दैनिक भास्कर हिंदी: बीते 36 घंटे में जम्मू-कश्मीर में 7 आतंकी मारे गए, दो जवान शहीद

July 9th, 2021

हाईलाइट

  • ददल गांव में गुरुवार को मुठभेड़ में सेना के दो जवान शहीद
  • मुठभेड़ में दो पाकिस्तानी आतंकवादी मारे गए
  • 36 घंटों में जम्मू-कश्मीर में मारे गए आतंकवादियों की संख्या सात हो गई

डिजिटल डेस्क, श्रीनगर। जम्मू के राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा (एलओसी) के पास ददल गांव में गुरुवार को मुठभेड़ में सेना के दो जवान शहीद हो गए और दो पाकिस्तानी आतंकवादी मारे गए। इसके साथ ही पिछले 36 घंटों में जम्मू-कश्मीर में मारे गए आतंकवादियों की संख्या सात हो गई है। पुलिस ने आतंकी के एक मददगार को भी गिरफ्तार किया है जो डगाम के विभिन्न क्षेत्रों में प्रतिबंधित आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के आतंकवादियों को लॉजिस्टिक और दूसरे मटेरियल सपोर्ट प्रदान करने में शामिल था।

दो पाकिस्तान आतंकी मारे गए
सेना के एक सूत्र ने बताया कि ददल गांव के पास संदिग्ध हथियारबंद व्यक्तियों के एक छोटे समूह की मौजूदगी की सूचना के आधार पर बुधवार शाम तलाशी अभियान चलाया गया। रात में गोलीबारी हुई जिसमें एक सैनिक को मामूली चोटें आईं और उसे सुरक्षित निकाल लिया गया। आज शाम दो जवानों के शहीद होने की खबर मिली। शहीद जवानों की पहचान नायब सूबेदार श्रीजीत एम और सिपाही मारुप्रोलू जसवंत रेड्डी के रूप में हुई है। इस ऑपरेशन में दो पाकिस्तान आतंकी मारे गए। आतंकियों के पास से दो एके-47 राइफल और भारी मात्रा में गोला-बारूद भी बरामद किया गया।

कुलगाम जिले में लश्कर के दो आतंकी ढेर
वहीं बुधवार-गुरुवार की दरमियानी रात कुलगाम जिले में राष्ट्रीय राइफल्स, जम्मू-कश्मीर पुलिस और सीआरपीएफ ने इलाके में आतंकवादियों की आवाजाही के बारे में इनपुट मिलने पर कई मोबाइल व्हीकल चेकपॉइंट को लॉन्च किया। नेशनल हाईवे पर ज़दोरा काज़ीगुंड में सुबह 3 बजे एक सफेद मारुति कार को चेकिंग के लिए रुकने को कहा गया। जवानों को देखते ही आतंकियों ने फायरिंग शुरू कर दी और आसपास के जंगल की ओर भागे। सुरक्षाबलों ने तुरंत इलाके की घेराबंदी कर दी। जॉइंट ऑपरेशन में दो आतंकवादी, शाहबाज अहमद शाह और नासिर अयूब पंडित मारे गए। दोनों आतंकी लश्कर से जुड़े थे। शाहबाज अहमद शाह 11 जुलाई 2020 से एक्टिव था जबकि अयूब पंडित 5 जून 2021 से एक्टिव था। एक एके-47 और एक पिस्टल के साथ भारी मात्रा में गोला-बारूद भी बरामद किया गया।

पुलवामा जिले में दो आतंकी मारे गए
एक अलग ऑपरेशन में, पुलिस की विशिष्ट खुफिया जानकारी के आधार पर, पंजगोम स्थित राष्ट्रीय राइफल्स, जम्मू-कश्मीर पुलिस और सीआरपीएफ के सैनिकों ने पुच्छल, पुलवामा में एक बिल्ट-अप एरिया के चारों ओर घेराबंदी कर दी। दोपहर 12.30 बजे आतंकियों ने घेराबंदी पार्टी पर ग्रेनेड फेंके और भागने की कोशिश की। हालांकि सतर्क सैनिकों ने तुरंत जवाबी कार्रवाई की और भागने की कोशिश को नाकाम कर दिया। आतंकियों से सरेंडर करने को कहा गया लेकिन उन्होंने जवाबी कार्रवाई की और सुरक्षा बलों पर ग्रेनेड फेंके। इसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई और सुरक्षाबलों ने दो आतंकियों को ढेर कर दिया। आतंकियों की पहचान पुलवामा जिले के किफायत सोफी (लश्कर-ए-तैयबा) और इनायत अहमद डार (अल-बद्र) के रूप में हुई है। 

घुसपैठ की कोशिश में मारा गया एक पाक आतंकी
इस बीच, सेना एक पाकिस्तानी आतंकवादी को मार गिराया और जम्मू क्षेत्र में नियंत्रण रेखा (एलओसी) के साथ नौशेरा सेक्टर में घुसपैठ की कोशिश को नाकाम कर दिया। सेना के एक प्रवक्ता ने कहा कि 7 जुलाई की तड़के, पाकिस्तानी आतंकवादियों के एक ग्रुप ने राजौरी जिले के नौशेरा सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पार घुसपैठ करने का प्रयास किया। सतर्क सेना के जवानों ने आतंकवादियों की घुसपैठ की कोशिश को विफल कर दिया। फायरिंग में एक आतंकवादी मारा गया। आतंकी के पास से एक एके 47 राइफल, गोला-बारूद के साथ एके 47 की चार मैगजीन और दो हथगोले सहित जंगी सामान बरामद किया गया है।

आतंकी का मददगार गिरफ्तार
एक अन्य घटना में, पुलिस ने अर्चनदरहामा मागम में रेलवे क्रॉसिंग के पास औचक निरीक्षण के दौरान एक व्यक्ति को रोका और उसके बैग से 1.2 किलोग्राम वजन के विस्फोटक पदार्थ और 2 इलेक्ट्रॉनिक डेटोनेटर बरामद किए। गिरफ्तार आतंकवादी सहयोगी बडगाम के विभिन्न क्षेत्रों में प्रतिबंधित आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के आतंकवादियों को लॉजिस्टिक और दूसरे मटेरियल सपोर्ट प्रदान करने में शामिल था। पुलिस ने कहा कि वह विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के जरिए पाकिस्तानी आतंकी कमांडरों के संपर्क में रहा है और कश्मीर में लश्कर के आतंकी कमांडरों के भी संपर्क में था।

खबरें और भी हैं...