दैनिक भास्कर हिंदी: पुलिस की चतुराई को चोरों की चुनौती -दुर्गा मंदिर में पहली चोरी का पता नहीं चला , दूसरी भी हो गई 

August 5th, 2019

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। सिविक सेंटर में बिजली कार्यालय के बाजू में स्थित पंचवटी दुर्गा मंदिर में वर्ष 2010 में जब 50 हजार रुपए से अधिक की चोरी हुई थी तो उस समय ओमती पुलिस ने कहा था कि वे चोरों को हर हाल में पकड़ कर दम लेंगे। ओमती पुलिस ने उस समय अपना किया गया वायदा तो नहीं निभाया, लेकिन अब एक बार फिर शनिवार की रात चोरों ने धावा बोला और करीब दस हजार रुपए की पूजन सामग्री एवं बर्तन आदि सामान चुरा ले गए। 

इस तरह चोर पुलिस की चतुराई को खुलेआम चुनौती दे रहे हैं और पुलिस सिर्फ वायदा ही कर रही है। इस बार भी पुलिस ने वही कथन दोहराया  है कि वे चोरों को जल्द ही पकड़ लेंगे। इस चोरी को लेकर श्रद्धालुओं में रोष है और उनका कहना है कि पिछली चोरी तो पुलिस नहीं पकड़ पाई अब दूसरी बार हुई चोरी को लेकर झूठा आश्वासन दिया जा रहा है। चोर मुख्य द्वार के पास के खुले हिस्से से अंदर घुसे और वहाँ रखी शक्कर की बोरी में सामान भर कर रफू चक्कर हो गए। मंदिर में चोरी का पता सुबह करीब 9 बजे पंडित धनश्याम दास दुबे को उस समय लगा जब वे पूजन के लिए मंदिर पहुँचे। उन्होंने देखा कि मंदिर के ताले लगे थे, लेकिन अंदर का सामान बिखरा था। चोरों ने नागपंचमी के पहले ही शंकर भगवान के नाग का नीचे का हिस्सा तोड़ दिया और उसे लेकर चले गए। ताबे का नाग का फन वहीं मंदिर में छोड़ गए। पुजारी के अनुसार कांसे एवं पीतल के लोटे, झंझरी, दो घंटे आदि पूजन में उपयोग किये जाने वाले बर्तन चोरी हो  गए हैं।  
 

मंदिर के आसपास बदमाशों का जमावड़ा 

मंदिर के पास बदमाशों का जमावड़ा रहने के कारण संभावना यह जताई जा रही है कि शराबी या फिर स्मैकिये ने इस  चोरी की वारदात को अंजाम दिया  है। ओमती पुलिस को इस चोरी की वारदात की सूचना दी गई।  पुलिस को अब तक चोरों का  कोई सुराग नहीं मिलने से लोगों में आक्रोश की स्थिति बन गई है। 
 

खबरें और भी हैं...