इयान बिशप : वेस्टइंडीज के लिए बल्लेबाजी सबसे बड़ी चिंता का विषय

July 22nd, 2022

हाईलाइट

  • वेस्टइंडीज के लिए बल्लेबाजी सबसे बड़ी चिंता का विषय : इयान बिशप

डिजिटल डेस्क, पोर्ट ऑफ स्पेन। वेस्टइंडीज ने इस साल 15 वनडे मैच खेले हैं, जिसमें सिर्फ चार में जीत और ग्यारह मौकों पर हार का सामना करना पड़ा है। बांग्लादेश से 3-0 से वनडे सीरीज हारने के ठीक छह दिन बाद वेस्टइंडीज 22 जुलाई से क्वींस पार्क ओवल में भारत का सामना करने के लिए तैयार है। इससे पहले, इसी साल फरवरी में वेस्टइंडीज ने अहमदाबाद में भारत के खिलाफ तीन वनडे मैच खेले थे, जिसमें उसे 3-0 से हार का सामना करना पड़ा था।

तब से, वेस्टइंडीज ने पाकिस्तान और बांग्लादेश के हाथों भी हार का मुंह देखा है। छह मैचों की लगातार हार के सिलसिले को खत्म करने के बाद नीदरलैंड के खिलाफ वनडे श्रृंखला जीती थी। पूर्व तेज गेंदबाज से कमेंटेटर बने इयान बिशप ने वनडे मैचों में वेस्टइंडीज की बल्लेबाजी की चिंताओं के बारे में आईएएनएस से बात की। पेश है बातचीत के कुछ अंश:

प्रश्न: मुख्य कोच फिल सिमंस ने कहा था कि फरवरी में भारत में 3-0 की हार के बाद बल्लेबाजी एक बड़ी चिंता थी और इस पर तत्काल ध्यान देने की जरूरत है। अब एक बार फिर जुलाई में वेस्टइंडीज का सामना वनडे में भारत से होगा। क्या आप अभी भी आगामी तीन मैचों की श्रृंखला से पहले उनकी बल्लेबाजी को चिंता के रूप में देखते हैं?

उत्तर : मुख्य चिंताओं की पहचान करते समय कोच बिल्कुल सही थे। वास्तव में बल्लेबाजी चिंताओं में से एक है। मुझे लगता है कि वेस्टइंडीज पिछली 12 पारियों में से नौ में पहले बल्लेबाजी करते हुए आउट हुई है। उन्होंने अपने 50 ओवरों तक बल्लेबाजी नहीं की है। इसलिए, यह चिंता का विषय बना हुआ है, जहां, आप ध्यान दें, उन्होंने बांग्लादेश के खिलाफ कुछ कठिन पिचों पर बल्लेबाजी की। उन्होंने स्पिन के खिलाफ संघर्ष किया, लेकिन मुख्य रूप से सभी प्रकार की गेंदबाजी उनके लिए संघर्ष भरे रहे हैं।

प्रश्न : आपने अभी वेस्टइंडीज के लिए चिंता के एक या दो क्षेत्रों के बारे में बताया है। क्या आप बता सकते हैं कि वेस्टइंडीज के लिए आप कौन से क्षेत्रों में सुधार देखना चाहते हैं?

उत्तर : विरोधी पार्टी को ऑल आउट करना। उदाहरण के लिए, अकील हुसैन और गुडाकेश मोती के रूप में उनके पास वास्तव में दो अच्छे बाएं हाथ के स्पिनर हैं। अल्जारी जोसेफ के रूप में एक शानदार युवा तेज गेंदबाज है। अब, वे उन सभी को एक साथ कैसे मैनेज करते हैं, यह देखने वाली बात होगी।

आप परिस्थितियों के आधार पर 300 रन को एक मजबूत स्कोर के रूप में देख रहे हैं। आप पावर-प्ले में विकेट चाहते हैं, फिर आप ऐसे खिलाड़ियों को लाते हैं जो बीच के ओवरों में विकेट ले सकें, जहां अल्जारी जोसेफ को आक्रमण के लिए लाते है। इसलिए पूरी पारी में विकेट लेना प्राथमिकता है।

वेस्टइंडीज की इस बल्लेबाजी लाइनअप में महत्वपूर्ण भूमिकाएं हैं कि जब परिस्थितियां परिपक्व होती हैं, तो शाई होप या शमरा ब्रूक्स जैसे बल्लेबाज स्कोर करते हैं।

प्रश्न : कप्तान निकोलस पूरन ने बांग्लादेश से सीरीज हारने के बाद वेस्टइंडीज के बल्ले से ओवरों के अपने पूरे कोटे का इस्तेमाल नहीं कर पाने की बात कही थी। आपको क्या लगता है कि बल्ले से 50 ओवर तक टिक नहीं पाने में वे कहां चूक कर रहे हैं?

उत्तर : यह एक युवा बल्लेबाजी लाइनअप है, इसलिए वे अन्य खिलाड़ियों की तरह अनुभवी नहीं हैं। उनमें से कुछ अभी भी अच्छा खेलना सीख रहे हैं। तो, एक या दो क्षेत्रों से गलतियां आ रही हैं। शाई होप जैसे खिलाड़ी ने 50 ओवर के गेम में अंत तक बल्लेबाजी की है, तो उनकी भूमिका क्या है? जब वह अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हैं तो वह ज्यादातर ओवरों में बल्लेबाजी करने की होती है ताकि दूसरे बल्लेबाज अपना समय ले सकें।

प्रश्न : लंबे समय से भारत के शीर्ष तीन खिलाड़ी में रोहित शर्मा, शिखर धवन और विराट कोहली रहे हैं। क्या आपको लगता है कि वेस्टइंडीज की ओर से वनडे में अपने तीन बेस्ट खिलाड़ियों को खोजने का समय आ गया है?

उत्तर : दक्षिण अफ्रीका के साथ, जैसे उनके पास रॉस्सी वैन डेर डूसन या क्विंटन डी कॉक हैं, जहां उनके पास कुछ विश्व स्तरीय बल्लेबाज हैं। भारत के पास कुछ विश्व स्तरीय बल्लेबाज हैं। लेकिन वेस्टइंडीज, शाई होप को छोड़कर, मुझे लगता है कि उन्हें अभी भी विश्व स्तरीय बल्लेबाजों को खोजने और खिलाड़ियों को आगे बढ़ाने की जरूरत है। अगर आपको उस तरह की गुणवत्ता वाले खिलाड़ी मिलते हैं, तो आप वनडे क्रिकेट में अच्छा कर सकते हैं।

प्रश्न : जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी की गैरमौजूदगी में आप युजवेंद्र चहल और रवींद्र जडेजा के स्पिन विकल्प के रूप में भारत के तेज गेंदबाजों को कैसे देखते हैं?

उत्तर: भले ही प्रसिद्ध कृष्ण इंग्लैंड में केवल दो विकेट लिए हों, लेकिन उन्होंने पिछली बार वेस्टइंडीज के खिलाफ सीरीज में बेहतर प्रदर्शन किया था। जब वेस्टइंडीज भारत में था तब वह सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज थे। मैं आवेश खान को आईपीएल में देखकर उनके साथ जाऊंगा, क्योंकि वह उस हुनर को 50 ओवर के क्रिकेट में ट्रांसफर कर सकते हैं।

फिर, युजवेंद्र चहल हैं, जो शानदार गेंदबाजी कर रहे हैं। वहीं, जडेजा ने भी गेंदबाजी और बल्लेबाजी में शानदार काम करके दिखाया है। भारतीय प्लेइंग इलेवन में अच्छे खिलाड़ी है। डेथ ओवरों में अर्शदीप अच्छा कर सकते हैं, लेकिन हमें नहीं पता कि वह फिट हैं या नहीं। ऑलराउंडर में शार्दुल ठाकुर भी इसमें शामिल हो सकते हैं।

सोर्स: आईएएनएस

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ bhaskarhindi.com की टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.