comScore

उदयनराजे ने कहा - शरद पवार मैदान में उतरे तो पीछे हट जाऊंगा, मराठा क्रांति ठोक मोर्चा की बीजेपी को चेतावनी

उदयनराजे ने कहा - शरद पवार मैदान में उतरे तो पीछे हट जाऊंगा, मराठा क्रांति ठोक मोर्चा की बीजेपी को चेतावनी

डिजिटल डेस्क, पुणे। भारतीय जनता पार्टी में प्रवेश करने वाले उदयनराजे भोसले ने कहा कि अगर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार सातारा से चुनाव में उतरे तो वे पीछे हट जाएंगे। सातारा लोकसभा सीट का उपचुनाव 21 अक्टूबर को होने जा रहा हैं। उदयनराजे भोसले के विरोध में राकांपा किस उम्मीदवार को चुनाव मैदान में उतारेगी, इसे लेकर उत्सुकता बनी हुई है। ऐसे में उदयनराजे ने कहा कि अगर शरद पवार चुनाव लड़ते हैं, तो मैं आवेदन नहीं भरूंगा। सिर्फ वे मुझे दिल्ली स्थित उनका बंगला और गाड़ी दे दें। 
भाजपा में प्रवेश करने के कारण हो रही टिका टिप्पणी के बारे में उदयनराजे ने कहा कि यह टिका टिप्पणी का सिलसिला हमेशा के लिए खत्म किया जाए। शरद पवार के प्रति मेरे मन में उतना ही आदर और प्रेम है, जो पहले हुआ करता था। 

मराठा क्रांति ठोक मोर्चा की बीजेपी को चेतावनी

मराठा क्रांति ठोक मोर्चा ने मंगलवार को भारतीय जनता पार्टी पर आराेप लगाते हुए कहा कि उदयनराजे भोसले के साथ धोखा किया जा रहा है। उपचुनाव में उन्हें हराने के लिए षड़यंत्र रचा जा रहा है। अगर ऐसा हुआ, तो राज्य में गंभीर स्थिति बनेगी और उसके लिए भाजपा जिम्मेदार होगी। मराठा क्रांति ठोक मोर्चा के समन्वयक संजय सावंत ने कहा कि हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नाशिक सभा में उदयनराजे से अपमानजनक बर्ताव किया गया था। जिससे समाज सरकार से नाराज है। इसलिए उदयनराजे का भाजपा में प्रवेश करवाया था। अब उनसे इस प्रकार का बर्ताव किया जा रहा है। उदयनराजे मराठा समाज के नेता हैं। उनका अपमान मराठा समाज सहन नहीं करेगा। सातारा लोकसभा सीट के लिए उपचुनाव 21 अक्टूबर को होगा। उपचुनाव की तैयारियां शुरू हो चुकी है, लेकिन उदयनराजे से धोखा होने की संभावना है। उन्हें जिताने की जिम्मेदारी भाजपा नेताओं की हैं। अगर वे पराजीत हुए तो राज्य में गंभीर स्थिति बनेगी और उसके लिए भाजपा ही जिम्मेदार होगी।  

मराठा आरक्षण का विरोध करनेवालों के खिलाफ प्रचार

सावंत ने कहा कि सरकार ने मराठा समाज को जो भी आश्वासन दिए है, उन्हें अभी तक पूरा नहीं किया गया है। इसका हम विरोध करते हैं। सरकार ने मराठा समाज से धोखा किया है। अब आगामी विधानसभा चुनाव में जिन नेताओं ने मराठा आरक्षण को विरोध किया उनके खिलाफ प्रचार किया जाएगा। 
 

कमेंट करें
bfnDW