दैनिक भास्कर हिंदी: IPL-13: जीत के बाद रोहित ने कहा, हम पहली बॉल से गेम में थे, पीछे मुड़कर नहीं देखा 

November 11th, 2020

हाईलाइट

  • IPL-13 के फाइनल मैच में दिल्ली को 5 विकेट से हराकर मुंबई ने रिकॉर्ड 5वीं बार खिताब अपने नाम किया
  • जीत के बाद कप्तान रोहित ने कहा, उनकी टीम पहली गेंद से मैच में थी और वहां से उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा

डिजिटल डेस्क, दुबई। इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के 13वें सीजन के फाइनल मैच में दिल्ली कैपिटल्स को 5 विकेट से हराकर मुंबई इंडियंस ने रिकॉर्ड 5वीं बार खिताब अपने नाम किया। रोहित शर्मा की कप्तानी में मुंबई ने 6वीं बार फाइनल खेला। मुंबई ने इससे पहले 4 बार (2013, 2015, 2017, 2019) में IPL का खिताब जीता था। जीत के बाद कप्तान रोहित शर्मा ने कहा कि, उनकी टीम पहली बॉल से मैच में थी और वहां से उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। ट्रेंट बाउल्ट ने मैच की पहली ही बॉल पर दिल्ली के मार्कस स्टोयनिस को पवेलियन भेज दिया। दिल्ली शुरुआती झटकों से अच्छी तरह उबर नहीं सकी और 20 ओवरों में सात विकेट खोकर 156 रन ही बना पाई। मुंबई ने रोहित की 68 रनों की पारी के दम पर यह लक्ष्य 18.4 ओवरों में पांच विकेट खोकर हासिल कर लिया।

मैच के बाद रोहित ने कहा, पूरे सीजन जिस तरह से चीजें रहीं उससे मैं काफी खुश हूं। हमने शुरू में कहा था कि हम जीत को एक आदत बनाने चाहते हैं और आप इससे ज्यादा कुछ नहीं मांग सकते। हम पहली ही बॉल से आगे थे और हमने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। रोहित ने टीम की सफलता का श्रेय उन लोगों को भी दिया जिन्होंने पर्दे के पीछे काम किया। दाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने कहा, काफी सारा श्रेय उन लोगों को भी जाता है जिन्होंने पर्दे के पीछे काम किया। हमारा काम IPL की शुरुआत से काफी पहले शुरू हो जाता है। हम विश्लेषण करते हैं कि क्या गलती हुई, कहां सुधार करने की जरूरत है।

मैं वो कप्तान नहीं हूं जो किसी के पीछे डंडा लेकर भागूं
अपनी कप्तानी को लेकर रोहित ने कहा, आपको शांत रहने के लिए सही संतुलन चाहिए होता है। मैं वो कप्तान नहीं हूं जो किसी के पीछे डंडा लेकर भागूं। आप खिलाड़ियों को आत्मविश्वास देकर ही बेहतर कर सकते हैं। अगर आप हमारी बल्लेबाजी देखेंगे तो हमारे पास केरन पोलार्ड, हार्दिक पांड्या और क्रुणाल पांड्या हैं, हमने उन्हें पूरे सीजन रोटेट किया। हमारी बॉलबाजी में भी इसी तरह की गहराई है।

इस मैच में रोहित ने टीम में लगातार खेलते आ रहे लेग स्पिनर राहुल चहर को बाहर रख ऑफ स्पिनर जयंत यादव को मौका दिया। रोहित ने इस पर कहा, चहर का बाहर जाना दुर्भाग्यपूर्ण, लेकिन रणनीतिक तौर पर हमें जयंत चाहिए थे। जब आप अपनी अंतिम-11 में बदलाव करते हो तो आप उसे बेहतर ही बनाना चाहते हो। आपको यह करना चाहिए वो भी बिना किसी के आत्मविश्वास को कमजोर करते हुए।

रोहित ने प्रशंसकों का शुक्रिया अदा करते हुए कहा, हमने प्रशंसकों के बिना खेलने की कोशिश की, दुर्भाग्यवश वो यहां नहीं थे, लेकिन उनका समर्थन काफी मायने रखता है। प्रशंसक इस गेम को हमारे लिए खास बनाते हैं। वानखेड़े में खेलना मिस किया।

खबरें और भी हैं...