दैनिक भास्कर हिंदी: खनिज विभाग की गाड़ी पर रेत भरा डम्पर चढ़ाने की कोशिश

June 4th, 2018

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। खनिज विभाग के अधिकारियों की गाड़ी को आज दोपहर रेत ले जा रहे एक डम्पर ने टक्कर मार दी। टक्कर के बाद खनिज अधिकारियों ने वाहन को रोकने की कोशिश की, लेकिन ड्राईवर डम्पर लेकर भागने की कोशिश करने लगा। आखिरकार माईनिंग अफसरों ने पीछा कर डम्पर को रोक लिया। हालांकि यह स्पष्ट नहीं हो सका है कि डम्पर चालक ने जानबूझकर खनिज विभाग के अधिकारियों पर गाड़ी चढ़ाने की कोशिश की थी या फिर यह एक हादसा मात्र था।

माईनिंग इंस्पेक्टर देवेन्द्र पटले के अनुसार, खनिज विभाग का अमला अवैध उत्खनन और परिवहन के संदिग्ध स्थलों का निरीक्षण करने गए थे। इसी बीच अंधमूक चौराहे के पास एक बिना नंबर के डम्पर ने खनिज विभाग की गाड़ी को टक्कर मार दी। उन्होंने कहा कि टक्कर के बाद जब वाहन चालक को रुकने के लिए कहा गया तो वह भागने लगा। अफसरों ने वाहन का थोड़ी दूर तक पीछा किया और सामने गाड़ी अड़ाकर डम्पर को रुकवाया। अफसरों को देख वाहन चालक मौके पर डम्पर छोड़कर भाग गया। इस बीच जब डम्पर और उसमें लदी रेत के बारे में पतासाजी की गई तो पता चला कि रेत का अवैध परिवहन किया जा रहा था। इसके साथ ही डम्पर चैतराम पटेल का होने की भी बात सामने आई। अधिकारियों का कहना है कि वाहन मालिक के खिलाफ आज FIR दर्ज करवाई जाएगी।

वहीं, अफसरों ने मार्ग से गुजर रहे दो अन्य डम्परों को भी जांच के लिए रोका। रेत का परिवहन कर रहे डम्परों के ड्राईवरों से जब आवश्यक दस्तावेज के संबंध में पूछताछ की गई तो वे हीलाहवाली करने लगे। इसके बाद दोनों ही वाहनों को जब्त कर लिया गया। दोनों वाहन गया निवासी दिलीप सोनी और मंगेली निवासी सचिन यादव के बताए जा रहे हैं। तीनों ही मामले में अवैध परिवहन का प्रकरण दर्ज जांच की जा रही है। इस बीच डम्पर की जब्ती के दौरान कुछ लोग वहां पर पहुंच गए और कार्रवाई का विरोध करने लगे। मौके पर काफी देर तक अफरा-तफरी व हंगामा होता रहा। अंतत: खनिज अधिकारियों ने वाहनों को जब्त कर संबंधित थाने में खड़ा करवाया है। कार्रवाई के दौरान पुष्पेन्द्र त्रिपाठ व खनिज विभाग के अन्य कर्मचारी मौजूद रहे।