comScore

 रिश्वत लेने के आरोप में आरईएस का सब इंजीनियर गिरफ्तार , लोकायुक्त की कार्रवाई

 रिश्वत लेने के आरोप में आरईएस का सब इंजीनियर गिरफ्तार , लोकायुक्त की कार्रवाई

डिजिटल डेस्क, सतना। लोकायुक्त ने गुरुवार को रिश्वत लेने के आरोप में ग्रामीण यांत्रिकी सेवा के सब इंजीनियर राजकुमार पांडेय को गिरफ्तार किया। इस आरोपी के साथ ही एक अन्य को भी पकड़ा गया जो एक मेडिकल स्टोर का कर्मचारी है और उसी ने ही 15 हजार रुपए की रकम ली थी। जानकारी के मुताबिक सब इंजीनियर ने शिकायतकर्ता पवन कुमार पांडेय के खेत में मेड़ बंधान का मस्टर रोल जारी करने के एवज में मांगी थी। 20 हजार की रिश्वत शिकायतकर्ता और आरोपी की आपसी सहमति से 15 हजार रुपए पर तय हुई थी। कार्रवाई लोकायुक्त डीएसपी बीके पटेल के नेतृत्व में 20 सदस्यीय टीम ने किया।

आरोपी तक ऐसे पहुंची टीम

लोकायुक्त के मुताबिक शिकायतकर्ता पवन कुमार पांडेय पतेरी स्थित ऋतुराज मेडिकल स्टोर के सेल्समैन राहुल विश्वकर्मा पिता प्रहलाद विश्वकर्मा निवासी नागौद से गुरुवार को मिला, जहां आरोपी उपलब्ध नहीं था। आरोपी उपयंत्री से फोन पर संपर्क किया गया जिस पर उसने दुकान में काम करने वाले सेल्समैन राहुल विश्वकर्मा को रिश्वत की रकम देने की बात कही। आरोपी राजकुमार पांडेय के कहे अनुसार शिकायतकर्ता पवन कुमार पांडेय ने रिश्वत की रकम 15 हजार रुपए राहुल विश्वकर्मा के हाथों सौंप दी, जिसे रंगे हाथ गिरफ्तार किया गया। 

मकान की नापजोख

पूरी टीम ने लोकायुक्त एसपी राजेन्द्र कुमार वर्मा की रणनीति पर काम किया। आरोपी राजकुमार पांडेय की मोबाइल पर लोकेशन को ट्रेस करके गिरफ्तार किया गया। घर से लोकायुक्त ने 2 लाख 81 हजार रुपए बरामद किए। आरोपी सब इंजीनियर के आलीशान बंगले को देखकर लोकायुक्त की टीम की आंखें फटी की फटी रह गईं लिहाजा आय से अधिक सम्पत्ति अर्जित करने का भी मामला भी खुल सकता है। बहरहाल, लोकायुक्त ने पूरे बंगले की नापजोख करते हुए सामानों और गाडिय़ों की सूची तैयार कर ली है। टीम में निरीक्षक हितेन्द्र नाथ शर्मा एवं विद्यावारिधि तिवारी की भूमिका सराहनीय रही। 

1 लाख के मुचलके पर सशर्त बेल

नौकर के माध्यम से 15 हजार की रिश्वत लेते पकड़े गए सब इंजीनियर और उनके मेडिकल स्टोर के नौकर राहुल विश्वकर्मा को विशेष अदालत ने सशर्त जमानत दी है। न्यायाधीश रविन्द्र सिंह चुंडावत की अदालत ने स्पष्ट किया है कि आरोपी आवाज का नमूना देंगे और सम्पत्ति का विवरण पेश करेंगे। आदेश के बाद आरोपियों की ओर से एक लाख की जमानत और बंध पत्र पेश किए जाने पर अदालत ने आरोपियों को रिहा कर प्रकरण को 11 जुलाई को चालान पेश करने के लिए नियत किया है। देर शाम लोकायुक्त के डीएसपी वीके पटेल ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया था। लोकायुक्त की ओर से एडीपीओ वीएन शर्मा ने बताया था कि आरोपी आवाज का नमूना देने से इंकार का जांच में सहयोग नहीं कर रहे हैं।
 

कमेंट करें
zrywb