comScore

टीका लगने के बाद दो दुधमुहे बच्चों की मौत! - पेंटावेलेंट समेत 3 वैक्सीन सीज 

टीका लगने के बाद दो दुधमुहे बच्चों की मौत! - पेंटावेलेंट समेत 3 वैक्सीन सीज 

डिजिटल डेस्क सतना। बिरसिंहपुर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की कोनैता आंगनवाड़ी में मिशन इंद्रधनुष के तहत टीकाकरण के तकरीबन 40 घंटे बाद 7 में से 2 दुधमुहे बच्चों की मौत का मामला सामने आया है। मृतकों में हीरालाल कुशवाहा का सवा माह का बेटा अरुण और दिन्नू डोहर की ढाई माह की बेटी अंतिमा शामिल है। अन्य 5 में से 2 बच्चों अराधना पुत्री वीरेन्द्र डोहर (उम्र डेढ़ माह) और रघुरानी पुत्री बृज विलास (उम्र डेढ़ माह) को तेज बुखार, फेफड़ों में कफ और उल्टी की शिकायत पर यहां के जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मृतकों समेत 7 बच्चों को 12 जनवरी को दोपहर साढ़े 12 बजे से 2 बजे के बीच पेंटावेलेंट,  पीसीवी और एफआईपीवी के इंजेक्शन के अलावा रोटावायरस और पोलियो ड्रॉप की डोज ओरल दी गई थी। 
पीएम के बाद शव परिजनों के सुपुर्द 
जिले के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (सीएएचओ) डा.एके अवधिया ने बताया कि घटना के बाद टीकाकरण में प्रयुक्त पेंटावेलेंट, पीसीवी और एफआईपीवी वैक्सीन के वॉयल सीज कर दिए गए हैं। इन्हें जांच के लिए हिमांचल प्रदेश स्थित कसौली लैब में भेजा जाएगा।  पीएम के बाद शव परिजनों के सुपुर्द कर दिए गए हैं। पोस्टमार्टम दो डॉक्टरों के पैनल से कराया गया। पैनल में जिला अस्पताल के शिशु रोग विशेषज्ञ डा.सुनील कारखुर और मेडिकल आफीसर डा. रुपेश सोनी को शामिल थे। 
 इनका कहना है 
 जिले में  अप्रैल से अभी तक टीकाकरण के दौरान बच्चों को पेंटावेलेंट की 70 हजार डोज दी गई हैं। अकेले चालू माह में भी 5 हजार डोज दिए गए हैं। जांच में  वैक्सीन की एक्सपायरी डेेट 2021 है, दवा का बैच नंबर भी ठीक है।  
 डा.एके अवधिया,सीएमएचओ   
 

कमेंट करें
6pGHJ