comScore

गड़ासे से गला रेतकर महिला की हत्या, प्रेमी के हाथ-पैर बांधकर नदी में फेंका

September 18th, 2020 18:40 IST
गड़ासे से गला रेतकर महिला की हत्या, प्रेमी के हाथ-पैर बांधकर नदी में फेंका

डिजिटल डेस्क सतना। उचेहरा थाना क्षेत्र के बरहटा गांव में बुधवार रात को झोपड़ी में सो रही महिला की दो लोगों ने गला रेतकर हत्या कर दी और उसके दिव्यांग प्रेमी को रस्सी से बांधकर नदी में फेंक दिया। इस सनसनीखेज वारदात से इलाके में हड़कम्प मच गया है। वहीं पुलिस ने जांच-पड़ताल शुरू करते हुए कुछ संदेहियों को हिरासत में ले लिया है। टीआई केके शर्मा ने बताया कि बरहटा निवासी मीना केवट 45 वर्ष बीते एक दशक से पति मूलचन्द्र केवट 50 वर्ष को छोड़कर प्रेमी रामपाल मल्लाह 48 वर्ष के साथ निमहाई घाट के किनारे स्थित खेत पर झोपड़ी बनाकर रहने लगी थी, वह ठेके पर खेत लेकर सब्जियां लगाती थी। हमेशा की तरह महिला और उसका प्रेमी बुधवार रात को भी झोपड़ी में चारपाई पर सो रहे थे, तब लगभग डेढ़ बजे दो अज्ञात लोग आ धमके, जिनमें से एक व्यक्ति अक्सर मीना को बाइक से गांव छोडऩे आया करता था। हमलावरों ने रामपाल को रस्सी में जकड़कर किनारे फेंक दिया और फिर वहां पर रखे गड़ासे से महिला के चेहरे व गले में एक दर्जन से ज्यादा वार करते हुए उसकी हत्या कर दी। मीना को मौत के घाट उतारने के बाद आरोपियों ने उसके प्रेमी को खेत के बगल से निकली नदी में फेंक दिया, रात भर रामपाल वहीं पड़ा रहा। गुरुवार सुबह करीब साढ़े 5 बजे जब गांव के कुछ लोग नदी की तरफ गए तो उनकी नजर अधेड़ पर पड़ी तो उसे बाहर निकाल लिया, तब उसने घटना की जानकारी दी। लिहाजा पुलिस को सूचित कर दिया गया, तब थाना प्रभारी अपनी टीम के साथ घटना स्थल पर पहुंच गए और फॉरेंसिक टीम को भी बुला लिया। साक्ष्य संकलन करने के पश्चात शव को उचेहरा मरचुरी भेजकर पोस्टमार्टम कराया गया। 
एक दशक से रहती थी प्रेमी के साथ
पुलिस ने प्रेमी से पूछताछ की तो पता चला कि मीना के परिवार में पति के अलावा दो बेटियां और एक बेटा है, जिनमें से एक लड़की की शादी हो चुकी है। वहीं दोनों बच्चे पिता के साथ गांव में रहते हैं। लगभग 10 साल पहले महिला उसके सम्पर्क में आई और उनकी नजदीकियां बढ़ गईं तो दोनों लोग गांव से बाहर झोपड़ी बनाकर रहने लगे। प्रेमी ने अपनी लगभग 7 एकड़ जमीन बेंचकर गांव में पक्का घर बनवा दिया तो सब्जी व्यवसाय भी शुरू कराया था। 

कमेंट करें
9bzxf