comScore

 रिटायर फौजी ने दुष्कर्म के बाद की थी अपनी ही नाबलिक बेटी की हत्या -डीएनए टेस्ट से सनसनीखेज खुलासा

 रिटायर फौजी ने दुष्कर्म के बाद की थी अपनी ही नाबलिक बेटी की हत्या -डीएनए टेस्ट से सनसनीखेज खुलासा

डिजिटलन डेस्क सतना। जिले की उचेहरा पुलिस ने 3 साल पहले हुई 16 साल ही एक नाबालिग बालिका की उसी के घर में रहस्यमयी मृत्यु के मामले में एक बड़ा खुलासा करते हुए बालिका से दुष्कर्म और फिर उसकी हत्या के आरोप में मृतिका के कलयुगी बाप हीरामन सिंह को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी आर्मी से रिटायर है। पुलिस अधीक्षक रियाज इकबाल ने बताया कि डीएनए टेस्ट की पाजिटिव रिपोर्ट के बाद गिरफ्तारी की गई। आरोपी ने अपना अपराध स्वीकार कर लिया है। अदालत ने उसे आईपीसी की धारा- 376,302, 201 और पास्को एक्ट के तहत जेल भेज दिया है। 
पुलिस को गुमराह करने गढ़ी कहानी
एसपी ने बताया कि उचेहरा थाना क्षेत्र के  गोबरांव खुर्द  निवासी हीरामन सिंह पिता लल्ला सिंह (50) ने वर्ष 2018 की 19 मई को थाने आकर इस आशय की सूचना दी थी कि वह ताश खेलने के लिए गांव में दोस्तों के पास गया हुआ था। पत्नी सतना गई हुई थी। घर में 16 साल की बेटी अकेली थी। जब वह घर पहुंचा तो उसने देखा की बेटी घर के गलियारे में चादर ओढ़ कर सो रही है। आवाज देने पर जब वह नहीं उठी तो उसने चादर हटा कर देखा तो बेटी नग्न अवस्था में मृत पड़ी थी। पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच शुरु की। मृतिका से दुष्कर्म के शक पर पुलिस ने उसके बेजाइनल स्लाइड रासायनिक परीक्षण के लिए सागर लैब भेजा,
25 जुलाई 2018 को को रिपोर्ट में रेप की पुष्टि के बाद उचेहरा थाने में अज्ञात आरोपी के खिलाफ नाबालिक से दुष्कर्म और उसकी हत्या का अपराध कायम करते हुए पड़ताल शुरु की। 
 2 संदेहियों की रिपोर्ट आई निगेटिव 
पुलिस ने शक के आरोप में 2 संदेहियों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरु की और डीएनए टेस्ट के लिए उनके ब्लड सेंपल कराए मगर दोनों संदेहियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। 
ऐसे हुआ शक 
 उचेहरा पुलिस ने गांव में मुखबिर छोड़ रखे थे। घर में दुष्कर्म और हत्या की वारदात होने के कारण पुलिस का शक करीबियों पर गया। इसी बीच मुखबिर से पता चला कि फौज में 26 साल की नौकरी करने के बाद वर्ष 2015 में रिटायर होकर आए मृतिका के पिता हीरामन सिंह का चरित्र ठीक नहीं है। वह  शराबी भी है। पुलिस ने उससे पूछताछ की लेकिन वह घुमाता रहा अंतत: एसपी रियाज इकबाल के निर्देश पर हीरामन का भी डीएनए टेस्ट कराया गया। 20 जुलाई को पुलिस को मिली रिपोर्ट सनसनीखेज थी। इस पॉजिटिव रिपोर्ट के अलावा मृतिका के शरीर और उसके अंन्त:वस्त्रों में पाए गए मानव शुक्राणु किसी और नहीं बल्कि उसके ही पापी पिता हीरामन सिंह के थे।  
 हुई गिरफ्तारी :————
इधर, पुलिस की पड़ताल चल ही रही थी उधर हीरामन सिंह वर्ष 2019 में गांव छोड़कर सतना आ गया और यहां डालीबाबा चौराहे में किराने की एक दुकान चलाने लगा। अपनी ही बेटी से दुष्कर्म और हत्या में पिता की भूमिका की पुष्टि होने पर उसकी गिरफ्तारी की योजना बनी। एडीशनल एसपी गौतम सोलंकी के नेतृत्व में टीम का गठन किया गया और डालीबाबा चौक इलाके में  घर पर दबिश देकर उसे गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपी में पुलिस को बताया कि वह वारदात के दिन शराब के नशे में था। बेटी घर पर अकेली थी। उसने दुष्कर्म की बात सभी को बताने की धमकी दी तो हीरामन ने चादर से उसका मुंह नाक और गला दबा कर उसकी हत्या कर दी थी।   

कमेंट करें
AGZ7w