दैनिक भास्कर हिंदी: कोरेगांव भीमा हिंसा : संभाजी भिड़े गुरूजी का आरोप, प्रकाश आंबेडकर के कारण भड़का महाराष्ट्र

March 19th, 2018

डिजिटल डेस्क, पुणे। शिव प्रतिष्ठान के संस्थापक और कोरेगांव भीमा हिंसा प्रकरण भड़काने का आरोप झेल रहे, संभाजी भिड़े गुरूजी ने सोमवार को सागली में भारिप बहुजन महासंघ के प्रमुख प्रकाश आंबेडकर पर निशाना साधते हुए कहा कि उनके कारण ही महाराष्ट्र भड़का था। इसलिए मामले में उनकी भूमिका को लेकर जांच होनी चाहिए। कोरेगांव भीमा हिंसा मामले में समस्त हिंदू आघाड़ी के संस्थापक अध्यक्ष मिलिंद एकबोटे की गिरफ्तारी होने के बाद भिड़े गुरूजी को भी गिरफ्तार करने की मांग जोर पकड़ रही है। इसकी पृष्ठभूमि पर भिड़े गुरूजी ने कहा कि मुझ पर आरोप लग रहे हैं, लेकिन सभी राजनीतिक पार्टियां चुप्पी साधी बैठी हुई हैं। चुनाव नजदीक आने के कारण दलित समाज के वोट हासिल करने के लिए कोरेगांव भीमा हिंसा प्रकरण का आधार लिया जा रहा है। 

संभाजी भिड़े गुरूजी का आरोप 
संभाजी भिड़े गुरूजी ने कहा कि प्रकाश आंबेडकर ने तो मर्यादा का उल्लंघन मुझ पर आरोप लगाए। किसी बच्चे को चॉकलेट देकर जैसे उसे बोलने के लिए कहा जाता है, वैसे ही प्रकाश आंबेडकर कर रहे हैं। मैं पिछले पांच सालाें से कोरेगांव भीमा इलाके में गया नहीं। इसलिए मेरी गिरफ्तारी से क्या हासिल होगा? हिंसा के समय मैं वहां था, ऐसी जिन लोगों ने जानकारी दी, आंबेडकर उनके नाम बताएं। पुलिस पहले उनकी जांच करें। हिंसा के बाद प्रकाश आंबेडकर द्वारा किए गए भड़काऊ बयानबाजी के कारण ही पूरा महाराष्ट्र भड़का हुआ था। इस दौरान शनिवार वाड़ा में आयोजित की गई यल्गार परिषद के लिए उमर खालिद और जिग्नेश मेवाणी को निमंत्रित किया गया था। इसलिए पुलिस परिषद के नेताओं को हिरासत में लेकर जांच करें। 

मिलिंद एकबोटे को कालिख पोतने की कोशिश 
सोमवार को कोरगांव भीमा हिंसा प्रकरण में गिरफ्तार मिलिंद एकबोटे की पुलिस हिरासत खत्म होने के कारण उन्हें न्यायालय में पेश किया गया। उस समय एक शख्स ने उन्हें कालिख पोतने की कोिशश की। लेकिन पुलिस ने उसे हिरासत में लिया। घटना के बाद एकबोटे की सुरक्षा बढ़ाई गई है। उनकी पुलिस हिरासत 21 मार्च तक बढ़ा दी गई है।