दैनिक भास्कर हिंदी: उत्तर प्रदेश चुनाव 2022: बीजेपी के विजयी रथ को रोकने सपा के साथ आई NCP, किया ये बड़ा ऐलान

July 28th, 2021

हाईलाइट

  • बीजेपी के विजयी रथ को रोकने यूपी में बना नया गठबंधन

डिजिटल डेस्क, लखनऊ। यूपी में अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी और शरद पवार की राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के बीच उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव के लिए गठबंधन हो रहा है। एनसीपी के राष्ट्रीय महासचिव केके शर्मा और प्रदेश अध्यक्ष उमाशंकर यादव ने यह घोषणा की है। उन्होंने कहा कि भाजपा को रोकने के लिए सभी को एक साथ तैयारी करनी पड़ेगी। 

केके शर्मा ने लखनऊ में यह बयान दिया कि 2022 के विधानसभा चुनाव के सभी विपक्षी दलों को मुख्य विपक्षी दल समाजवादी पार्टी से मिलकर के चुनाव लड़ना चाहिए। जिससे वोटों का बिखराव ना होने पाये। भाजपा को रोकना हम सब की पहली प्राथमिकता होनी चाहिए। हम महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल की तरह उत्तर प्रदेश में भी भाजपा को रोकने के लिए काम करेंगे। हम यहां पर सपा के साथ मिलकर लड़ेंगे।

बीजेपी लोकतंत्र के लिए खतरा है, उसको उखाड़ करके फेंकना होगा

केके शर्मा ने कहा कि यहां मैं एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार का संदेशा लेकर आया हूं। उन्होंने साफ कहा है कि हमें प्रदेश में युवाओं और किसानों की आवाज बनना होगा। भाजपा सरकार इनकी आवाज दबा रही है । जो भी आवाज उठाता है, उसके खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। यह सरकार लोकतंत्र के लिए खतरा है। इस सरकार को उखाड़ कर फेंकना होगा। शर्मा ने आगे कहा कि किसी को बहला फुसलाकर या जबरन धर्म परिवर्तन करना गलत है, लेकिन अगर कोई अपनी मर्जी से धर्मपरिवर्तन कर रहा है तो किसी को क्या परेशानी है। वहीं, प्रदेश अध्यक्ष उमाशंकर यादव ने कहा कि एक अगस्त से पार्टी प्रदेश बचाओ संविधान बचाओ आंदोलन करेंगे, इस आंदोलन में किसानों और युवाओं की आवाज उठायी जायेगी। 

उमाशंकर यादव ने कहा कि यूपी में किसानों की स्थिति देखी नहीं जाती है। किसान अपनी हक लड़ाई लड़ रहा है लेकिन इस सरकार में उसकी सुनवाई नहीं है। हम गांव गांव तक इस मुहिम को लेकर के जायेंगे और उनकी आवाज बनेंगे।    

खबरें और भी हैं...