• Dainik Bhaskar Hindi
  • City
  • Vaccination started after three days, people broke down, chaos in Manas Bhavan, vaccine also ended at 4.30 pm

दैनिक भास्कर हिंदी: तीन दिन बाद शुरू हुआ टीकाकरण तो टूट पड़े लोग, मानस भवन में अफरा तफरी, शाम साढ़े चार बजे वैक्सीन भी खत्म

July 13th, 2021

धक्का-मुक्की के बीच बंद करना पड़ा वैक्सीनेशन, पुलिस ने संभाला मोर्चा तब ऑपरेटर भी बढ़ाए
डिजिटल डेस्क शहडोल ।
जिले में तीन दिन तक टीकाकरण पूरी तरह से बंद था। सोमवार को मानस भवन में टीकाकरण की सूचना मिलते ही लोग टूट पड़े। एक साथ 100 से अधिक लोगों के पहुंचने, भीड़ नियंत्रण की व्यवस्था न होने और टीकाकरण में देरी के चलते अफरा-तफरी मच गई। शोर-शराबा और हंगामे के बीच करीब 15 मिनट टीकाकरण बंद रहा। बाद में सूचना पर पहुंची पुलिस ने मोर्चा संभाला।
पुलिस के पहुंचने के बाद हंगामा तो कम हो गया, लेकिन भीड़ अनियंत्रित ही रही। सबसे ज्यादा परेशानी बुजुर्गों और महिलाओं और बीमार लोगों को हुई। इसके बाद पुलिस ने आधे लोगों को मेन गेट के बाहर ही रोक दिया और गेट बंद कर दिया। जबकि अंदर महिला और पुरुषों की अलग-अलग लाइन लगवाई। तब जाकर स्थिति ठीक हुई। वहीं स्वास्थ्य विभाग की ओर से दो और ऑपरेटर यहां भेजे गए, ताकि जल्द से जल्द रजिस्ट्रेशन हो सके। दोपहर बाद करीब 3 बजे तक यहां लोगों की भीड़ लगी हुई थी। शाम करीब साढ़े चार बजे वैक्सीन खत्म भी हो गई।
अव्यवस्था के कारण भटकते रहे बुजुर्ग-महिलाएं
टीकाकरण में सोमवार को भारी अव्यवस्था थी। रजिस्ट्रेशन के लिए दो बार लाइन लगाई गई। फिर लोगों को बैठा दिया गया। बाद में आए लोग लाइन में आगे लग गए तो बैठे लोग भी सामने आ गए। इससे लाइन गायब हो गई और रजिस्ट्रेशन के लिए भीड़ लग गई। इसी तरह रजिस्ट्रेशन के बाद मंच के नीचे जहां टीका लग रहा था, वहां भी काफी संख्या में लोग खड़े हुए थे। यहां भी महिला और पुुरुषों की अलग-अलग लाइन तो बनाई गई थी, लेकिन लोग बीच से भी आ रहे थे। इस पूरी अव्यवस्था में सबसे ज्यादा परेशानी लाइन में लगे बुजुर्गों, बीमार लोगों को और महिलाओं को हुई।
400 से अधिक लोगों का हुआ वैक्सीेनेशन
सुबह करीब साढ़े 10 बजे जब टीकाकरण शुरू हुआ तब एक ही ऑपरेटर था। अचानक से भीड़ बढऩे पर अव्यवस्था की स्थिति बन गई। बाद में जब पुलिस ने भीड़ को नियंत्रित किया तो दो और ऑपरेटर बढ़ाए गए। फिर तीन ऑपरेटर रजिस्ट्रेशन कर रहे थे। दोपहर में एक और ऑपरेटर भेजा गया। यहां शुरुआत में वैक्सीन की 300 डोज भेजी गई। बाद में 100 डोज और आई। शाम करीब साढ़े चार बजे वैक्सीन खत्म होने के बाद टीकाकरण बंद कर दिया गया। इस दौरान 400 से अधिक लोगों का टीकाकरण हो चुका था।

खबरें और भी हैं...