दैनिक भास्कर हिंदी: निधन: नहीं रहे टेस्ट मैच में लगातार 21 मेडन ओवर फेंकने वाले बापू नाडकर्णी, क्रिकेट जगत ने जताया शोक

January 18th, 2020

हाईलाइट

  • नाडकर्णी ने 1963-64 में इंग्लैंड के खिलाफ मद्रास (चेन्नई) टेस्ट में लगातार 21 ओवर में मेडन किए थे
  • नाडकर्णी ने भारत के लिए 41 टेस्ट मैट खेले, इस दौरान उन्होंने 1414 रन बनाए और 88 विकेट लिए थे

डिजिटल डेस्क। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व ऑलराउंडर बापू नाडकर्णी का शुक्रवार को 86 साल की उम्र में निधन हो गया। उन्होंने मुंबई स्थित अपनी बेटी के घर पर आखिरी सांसे ली। नाडकर्णी के दामाद विजय खरे ने बताया कि ‘उनका निधन उम्र संबंधी परेशानियों के कारण हुआ। उनके निधन पर क्रिकेट जगत के दिग्गजों ने ट्वीटर पर शोक जताया। नाडकर्णी ने 41 टेस्ट मैचों में भारत का प्रतिनिधित्व किया था। इसके बाद में उन्होंने राष्ट्रीय चयन समिति के सदस्य के रूप में और मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन के सचिव के रूप में भी कार्य किया।

पूर्व क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने ट्वीट कर नाडकर्णी के निधन पर शोक जताया। उन्होंने ट्वीट कर लिखा, ‘श्री बापू नाडकर्णी के निधन के बारे में सुनकर बहुत दुख हुआ। मैं टेस्ट में उनके लगातार 21 मेडन के रिकॉर्ड को सुनकर बड़ा हुआ हूं। उनके परिवार और प्रियजनों के प्रति मेरी संवेदना है।

पूर्व क्रिकेटर वीवीएस लक्ष्मण ने ट्वीट कर लिखा, बापू नाडकर्णी सर के निधन पर उनके परिवार और दोस्तों के प्रति संवेदना। उनकी आत्मा को शांति मिले। 

पूर्व ऑलराउंडर मोहम्मद कैफ ने ट्वीट कर लिखा, 32-27-5-0 के साथ 21 लगातार मेडन करने वाले अद्भुत बापू नाडकर्णी जी के निधन पर उनके परिवार और प्रियजनों के प्रति संवेदना।

टेस्ट में लगातार 21 ओवर मेडन फेंकने का रिकॉर्ड
नाडकर्णी टेस्ट में लगातार 21 ओवर मेडन करने के रिकॉर्ड के लिए जाने जाते हैं। उन्होंने 1963-64 में इंग्लैंड के खिलाफ मद्रास (चेन्नई) टेस्ट में लगातार 21 ओवर में मेडन किए थे। तब उन्होंने उस मैच में 32 ओवर फेंके थे और सिर्फ 5 रन दिए थे। उस दौरान मैच में उन्होंने कुल 27 ओवर मेडन डाले थे, हालांकि उन्हें कोई सफलता नहीं मिली थी। उन्हें किफायती गेंदबाजी करने के लिये जाना जाता था।

नाडकर्णी ने 1960-61 में कानपुर में पाकिस्तान के खिलाफ हुए मैच में 32 ओवर में से 24 ओवर मेडन डाले थे और सिर्फ 23 रन दिए थे। वहीं दिल्ली में उसी सीरीज के अन्य मैच में 34 ओवर में से 24 मेडन फेंके थे और 24 रन देकर 1 विकेट लिया था।

भारत के लिए 41 टेस्ट मैट खेले
नाडकर्णी ने 1955 में न्यूजीलैंड के खिलाफ दिल्ली टेस्ट में डेब्यू किया था। वहीं, आखिरी मैच ऑकलैंड में न्यूजीलैंड के खिलाफ ही 1968 में खेला था। नाडकर्णी बाएं हाथ के बल्लेबाज और बाएं हाथ के स्पिनर थे। उन्होंने भारत के लिए 41 टेस्ट मैट खेले। इस दौरान उन्होंने 1414 रन बनाए और 88 विकेट लिए। उनका बेस्ट प्रदर्शन 43 रन पर 6 विकेट का था। वह मुंबई के टॉप क्रिकेटरों में शामिल थे। उन्होंने मुंबई के लिए 191 फर्स्ट क्लास मैच खेले। इस दौरान उन्होंने  8880 रन बनाए और 500 विकेट अपने नाम किए थे।

 

खबरें और भी हैं...