पीएम आवास में गफलतबाजी, पहले बनने दिया, फिर चलाया बुल्डोजर: तहसील कार्यालय के सामने समर्थकों के साथ रीठी जनपद अध्यक्ष ने दिया धरना

September 29th, 2022

डिजिटल डेस्क,कटनी। जनपद पंचायत रीठी के सिमड़ारी गांव में प्रधानमंत्री आवास योजना में अफसरों की बड़ी गफलतबाजी सामने आई है। आवासहीन को तो पहले पीएम आवास योजना से पक्का आवास अफसरों ने बनने दिया, फिर बाद में शिकवा-शिकायत होने पर शासकीय भूमि में आवास होने का हवाला देते हुए उस पर बुधवार को बुल्डोजर चलवा दिया। जिसकी जानकारी लगने पर जनपद अध्यक्ष अर्पित अनुरोध अवस्थी तहसील कार्यालय के सामने ही अपने समर्थकों के साथ धरने पर बैठ गए।

अध्यक्ष के धरने पर बैठने की जानकारी लगने पर राजस्व अमला पहुंचकर हितग्राही को पट्टा देने की बात कहता रहा, लेकिन मकान के बनने से लेकर

उसे तोडऩे का कोई तर्क नहीं रहा। इस संबंध में जनपद अध्यक्ष ने बताया कि कुछ अधिकारी और कर्मचारी जानबूझकर प्रदेश शासन की छवि को धूमिल कर रहे हैं। एक तरफ केन्द्र और प्रदेश की सरकार बगैर किसी भेदभाव के जरुरतमंदों को सभी योजनाओं का लाभ दे रही है तो दूसरी तरफ इस तरह का कृत्य करते हुए अधिकारी आम लोगों के बीच में गलत संदेश देने का काम कर रहे हैं। मझगंवा में पात्र का हटाया नाम, एसडीएम से शिकायत बहोरीबंद के ग्राम पंचायत मझगंवा में भी मनमानी का मामला सामने आया है।

एसडीएम को दिए गए आवेदन पत्र में मूलचंद यादव ने आरोप लगाया है कि सूची में नाम होने के बावजूद अभी तक उसे पीएम आवास का लाभ नहीं मिला है। सूची में 49 हितग्राहियों में से मुझे ही बाहर का रास्ता दिखा दिया गया है।

सूची से नाम अलग करने का कारण पूछा तो बताया गया कि उसके पास पांच हेक्टेयर भूमि है, जबकि राजस्व रिकार्ड में उसके पास कोई भूमि नहीं है। ग्राम पंचायत और जनपद पंचायत के अधिकारियों से पांच हेक्टेयर जमीन की जांच कराई जाए।