसरा बड़ा प्रोजेक्ट है। पहले अनूपपुर जिले में पुष्पराजगढ़ के 51 गांवों के लिए किरगी जल प्रदाय योजना शुरू की गई है। 
योजना में शामिल गांव
गोहपारू समूह जल प्रदाय योजना के अंतर्गत ग्राम बेलहा, सकरिया, बोचकी, गोड़ारू, पैलवाह, देवरी, करूआ, देवदहा, अमझोर, गोहपारू, मोहतरा, बुढऩवाह, सुडवार, खोलका, रामपुर, दियापीपर, कर्री, सालबहरा, हर्रा टोला, सोन टोला, सिलपरी, बरमनिया, बरेली, असवारी, बहेरहा, खमहा, कठौतिया, मझौली, ओड़की, सगरा, डोंगरीटोला, लेदरा, पटोरी, चंदेला, कुदराटोला और खैरवना गांव शामिल हैं। यहां घर-घर कनेक्शन दिए जाएंगे। गांवों तक पानी पहुंचाने का काम ठेकेदार का रहेगा, जबकि गांवों के अंदर की जिम्मेदारी ग्राम पंचायत की पेयजल समिति देखेगी। नल कनेक्शन के रेट भी पेयजल समिति ही देखेगी। 
इनका कहना है
 गोहपारू समूह जल प्रदाय योजना का 65 फीसदी से अधिक काम पूरा हो गया है। टंकियों का काम अंतिम चरण में है। इसके मार्च-अप्रैल तक पूरा होने की उम्मीद है। 36 गांवों को लाभ मिलेगा। 
-अनंत शर्मा, जीएम, जल निगम

कमेंट करें
ZpOVI