दैनिक भास्कर हिंदी: जबलपुर में मिला अभूतपूर्व सहयोग उसे कभी विस्मृत नहीं किया जा सकता

September 30th, 2020

सेवानिवृत्ति पर चीफ जस्टिस को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए विदाई
डिजिहटल डेस्क जबलपुर ।
मप्र हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस अजय कुमार मित्तल ने सेवानिवृत्ति समारोह में कहा कि जबलपुर में उन्हें साथी न्यायाधीशों, अधिवक्ताओं और स्टाफ का अभूतपूर्व सहयोग मिला, उस सहयोग को कभी विस्मृत नहीं किया जा सकता है। मंगलवार को हाईकोर्ट के साउथ ब्लॉक में सेवानिवृत्ति समारोह वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए आयोजित किया गया। 
चीफ जस्टिस श्री मित्तल ने कहा कि कोरोना काल में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से अदालतों का संचालन काफी चुनौतीपूर्ण था, लेकिन सभी के सहयोग से यह काम संभव हो पाया। इससे पक्षकारों के अर्जेन्ट मामलों की सुनवाई हो पाई।  चीफ जस्टिस ने कहा कि उन्होंने अपने कार्यकाल में कई न्यायिक भवनों का उद््घाटन किया।  उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण के कारण सीजेआई का जबलपुर आगमन नहीं हुआ, लेकिन उन्होंने ज्यूडीशियल हिस्ट्री एंड कोर्टस ऑफ मप्र पुस्तक का ऑनलाइन अनावरण  कर मप्र हाईकोर्ट का गौरव बढ़ाया। इस मौके पर महाधिवक्ता पुरुषेन्द्र कौरव, हाईकोर्ट बार एसोसिएशन के अध्यक्ष रमन पटेल, हाईकोर्ट एडवोकेट्स बार एसोसिएशन के अध्यक्ष मनोज शर्मा और असिस्टेंट सॉलिसिटर जनरल जेके जैन ने चीफ जस्टिस के व्यक्तित्व और कृतित्व पर प्रकाश डाला। इस अवसर पर एक्टिंग चीफ जस्टिस नियुक्त किए गए जस्टिस संजय यादव सहित सभी जस्टिस मौजूद थे। 

खबरें और भी हैं...