दैनिक भास्कर हिंदी:  फरार थानेदार की तलाश में बिहार गई सतना पुलिस की गाड़ी दुर्घटना ग्रस्त 

November 9th, 2020

डिजिटल डेस्क सतना। सिंहपुर थाने के मालखाना में 27 सितंबर की रात को गोली लगने से चोरी के संदेही राजपति कुशवाहा की मौत के मामले में एक माह से फरार चल रहे निलंबित थानेदार विक्रम पाठक और सिपाही आशीष सिंह की गिरफ्तारी के लिए बिहार गई सतना पुलिस की गाड़ी जीटी रोड में दुर्घटना ग्रस्त हो गई। इस हादसे में चालक समेत पुलिस कर्मियों को मामूली चोटे आईं हैं। पुलिस अधीक्षक धर्मवीर सिंह ने 5-5 हजार रुपए का इनाम घोषित करने के साथ ही नागौद एसडीओपी रविशंकर पांडेय की अगुवाई में 12 सदस्यीय टीम का गठन किया है,जिसके द्वारा लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। इसी सिलसिले में पुलिस पार्टी दो बार बिहार और उत्तर प्रदेश की खाक छान चुकी है। 
जीटी रोड पर हुआ हादसा 
सायबर सेल और अन्य माध्यमों से नजर रखे जाने के बाद आरोपी थानेदार की मौजूदगी गृहराज्य में होने के सुराग मिल रहे थे, लिहाजा सब इंस्पेक्टर दशरथ सिंह बघेल, आशीष धुर्वे, आरक्षक सिद्धार्र्थ राय और संजय यादव को कार से बिहार के कटिहार जिला अंतर्गत थाना बरारी के भैंसधीरा गांव में दबिश देने के लिए रवाना किया गया,मगर पुलिस को सफलता नहीं मिली। ऐसे में यहां से गई टीम पटना के रास्ते वापसी के लिए निकल पड़ी,मगर शुक्रवार देर रात जब उनकी कार खगडिय़ा जिले के शिवसागर थाना क्षेत्र में पहुंची तभी जीटी रोड पर एक कार ओवरटेक करने के चक्कर में  सामने आ गई, जिससे बचने के लिए चालक ने बाए तरफ गाड़ी घुमाई तो बाइक सवार एकदम से आ गया,उसे बचाया तो कांक्रीट के डिवाइडर से टकराने का खतरा मडऱाने लगा, तब चालक ने सूझबूझ दिखाई और रफ्तार कम करते हुए कार को पोल से टकरा दिया। 
पुलिस कर्मियों को आईं हल्की चोटें
इस दुर्र्घटना में गाड़ी का अगला हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया तो ड्राइवर और पुलिस कर्मियों को मामूली चोटें आईं। हादसे की रिपोर्ट नजदीकी थाने में करने के बाद सतना एसपी को जानकारी देकर पुलिस टीम कार को टोचन कर पटना ले गई और ठीक करवाने के बाद रविवार शाम को बनारस आ गई। यह दल सोमवार देर रात को जिला मुख्यालय लौट आया।
 

खबरें और भी हैं...