दैनिक भास्कर हिंदी: जबलपुर-मण्डला सड़क पर जंप मार रहे वाहन, क्वॉलिटी पर सवाल

July 16th, 2021

रियलिटी - सात साल बीते अब भी पूरा नहीं हो पाया काम, एमपीआरडीसी का तर्क - जब पूरी बन जाएगी तो जहाँ खराबी वहाँ करेंगे सुधार 
डिजिटल डेस्क जबलपुर ।
जबलपुर-मण्डला सड़क का निर्माण बीते 7 साल से चल रहा है लेकिन अभी तक यह काम पूरा नहीं हो सका है। यह सड़क सीमेण्टेड जहाँ तक बनी वहां भी लेकिन किसी तरह का चैन नहीं है। सड़क के बन चुके हिस्से में वाहन तेजी से चल नहीं सकते, कूदते-फाँदते वाहन इस नये बन रहे मार्ग से िनकल पा रहे हैं। सड़क का जो भी हिस्सा सीमेण्टेड हो चुका है उसमें नाम्र्स के अनुसार बनते ही मरम्मत की जरूरत नजर आ रही है। इस तरह के हालात पर मध्य प्रदेश रोड डेवलमेंट कॉर्पोरेशन के अधिकारी कहते हैं िक पहले सड़क को पूरा बनाना टारगेट है उसके बाद इसकी जितनी भी कमी है वह मानकों के अनुसाार दूर कर ली जाएगी। वैसे नई बन रही सड़क की ही जल्द से जल्द मरम्मत करनी पड़े यह बड़ा सवाल है। इस मार्ग  पर फिलहाल जो भी आदमी निकलता है वह एक बार क्वॉलिटी पर सवाल उठाए बिना नहीं रहता। 
समस्या पर एमपीआरडीसी का यह तर्क 
एमपीआरडीसी के अधिकारियों का कहना है िक सड़क के अलग-अलग सीमेण्टेड हिस्से का पूरी तरह से सेट न हो पाना, वाहनों का सड़क पर जंप होने का कारण है। वन विभाग के हिस्से में सड़क बाद में बनाई जा रही है, पहले राजस्व की भूमि वाले हिस्से में बन गई। इस तरह दोनों हिस्सों का मिलान कहीं-कहीं न हो पाने से वाहन मार्ग पर उचक रहे हैं। इससे कहीं न कहीं क्वॉलिटी ऊपर से खराब दिखती है लेकिन बाद में जो मानक है उसके अनुसार ऊपरी डामर की परत चढ़ा दी जाएगी, इससे मार्ग का लेबल सेट हो जाएगा।
रिकॉर्ड में 2.5 किलोमीटर बाकी 
मण्डला सड़क डोबी गाँव बरेला से कटरा तक कुल 63 किलोमीटर के दायरे में बनाई जा रही है। इसका िनर्माण मध्य प्रदेश  रोड डेवलमेंट कॉर्पोरेशन कर रहा है। रिकॉर्ड में यह सड़क अभी 2.5 किलोमीटर नहीं बनाई जा सकी है। खासकर पहाड़ी वाले हिस्से से लेकर कुछ बस्ती में यह अधूरी है। जो निर्माण की प्रक्रिया यहाँ चल रही है उसके देखते हुए कहा जा सकता है कि इस बारिश में भी यह निर्माण पूरा नहीं हो सकता। अभी भी इस मार्ग में िनर्माण को लेकर लंबी कसर बाकी है।
ट्टसड़क जहाँ अभी बन चुकी है और कई जगह जहाँ पर वाहन गति के समय  जंप कर रहे हैं उन हिस्सों में सड़क पर नाम्र्स के अनुसार सुधार होगा। क्वॉलिटी से कोई समझौता नहीं है।  बिटुमन कांक्रीट कर हम सभी हिस्से को मिला देंगे। अभी हमारा मूल उद्देश्य यही है िक जल्द से जल्द यह सड़क पूरी बन जाए। 
-आरपी सिंह, डीएम एमपीआरडीसी 

खबरें और भी हैं...