दैनिक भास्कर हिंदी: हाईस्पीड ट्रेनों के लिए सीधी की जाएंगी पटरियां, मोड़ कम करेगा रेलवे विभाग

May 25th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। नागपुर से सिकंदराबाद और बिलासपुर तक हाईस्पीड ट्रेनें चलाने की घोषणा वर्षों पूर्व की गई थी। नागपुर मंडल में इसका काम फिलहाल अभी शुरू नहीं हुआ है, लेकिन रायपुर मंडल में ट्रैक के दोनों तरफ दीवार बनाने का काम शुरू कर दिया गया है। इस मार्ग पर हाईस्पीड ट्रेन चलाने के लिए पटरियों का सीधा होना जरूरी है, इसके लिए सिकंदराबाद और बिलासपुर रेल मार्ग पर कई बड़े मोड़ हैं, जिन्हें सीधा किया जाएगा। इससे नागपुर से इन स्टेशनों की दूरी करीब 10 किमी बढ़ जाएगी। हालांकि हाईस्पीड ट्रेन होने से इन स्टेशनों तक सफर करने में अतिरिक्त समय नहीं लगेगा। 

2014-15 के रेल बजट में हुई थी घोषणा
उल्लेखनीय है कि वर्ष 2014-15 के रेल बजट में नागपुर-सिकंदराबाद व नागपुर-बिलासपुर के बीच हाईस्पीड ट्रेनें चलाने की घोषणा तत्कालीन रेल मंत्री ने की थी। वर्तमान में  बिछी हुई इन पटरियों को अधिक सक्षम बनाकर इन पर 160 किमी की रफ्तार से ट्रेनें दौड़ाने की योजना है। अभी इस दिशा में मध्य रेलवे व दपूम रेलवे नागपुर मंडल अंतर्गत कोई खास काम नहीं हुआ है, लेकिन इन ट्रेनों को दौड़ाने के लिए दो स्टेशनों के बीच आने वाले बड़े मोड़ सीधा किया जाएगा। रेल सूत्रों के अनुसार हाईस्पीड ट्रेनों के लिए पटरियों की सुरक्षा पुख्ता करना, सिग्नलिंग सिस्टम को अपडेट करने जैसे काम किए जाएंगे। 

10 कि.मी बढ़ेगी दूरी 
वर्तमान में नागपुर से सिकंदराबाद व बिलासपुर सेक्शन में नागपुर मंडल के दायरे में नागपुर से बल्लारशाह व दुर्ग का सेक्शन आ रहा है। इन सेक्शनों में करीब आधा दर्जन से ज्यादा बड़े मोड़ हैं। इन मोड़ की पटरियों को सीधा करने पर नागपुर से इन स्टेशनों की दूरी लगभग 10 किमी तक बढ़ जाएगी। नागपुर से दुर्ग की बात करें, तो इसमें अप व डाउन लाइन पर पनियाजोग से गौरतालाब स्टेशन, दरेकसा से सालईकसा स्टेशन, गोंदिया से गंगाझरी स्टेशन, गोंदिया से गुदमा स्टेशन व पनियाजोग से डोंगरगढ़ के बीच बड़े मोड़ हैं। 

सिग्नल प्रणाली में करेंगे बदलाव
तेज रफ्तार ट्रेनों के बीच में मवेशी, जंगली जानवरों के आने से दुर्घटना की आशंका रहती है। ऐसे में यहां बाउंड्री वॉल बनाकर हाईस्पीड ट्रेनों के लिए सिग्नलिंग प्रणाली, लेवल क्रासिंग गेट, टर्निंग प्वाइंट, स्पीड कंट्रोल सिस्टम, विद्युत खंभे दूर करना आदि कार्य किए जाएंगे।

 बढ़ेगी ब50 किमी प्रति घंटा की स्पीड  भी 
ये मोड़ सीधा होने के बाद वर्तमान दूरी 266 किमी की जगह नागपुर से दुर्ग की दूरी अनुमानित 276 किमी हो जाएगी। इसी तरह नागपुर से बल्लारशाह सेक्शन में भी कई जगह मोड़ रहने से इसे सीधा करने के बाद इनकी वर्तमान दूरी 171 किमी से बढ़ कर 181 किमी तक पहुंच सकती है। इन ट्रेनों की रफ्तार वर्तमान ट्रेनों  की रफ्तार से करीब 20 से 50 किमी प्रति घंटा ज्यादा रहेगी। इससे सफर में लगने वाले समय में कोई खास वृद्धि नहीं होगी।

थर्ड लाइन का काम चल रहा 
सूत्रों के अनुसार वर्तमान में नागपुर से बल्लारशाह व दुर्ग के लिए थर्ड लाइन का काम चल रहा है। इस लाइन के बनने के बाद उक्त अप-डाउन लाइन का काम किया जाएगा। 

बाउंड्री वॉल का काम शुरू  
नागपुर-बिलासपुर के बीच कई मोड़ हैं। हाईस्पीड ट्रेनों के लिए पहले इन्हें सीधा करना पड़ेगा। इसके बाद आगे का काम किया जाएगा। वर्तमान में रायपुर मंडल में बाउंड्री वॉल आदि का काम शुरू हो गया है।
-संतोष कुमार, वरिष्ठ पीआरओ, दपूम रेलवे 
 

खबरें और भी हैं...