क्रिकेट का ओवरडोज: पाकिस्तानी दिग्गज का बड़ा बयान, कहा - वनडे क्रिकेट हो चुका है पुराना

July 21st, 2022

हाईलाइट

  • रवि शास्त्री ने भी किया था स्टोक्स का समर्थन

डिजिटल डेस्क, मुंबई। इंग्लैंड और दुनिया के सबसे शानदार ऑलराउंडर्स की सूची मे आने वाले बेन स्टोक्स के वनडे क्रिकेट से संन्यास और उनके बयान से क्रिकेट जगत मे ज्यादा क्रिकेट होने पर बहस छिड़ गई है, जहां एक्सपर्ट्स और दिग्गज खिलाड़ी भी इस बारे में खिलाड़ियों की स्वस्थ की चिंता करते हुए, उनके पक्ष में बाते कर रहे है। इसी कड़ी में अब पूर्व पाकिस्तानी दिग्गज तेज गेंदबाज वसीम अकरम ने इस बारे में अपने विचार दिए है। 

अकरम ने कहा वनडे क्रिकेट को पुराना

एक इंटरव्यू के दौरान वसीम अकरम ने कहा,"मुझे लगता है कि वनडे क्रिकेट खत्म होना चाहिए। इंग्लैंड में स्टेडियम खचाखच भरे होते हैं, लेकिन भारत, पाकिस्तान, श्रीलंका, बांग्लादेश और दक्षिण अफ्रीका में वनडे क्रिकेट में स्टेडियम खाली रहते हैं, सिर्फ नाम के लिए वनडे क्रिकेट कराया जा रहा है। यह प्रारूप अब पुराना हो गया है।" 

स्टोक्स के वनडे मैचों से संन्यास लेने के अपने फैसले के बारे में बात करते हुए अकरम ने कहा, "उनका यह फैसला करना कि वह वनडे क्रिकेट से संन्यास ले रहे हैं , काफी दुखद है... लेकिन मैं उनके साथ हूं। एक कमेंटेटर के तौर पर कहना चाहूंगा कि वनडे क्रिकेट अब खिंच रहा है खासकर टी20 फॉर्मेट आने के बाद, आप खिलाड़ी की दशा समझ सकते हैं 50 ओवर बहुत होते हैं।"

अकरम ने आगे कहा, "टी20 क्रिकेट आसान है। चार घंटे में खेल खत्म हो जाता है। दुनियाभर में इतनी लीग हो रही है और इतना पैसा है। टी20 या टेस्ट क्रिकेट आधुनिक क्रिकेट का हिस्सा है, वनडे क्रिकेट खत्म होने वाला है। अकरम का मानना है कि टेस्ट क्रिकेट अभी भी किसी खिलाड़ी के लिए सर्वोपरि है।"

अंत में उन्होंने कहा, "टेस्ट क्रिकेट में जंग के भीतर जंग है। मेरी पसंद हमेशा से टेस्ट क्रिकेट रहा है। वनडे मजेदार होता था लेकिन टेस्ट क्रिकेट से ही खिलाड़ी की पहचान होती है।"

रवि शास्त्री ने भी किया था स्टोक्स का समर्थन

आपको बता दे कि बेन स्टोक्स ने वनडे क्रिकेट से रिटार्यमेंट के बाद कहा था, "खिलाड़ी कोई गाड़ी नही कि पेट्रोल डाला और शुरु हो जाए।" 

इसके बाद पूर्व भारतीय कोच और खिलाड़ी रवि शास्त्री ने भी बहुत अधिक क्रिकेट होने पर बयान देते हुए कहा था कि बाईलेटरल सीरीज को कम कर फ्रैंचाइजी क्रिकेट को बढ़ावा देना चाहिए।