दैनिक भास्कर हिंदी: मशीन में फंसी साड़ी बन गई फंदा,महिला की मौत, तेल मिल में हुआ हादसा

May 12th, 2018

डजिटल डेस्क सतना। नयागांव थाना अंतर्गत उद्यमिता विद्यापीठ में राई का तेल निकलवाने पहुंची महिला की साड़ी ही मौत का फंदा बन गई। इस हादसे के बाद तेल मिल में हड़कंप मच गया। जिसकी सूचना पर पहुंची पुलिस मामले की जांच में जुट गई। थाना प्रभारी सुधांशु तिवारी ने बताया कि मोहकमगढ़ निवासी गौरी पाल पति बंशी 35 वर्ष शुक्रवार शाम करीब 4 बजे घर से राई लेकर उद्यमिता स्थित तेल मिल पहुंची थी। जहा राई से तेल निकलवाते समय वह मशीन के पट्टे के पास चली गयी। तभी साड़ी का एक छोर स्पैनर के पट्टे में फंसकर खिच गया। जिससे साड़ी का दूसरा सिरा महिला के गले में कस गया।

यह दृश्य देखकर मिल के कर्मचारियों ने तुरंत मशीन बंद कर दी। लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी और साड़ी का फंदा इस कदर गले में कस गया था कि कुछ ही पलों में ही गौरी की सांसे थम गई। इस घटना से वहां अफरा-तफरी मच गई,ज्यादातर लोग चुप-चाप निकल गए। किसी व्यक्ति ने डायल 100 पर शिकायत की तो पुलिस घटना स्थल पर जाकर मर्ग पंचनामा करते हुए लाश को पोस्टमार्टम के लिए जानकीकुंड अस्पताल भेज दिया गया।

फांसी पर झूला विछिप्त 
बरौंधा थाना अंतर्गत चुआं गांव में 35 वर्षीय विक्षिप्त युवक ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली, जिसकी सूचना पर मर्ग कायम कर पुलिस जांच में जुट गई है। पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक विजय लाल यादव पुत्र रामनिहोर 35 वर्ष की दिमागी हालत काफी समय से खराब चल रही थी। परिजन उसका इलाज मनोचिकित्सक से करा रहे थे लेकिन हालत में सुधार नहीं हो रहा था शुक्रवार दोपहर को जब घर के लोग आराम कर रहे थे। तब युवक ने कमरे में जाकर मयारी पर फंदा डालकर फांसी लगा लिया।

इस दौरान किसी की नजर पड़ी तो शोर मचाते हुए परिजन व पड़ोसियों को एकत्र कर फंदे से उतारने का प्रयास किया पर तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। लिहाजा डायल हंड्रेड पर खबर दे दी गई। तब पुलिस टीम ने मौके पर पहुंचकर पंचनामा कार्रवाई करते हुए लाश को फंदे से उतार लिया और पोस्टमार्टम कराने के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र मझगवां ले आए।