comScore

हजारों कोरोना योद्धाओं को घोषणा के 10 हजार का इंतजार

हजारों कोरोना योद्धाओं को घोषणा के 10 हजार का इंतजार

डिजिटल डेस्क जबलपुर ।  कोरोना वायरस से लड़ रहे स्वास्थ्य कर्मियों को आज तक 10 हजार रुपए का अतिरिक्त मानदेय नहीं मिला है।  मप्र तृतीय वर्ग शासकीय कर्मचारी संघ का कहना है कि मुख्यमंत्री ने प्रदेश भर के डॉक्टर्स, पैरामेडिकल स्टाफ, लैब टेक्नीशियन, एमपीडब्ल्यू  एएनएम, आशा कार्यकर्ताओं, वार्ड बॉय तथा संविदा कर्मचारियों को मासिक वेतन के साथ 10 हजार की अतिरिक्त मानदेय राशि दिये जाने की घोषणा की थी। लगभग तीन माह बाद भी अतिरिक्त राशि दिये जाने के कोई भी आदेश जारी नहीं किए जा सके हैं। इससे   प्रदेश के स्वास्थ्य कर्मियों में भारी रोष और असंतोष व्याप्त है। संघ के अर्वेन्द्र राजपूत, अवधेश तिवारी, अटल उपाध्याय, राबर्ट मार्टिन, आलोक अग्निहोत्री, मुकेश मिश्रा, बृजेश मिश्रा ने घोषणा पर अमल किए जाने की माँग की है।   
तृतीय क्रमोन्नति का लाभ नहीं मिला 
पेंशनर्स एसोसिएशन मप्र के प्रांतीय महामंत्री राजकुमार दुबे, जिला अध्यक्ष केएस ठाकुर के नेतृत्व में प्रतिनिधिमंडल ने संभागायुक्त से मुलाकात कर अपनी माँगों को लेकर चर्चा की। संभागायुक्त को पेंशनर्स ने अवगत कराया कि जुलाई 2014 के बाद सेवानिवृत्त शिक्षकों को तृतीय क्रमोन्नति का लाभ देने के आदेश दिए गए थे, परंतु यह लाभ आज तक शिक्षकों को नहीं मिल रहा है। इस मौके पर पेंशनर्स एसोसिएशन के नरेश शर्मा, आरसी तिवारी, व्हीके तिवारी, सरदार महेंद्र सिंह, आरएल अनुरागी, विनय तिवारी, एमएल गौतम, रवि चनपुरिया और धनराज शर्मा आदि मौजूद थे। 
 

कमेंट करें
C0kur