comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

पुलिस ने पकड़ा कफ सिरप का जखीरा, बाजार में कीमत 60 लाख रुपए

पुलिस ने पकड़ा कफ सिरप का जखीरा, बाजार में कीमत 60 लाख रुपए

डिजिटल डेस्क, सतना। जिले में मेडिकल नशे के खिलाफ अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई करते हुए पुलिस ने कोलगवां थाना क्षेत्र के टिकुरिया टोला स्थित गोदाम में छापा मारकर 419 पेटी कफ सिरप जब्त कर लिया तो मौके से आरोपी को पकड़ लिया, जिससे पूछताछ की जा रही है। इस संबंध में पुलिस कप्तान रियाज इकबाल ने बताया कि शहर में मेडिकल नशे के काले कारोबार की तह तक पहुंचने के लिए मुखबिरों के साथ ही विशेष टीम को काम पर लगाया गया था, कई दिनों की कोशिश के बाद बुधवार शाम को मुखबिर से सटीक सूचना मिलने पर सीएसपी विजय प्रताप सिंह ने बांस नाका के समीप जानकीपुरम कालोनी में दबिश देकर एक गोदाम की तलाशी ली, जिसके 2 हिस्सों में मटर और माचिस का स्टाक मिला, पर जब बीच वाले भाग का ताला खोलकर पुलिस टीम अंदर गई तो वहां  कफ् सिरप का स्टॉक देखकर आंखें चौधियां गईं। बड़ा जखीरा पकड़े जाने की खबर एएसपी गौतम सोलंकी को दी गई तो वह मौके पर पहुंच गए। वहीं उचेहरा क्षेत्र के दौरे पर निकले पुलिस कप्तान रियाज इकबाल भी सीधे टिकुरिया टोला आ गए। जांच-पड़ताल करने पर कुल 419 पेटी माल मिला, जिसका बाजार मूल्य 60 लाख रूपए आंका गया। उक्त माल संजय कुमार ताम्रकार पुत्र संतशरण 40 वर्ष निवासी कटरा मोहल्ला-रामपुर बाघेलान के द्वारा रखवाया गया था, जिसने स्टेशन रोड पर कंधारी पान मसाला के थोक व्यापारी कुशाल कंधारी से उनके गोदाम का बीच वाला हिस्सा किराए पर लिया था। इस कार्रवाई में कोलगवां थाने के आरक्षक कमलाकर सिंह, सीएसपी कार्यालय के आरक्षक जगदीश मीणा, राहुल सिंह, सिविल लाइन के आरक्षक राहुल तिवारी आदि ने अहम भूमिका निभाई है।

व्यापारी को ग्राहक बनकर पकड़ा 

पुलिस टीम को 4 दिनों से कफ सिरप की बड़ी खेप उतरवाए जाने की सूचना मिल रही थी, लिहाजा सीएसपी ने अलग-अलग थानों के जवानों को रेकी के लिए लगा रखा था। कोतवाली के एसआई नीरज खरे को भी पतासाजी की जिम्मेदारी दी गई थी। लगातार निगरानी के चलते बुधवार को पुख्ता खबर मिलने पर पुलिस टीम तुरंत मौके पर गई और पुष्टि करने के लिए सीएसपी ने सिविल ड्रेस में पुलिस जवानों को ग्राहक बनाकर आरोपी संजय ताम्रकार के पास भेजा, जिसने बड़े सौदे के लालच में गोदाम का स्टाक दिखा दिया। तब इशारा मिलते ही आसपास छिपी पुलिस टीम ने सामने आकर उसे दबोच लिया। हालांकि कार्रवाई में दिक्कतों का भी सामना करना पड़ा। मौके पर मुख्य शटर के तालों की चाभियां नहीं थीं। इसके चक्कर में एक घंटे तक पुलिस बाहर ही खड़ी रही, जब व्यापारी ने चाभियां मंगवाई तब जाकर बात आगे बढ़ी। 

रीवा में है मेडिकल स्टोर

आरोपी संजय ताम्रकार रीवा के फोर्ट रोड में बालाजी इंटरप्राइजेज के नाम से मेडिकल स्टोर चलाता है। विगत दिनों रीवा में पकड़े गए एक ट्रक कफ् सिरप के मामले में भी उसका नाम सामने आया था। आरोपी से पूछताछ कर सिरप मंगाने और स्टाक करने के दस्तावेज मांगे गए हैं, साथ ही माल बेचने और उससे खरीदने वालों की जानकारी भी तलब की जा रही है। जांच में सहयोग के लिए ड्रग इंस्पेक्टर से भी संपर्क किया गया है, पर वह मौके पर नहीं पहुंची।

नशेड़ियों की पहली पसंद

ऑनरेक्स सिरप में कोडीन की मात्रा अन्य सिरप से काफी ज्यादा होती है और दूसरे नशीले पदार्थों से यह सस्ता पड़ता है तो गंध भी नहीं आती। ऐसे में नशे के आदी लोग इस सिरप का इस्तेमाल अपनी लत के लिए करते हैं जिसका फायदा मेडिकल स्टोर संचालक और व्यापारी उठा रहे हैं। जिले के रामपुर बाघेलान, अमरपाटन, रामनगर में हजारों युवा इसकी चपेट में हैं।
 

कमेंट करें
Jg6DW
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।