दैनिक भास्कर हिंदी: सतना में  40 करोड़ की लागत से बनेगा विश्व स्तरीय सीमेंट पार्क 

January 16th, 2020

डिजिटल डेस्क सतना। स्मार्ट सिटी में विश्व स्तरीय सीमेंट पार्क बनाए जाने की प्रक्रिया प्रारंभ कर दी गई है। माना जा रहा है कि अगर सब कुछ ठीक ठाक रहा तो यहां इसे एशिया के प्रथम सीमेंट पार्क के रुप में विकसित किया जाएगा। ईपीसी मोड पर इसके लिए डीपीआर तैयार किया जा रहा है। लगभग 40 करोड़ की शुरुआती लागत से 7 एकड़ भूभाग में बनने वाले विश्व स्तरीय सीमेंट पार्क में प्रस्तावित म्यूजियम और आडीटोरियम भी आकर्षण का केंद्र होगा। 
एनसीबीएम और सीएमए का भी समर्थन 
हाल ही में राष्ट्रीय राजधानी में आयोजित विश्व के सबसे बड़े सीमेंट टेक्नालॉजी सेमिनार में शामिल होने के बाद नगर निगम के कमिश्नर अमनवीर सिंह ने बताया कि इस सिलसिले में उन्हें नेशनल काउंसिल फॉर सीमेट बिल्डंग मैटेरियल्स (एनसीबीएम)के डायरेक्टर जनरल बीएन महापात्रा और सीमेंट मैन्युफैक्चरिंग एसोसिएशन (सीएमए) की मुख्य कार्यकारी अधिकारी अपर्णा शर्मा से भी हर संभव सहयोग का भरोसा मिला है। सेमिनार में विश्व के तमाम शीर्ष सीमेंट इंडस्ट्री के उद्योगपतियों और सीमेंट प्लांट बनाने वाली कंपनियों के चेयरमैन के साथ भी सतना में विश्वस्तरीय सीमेंट पार्क स्थापित किए जाने के संदर्भ में विस्तार से चर्चा हुई।  
 3 मंजिला इमारत में कहां-क्या 
 स्मार्ट सिटी में प्रस्तावित विश्व स्तरीय सीमेंट पार्क का भवन 3 मंजिला होगा। इसके ग्राउंड फ्लोर पर सीमेंट से बनने वाले कुटीर प्रोडेक्ट के प्रशिक्षण की सुविधा होगी। जिसमें कोई भी इच्छुक प्रशिक्षण भी प्राप्त कर सकेगा। शौकिया उत्पाद निर्माण की भी व्यवस्था रहेगी। जबकि दूसरी मंजिल में सीमेंट के उत्पादन में प्रयुक्त होने वाले टेक्नॉलाजी के तब से अब तक अद्यतन विकास और बदलाव की कहानी प्रदर्शित की जाएगी। इसी प्रकार तीसरी मंजिल में सीमेंट उत्पादन और उसमें प्रयुक्त होने वाली तकनीक को थ्री डी और फोर डी लेजर के जरिए प्रदर्शन किया जाएगा। 
उत्पादन में 11 प्रतिशत योगदान 
उल्लेखनीय है, विंध्य क्षेत्र के सतना जिले में सीमेंट उत्पादन के लिए अत्यंत आवश्यक उम्मा किस्म के लाइम स्टोन का अकूत भंडार सीमेंट निर्माता कंपनियों को सदैव अपनी ओर आकर्षित करता रहा है। मौजूदा समय में सतना जिला मुख्यालय समेत जिले के 200 किलोमीटर क्षेत्र में 10 बड़े सीमेंट कारखानें काम कर रहे हैं। एक आधिकारिक दावे के मुताबिक देश की कुल सीमेंट उत्पादन का 11 प्रतिशत का योगदान अकेले विंध्य क्षेत्र करता है।  

खबरें और भी हैं...