दैनिक भास्कर हिंदी: हमारे लिए कोई संवेदनशील मुद्दा नहीं है NRC - CM बिप्लव देब 

August 1st, 2018

डिजिटल डेस्क, नागपुर। अपने विवादित बयानों को लेकर चर्चा में रहने वाले त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लव देब संघ मुख्यालय पहुंचे। लगभग एक घंटे की बंद द्वाबिर चर्चा के बाद वे बाहर निकले। फिलहाल संघ से बातचीत का खुलासा न करते हुए मुख्यमंत्री देब ने इसे अनौपचारिक भेंट बताया। देश में NRC की रिपोर्ट को लेकर छिड़े बवाल पर मुख्यमंत्री बिप्लव देब ने कहा कि ये हमारे लिए कोई संवेदनशील मुद्दा नहीं है। त्रिपुरा में NRC की कोई मांग भी नहीं है। NRC और त्रिपुरा का कोई संबंध नहीं है। त्रिपुरा और असम में भी में यह मुद्दा नहीं है।

असम में विदेशी विचारों से प्रभावित कुछ लोगों ने जबरन तनाव निर्माण कर वातावरण बिगाड़ने का काम किया है, लेकिन उनके प्रयासों को सफलता नहीं मिलेगी। विवादित बयान और संघ से चर्चा  को लेकर पूछे गए सवालों पर उन्होंने प्रतिक्रिया देने से इनकार कर दिया। 

विवादित बयानों पर संघ द्वारा समझाइश देने की चर्चा
त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लव देब अपनी पत्नी के साथ नागपुर पहुंचे थे। जिसके बाद दूसरे दिन उन्होंने संघ मुख्यालय में भेंटकर सरसंघचालक मोहन भागवत से मुलाकात की। मुलाकात को असम में नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजन (एनआरसी) मुद्दे पर देशभर में चल रहे विवादों को जोड़कर देखा जा रहा है। जिस कारण मुलाकात को काफी अहम माना जा रहा है। फिलहाल संघ से चर्चा का विषय स्पष्ट नहीं हो पाया, लेकिन मुख्यमंत्री द्वारा दिए गए विवादित बयानों को लेकर संघ द्वारा उन्हें समझाइश देने की चर्चा है।

स्नेहियों से की मुलाकात 
पूर्वांचल में 10 से 12 साल प्रचारक रहे अनेक लोग नागपुर में हैं। देवी अहिल्या मंदिर में पूर्वांचल के विद्यार्थियों के लिए छात्रावास चलाया जाता है। जानकारी के अनुसार पुराने स्नेही और प्रचारकों से मुलाकात करने के लिए बिप्लव देब नागपुर आए थे। इस दौरान उन्होंने दीक्षाभूमि और गणेश टेकड़ी मंदिर के भी दर्शन किए। उन्होंने अपनी इस नागपुर यात्रा को काफी यादगार बताया।