• Dainik Bhaskar Hindi
  • City
  • The lover shot and killed the girlfriend due to the demand for money and the insistence of marriage

सतना: पैसों की मांग और शादी की जिद के कारण प्रेमी ने गोली मारकर की थी प्रेमिका की हत्या

March 1st, 2022

डिजिटल डेस्क, सतना। नयागांव थाना अंतर्गत मोहकमगढ़ में दस दिन पूर्व गोली मारकर महिला की हत्या का खुलासा करते हुए पुलिस ने उसके प्रेमी को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी के कब्जे से कट्टा, कारतूस और बाइक भी जब्त की गई है। आरोपी की गिरफ्तारी के लिए पुलिस अधीक्षक धर्मवीर सिंह ने 10 हजार का इनाम घोषित किया था। गौरतलब है कि बीते 17 फरवरी की रात को मोहकमगढ़ के पास सत्यभामा पति अनूप मिश्रा 39 वर्ष निवासी भाटी, थाना रायपुर कर्चुलियान जिला रीवा की लाश मिली थी, जिसकी हत्या गले के पास गोली मारकर की गई थी, जिस पर हत्या का अपराध दर्ज कर जांच शुरू की गई तो पता चला कि उक्त महिला घटना दिनांक की दोपहर को गांव से खरीददारी करने रीवा आई थी। 

ऐसे मिला सुराग:-
पुलिस को घटना स्थल से महिला का पर्स मिला था, जिसमें आधार कार्ड, परिजनों के फोन नम्बर की पर्ची और प्रसाद मिला था, जिससे यह अनुमान लगाया गया कि हत्या के कुछ घंटे पहले सत्यभामा ने कामतानाथ के दर्शन किए होंगे, लिहाजा मंदिर के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों के फुटेज खंगाले गए, जिसमें वह एक युवक के साथ दिख रही थी, तब उसके भाई पवन और लव तिवारी को बुलाकर रिकॉर्डिंग दिखाई गई, जिस पर उन्होंने अज्ञात व्यक्ति की पहचान रावेन्द्र त्रिपाठी उर्फ बेटा पंडित पुत्र सुखविन्द्र किशोर उरमलिया निवासी सप्ती थाना नागौद के रूप में कर ली। संदिग्ध का नाम पता मिलते ही तेजी से तलाश शुरू की गई, मगर वह हाथ नहीं आया। ऐसे में पुलिस ने बेहद गोपनीयता से रावेन्द्र तक पहुंचने के प्रयास जारी रखे, उधर जैसे ही युवक को आभास हुआ कि मामले में उसका नाम नहीं आ रहा है तो अपने एक परिचित से फोन पर सम्पर्क करने के बाद रविवार की शाम को ट्रेन से कर्बी और फिर ऑटो से चित्रकूट लौट आया, जिसकी भनक लगते ही पुलिस टीम ने दबिश देकर पकड़ लिया। 

ब्लैमेलिंग से था परेशान:-
पुलिस की गिरफ्त में आने के बाद युवक ने जुर्म स्वीकार करते हुए बताया कि सत्यभामा का ननिहाल उसके ही गांव में है, जिसके चलते महिला से अच्छी जान-पहचान थी। इसी बीच पति की खराब मानसिक स्थिति बिगड़ जाने पर उसकी नजदीकी महिला से बढ़ गई और परिक्रमा के बहाने अक्सर चित्रकूट बुलाकर लक्ष्मीनारायण मंदिर प्रमोदवन में मिलने लगे। आरोपी भी चित्रकूट में अपने नाना के पास रहकर परिक्रमा मार्ग में पूजापाठ करता था, इसलिए मिलना आसान था, मगर कुछ वक्त पहले वह काम के सिलसिले में सूरत चला गया, जिससे दूरी बढ़ गई थी। यह बात प्रेमिका को पसंद नहीं आई और वह परेशान करने लगी। 

तब बनाया हत्या का प्लान:-
बीते 13 फरवरी को सूरत से चित्रकूट आया और प्रेमिका को भी बुला लिया, दो दिन रुकने के बाद उसे वापस भेज दिया, मगर इस बार महिला ने शादी करने की जिद पकड़ ली और पैसे भी मांगे, जिससे परेशान होकर पीछा छुड़ाने की योजना बना डाली। अपने प्लान के तहत आरोपी ने 17 फरवरी को फोन कर महिला को चित्रकूट बुलाया और उधर दोस्त हरिओम सिंह से बेटे को अस्पताल ले जाने के बहाने उसकी बाइक यूपी 96 ई 1534 भी मांग लाया। शाम लगभग 5 बजे सत्यभामा के चित्रकूट आते ही बस स्टैंड से कामदगिरि परिक्रमा ले गया और दर्शन करने के बाद अंधेरा हो जाने पर हनुमानधारा ले जाने के बहाने कामतन बायपास होते हुए मोहकमगढ़ पहुंचा, जहां पहले तो प्रेमिका को समझाने का प्रयास किया, मगर जब वह नहीं मानी तो 315 बोर के कट्टे से गोली मारकर हत्या कर दिया। 
फोन पर ले रहा था पल-पल की जानकारी:-
वारदात के बाद प्रमोदवन लौटकर बाइक दोस्त को लौटाया और बैग उठाकर ऑटो से कर्बी पहुंचा। वहां से ट्रेन में बैठकर प्रयागराज और फिर मथुरा पहुंचकर गोवर्धन पर्वत की परिक्रमा लगाने लगा। इस बीच अलग-अलग लोगों के मोबाइल से चित्रकूट में परिचितों को फोन लगाकर घटना के बारे में जानकारी भी लेता रहा। आरोपी के खुलासे के बाद पुलिस ने उसकी निशानदेही पर प्रमोदवन से ही 315 बोर का कट्टा, एक खाली कारतूस और बाइक जब्त कर ली। हत्या के प्रकरण में आम्र्स एक्ट की धारा 25/27 और 11/13 एडी एक्ट बढ़ाते हुए आरोपी को न्यायालय में पेश कर दिया गया। 

इस टीम को मिली सफलता:-
दस हजार के इनामी आरोपी की गिरफ्तारी में एसडीओपी प्रभा किरण किरो, नयागांव टीआई संतोष तिवारी, एसआई आशीष बरकड़े, एएसआई आरके पांडेय, प्रधान आरक्षक राकेश साकेत, श्यामलाल, आरक्षक रघुवीर ङ्क्षसह, धर्मेन्द्र सिंह और विमलेश कुमार ने अहम भूमिका निभाई।