दैनिक भास्कर हिंदी: Cricket: विराट कोहली की पैटरनिटी लीव पर बोले दिलीप दोषी, देश के लिए खेलने वाले क्रिकेटर के लिए नेशनल ड्यूटी सबसे पहले आती है

December 23rd, 2020

हाईलाइट

  • विराट कोहली की पैटरनिटी लीव पर दिलीप दोषी ने जताई नाराजगी
  • देश के लिए खेलने वाले क्रिकेटर के लिए नेशनल ड्यूटी सबसे पहले आती है-दोषी

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। अपने पहले बच्चे के जन्म के लिए पहले टेस्ट के बाद ऑस्ट्रेलिया दौरे को छोड़ने के विराट कोहली के फैसले की ऑस्ट्रेलिया के स्टीव स्मिथ ने प्रशंसा की थी, लेकिन हर किसी को विराट का यह कदम पसंद नहीं आया। भारत के पूर्व क्रिकेटर दिलीप दोषी ने कहा कि देश के लिए खेलने वाले क्रिकेटर के लिए नेशनल ड्यूटी सबसे पहले आती है। उन्होंने कहा, विराट कोहली को टीम का साथ छोड़कर भारत नहीं लौटना चाहिए था।

मंगलवार को भारत के लिए रवाना हुए विराट
बता दें कि भारतीय कप्तान विराट कोहली मंगलवार को ऑस्ट्रेलिया से भारत के लिए रवाना हुए। कोहली को बीसीसीआई से काफी समय पहले ही पैटरनिटी लीव मिल गई थी। अब शेष बचे तीन टेस्ट मैचों की कमान अजिंक्य रहाणे संभालेंगे। अपनी फ्लाइट की बोर्डिंग से पहले, स्टार बल्लेबाज ने अपने साथियों से मुलाकात की और उन्हें श्रृंखला के बाकी मैचों में अपना सब कुछ देने के लिए प्रोत्साहित किया। भारत को पहले टेस्ट मैच में ऑस्ट्रेलिया से करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा था।

पहले टेस्ट मैच में हारने के बाद भारतीय टीम के ऊपर ख़ासा दबाव है। ऐसे में अजिंक्य रहाणे के लिए भी चीजें आसान नहीं होगी। ऑस्ट्रेलिया में वह पहली बार टीम की कमान संभालेंगे। विराट कोहली के चले जाने से टीम की बल्लेबाजी के ऊपर भी ख़ासा असर पड़ेगा। हालांकि भारतीय टीम में क्षमतावान खिलाड़ी हैं लेकिन विराट कोहली को कोई रिप्लेस नहीं कर सकता। मोहम्मद शमी भी चोट के कारण टीम से बाहर हो गए हैं। ऐसे में गेंदबाजी यूनिट पर भी अतिरिक्त दबाव होगा। बुमराह के कन्धों पर पूरी जिम्मेदारी आ गई है। वहीं अगर रवींद्र जडेजा फिट हो जाते हैं तो उन्हें हनुमा विहारी की जगह बतौर आलराउंडर टीम में शामिल किया जा सकता है।

कौन है दिलीप दोषी?
बता दें कि दिलीप उन चंद प्लेयर्स में से एक हैं जो इंडिया डेब्यू से पहले ही इंटरनेशनल स्टार बन चुके थे। वह किसी भी एरा में भारत के लिए 100 टेस्ट खेलने की काबिलियत रखते थे। लेकिन दुर्भाग्य से वह 70 के दशक में खेले, जब भारत के पास इरापल्ली प्रसन्ना, बिशन सिंह बेदी, भगवत चंद्रशेखर और वेंकटराघवन की चौकड़ी थी। इनसे कोई पार पाए तो खड़े मिलें रजिंदर गोयल, रजिंदर हंस, पद्माकर शिवाल्कर और शिवलाल यादव। सालों तक भारत से लेकर इंग्लैंड तक कई सौ विकेट लेने के बाद आखिरकार दिलीप को इंडिया के लिए खेलने का मौका मिला था। 32 साल की उम्र में डेब्यू करने वाले दिलीप दोषी के नाम 33 टेस्ट मैचों में 114 टेस्ट विकेट हैं। 

खबरें और भी हैं...