दैनिक भास्कर हिंदी: सांस्कृतिक मांझे से RSS उड़ा रही सियासत की पतंग, गली-गली पेंच लड़ाएंगे स्वयंसेवक

January 14th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ मतदाताओं से संपर्क का व्यापक अभियान शुरु कर रहा है। इस अभियान के तहत मंगलवार से पतंग उत्सव पर बस्ती बस्ती पर संपर्क किया जाएगा। शहर में करीब 275 बस्तियों में स्वयंसेवक पतंगप्रेमियों के साथ नजर आएंगे। गौरतलब है कि लोकसभा व विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुटे राजनीतिक दल भी विविध माध्यमों से जनसंपर्क बढ़ा रहे हैं। RSS खुले तौर पर कहता है कि वह किसी भी तरह की राजनीतिक गतिविधि में शामिल नहीं है। न ही किसी दल का समर्थन किया जा रहा है, लेकिन शत प्रतिशत मतदान के आव्हान के साथ RSS चुनाव के पहले विविध स्तर पर मतदाताओं से संपर्क साधता है। 

पहली बार सार्वजनिक उत्सव
RSS में विजयादशमी के साथ ही गुरुपूर्णिमा, गुडीपाडवा (नव वर्ष ),रक्षा बंधन और मकर संक्राति उत्सव को जोश के साथ मनाया जाता है। इस उत्सव के दौरान स्वयंसेवक समाज में लोगों से मेल मुलाकात बढ़ाते हैं। मकर संक्राति का उत्सव शाखा में मनाने की परंपरा रही है, जिसे इस वर्ष तोड़ा जा रहा है। इस वर्ष नागपुर में 275 बस्तियों में जाकर सामूहिक रूप से उत्सव को मनाया जाने वाला है। इस बार RSS अल्पसंख्यक बहुल इलाकों में जाकर भी इस उत्सव को मनाने वाला है। मकर संक्राति के साथ ही देश में उत्सवों की शुरुवात हो जाती है। आने वाले सभी उत्सव इसी ढंग से मनाने की तैयारी है। RSS के इस बदलाव को आने वाले आम चुनाव से भी जोड़कर देखा जा रहा है। इससे पहले अयोध्या मंदिर मामले को लेकर RSS कार्यकर्ताओं ने विविध बस्तियों में सामूहिक पूजा कार्यक्रम के माध्यम से जनसंपर्क किया है। हल्दी कुमकुम कार्यक्रमों में भी संघ से जुड़े विविध संगठन सहभागी होते रहे हैं। 

खबरें और भी हैं...