• Dainik Bhaskar Hindi
  • City
  • Screws on ragging: web page will be made, along with students, professors will also be able to complain

शिक्षण संस्थाओं में तैयारियां शुरू: रैगिंग पर शिकंजा: बनेगा वेब पेज, छात्रों के साथ प्राध्यापक भी कर सकेंगे शिकायत

September 19th, 2021



डिजिटल डेस्क जबलपुर। उच्च शिक्षण संस्थाओं में नए शैक्षणिक सत्र की शुरूआत से ही रैगिंग जैसे गंभीर अपराध पर अंकुश की तैयारी भी शुरू हो गई है। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने इसके लिए सभी विश्वविद्यालयों को बकायदा दिशा निर्देश जारी कर दिए हैं। अब सभी विश्वविद्यालयों को अपनी वेबसाइट पर रैगिंग के लिए एक पेज बनाना होगा। कॉलेज और यूनिवर्सिटी के छात्र-छात्राएं पेज पर सीधे शिकायत कर सकेंगे। इसके अलावा प्राध्यापक भी उनके साथ होने वाले अन्याय और भेदभाव की शिकायत भी इस पेज पर कर सकेंगे।
वर्तमान में सभी विश्वविद्यालयों और कॉलेजों में रैगिंग की शिकायत के िलए हेल्पलाइन नंबर उपलब्ध हैं। रैगिंग को लेकर सख्त नियम भी बने हैं और कइ समितियां भी गठित की गई हैं, इसके बावजूद हर साल कई शिकायतें आती हैं। इसी को मद्देनजर रखते हुए यूजीसी ने यह कदम उठाया है। अब विद्यार्थी या अन्य कोई भी पीडि़त सीधे वेबसाइट के पेज पर जाकर अपनी शिकायत भेज सकता है।
यूजीसी की नेशनल एंटी रैंिगंग हेल्पलाइन में 2012 से सितंबर 2021 के बीच रैगिंग की कुल 5951 शिकायतें दर्ज की गई हैं। इनमें से 5834 शिकायतों का निराकरण कर दिया गया है।
अभी यूनिवर्सिटी और कॉलेजों की वेबसाइट पर एंटी रैगिंग संबंधी िलंक की सुविधा भी है। इसके माध्यम से छात्र रैगिंग की िशकायत कर सकता है। लेकिन अब यूजीसी के निर्देशों के तहत कॉलेजों व विवि को अपनी वेबसाइट पर पेज डेवलप करना होगा। इसमें जाति को लेकर किए भेदभाव या टीका टिप्पणी की सीधे िशकायत भी की जा सकेगी।
वर्जन
विवि की वेबसाइट पर रैगिंग संंबंधी शिकायत करने की सुविधा मौज्ूद है। यूजीसी के निर्देशों के तहत वेबसाइट को अपग्रेड कर िदया जाएगा।
-प्रो. कपिल देव मिश्र, कुलपति रादुविवि
फैक्ट फाइल-
कुल प्राप्त शिकायतें - 5951
शिकायतें निराकृत- 5834
कॉल सेंटर में लंबित - 93
यूजीसी में लंबित - 22
मॉनिटरिंग एजेंसी में लंबित- 2
सोर्स- नेशनल एंटी रैगिंग हेल्पलाइन (अप्रैल 2012 से िसतंबर 2021)

 

खबरें और भी हैं...