comScore

IPL-13 SOP: टूर्नामेंट में हर 5वें दिन खिलाड़ियों और स्टाफ मेंबर्स का कोरोना टेस्ट होगा

IPL-13 SOP: टूर्नामेंट में हर 5वें दिन खिलाड़ियों और स्टाफ मेंबर्स का कोरोना टेस्ट होगा

हाईलाइट

  • फ्रेंचाइजी की मंजूरी के बाद खिलाड़ी परिवार को साथ ले जा सकते हैं, लेकिन सभी को बायो-सिक्योर माहौल में रहना होगा
  • IPL 19 सितंबर से 10 नवंबर तक यूएई में होगा, टूर्नामेंट में हर 5वें दिन खिलाड़ियों और स्टाफ का कोरोना टेस्ट होगा

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। IPL की फ्रेंचाइजियों को मानक संचालन प्रक्रिया (SOP) सौंप दी गई है और यह साफ कर दिया गया है कि सोशल डिस्टेंसिंग का लीग के 13वें सीजन में खास ख्याल रखा जाएगा। एक मार्च से टीम के सभी खिलाड़ियों और सपोर्ट स्टाफ की मेडिकल हिस्ट्री की जांच होगी। साथ ही टीमों को किसी तरह की संयुक्त गतिविधि में शामिल होने की मनाही है, जैसे साथ में खाना-खाना।

टूर्नामेंट के हर पांचवें दिन टेस्ट किया जाएगा
SOP में टीमों को साफ कर दिया है कि, जब वह यूएई में पहुंचेगी तो यह सुनिश्चित करना होगा कि किसी भी स्थिति में कोई भी बायो बबल को तोड़े नहीं। इसकी शुरुआत दो कोविड-19 टेस्ट से होगी। यूएई जाने से पहले सभी भारतीय खिलाड़ियों के 2 कोविड-19 टेस्ट होना जरूरी है। यूएई में अपने स्थल पर पहुंचने के बाद अगर किसी को बायो बबल तोड़ते पाया गया तो उसे सजा दी जाएगी। यूएई पहुंचने के बाद पहले, तीसरे और छठे दिन टेस्ट होंगे। इसके बाद टूर्नामेंट के हर पांचवें दिन टेस्ट किया जाएंगे।

बायो-सिक्योर नियम तोड़ने पर मिलेगी सजा
टीमें चार्टड विमान के जरिए यूएई जाएंगी और रुकने के लिए होटलों की व्यवस्था पहले ही कर ली गई है। SOP में भी कहा गया है कि, टीमें चार्टड विमान में जाएं और अलग-अलग होटल बुक करें। जहां तक परिवारों की बात है तो यह साफ कर दिया गया है कि परिवार फ्रेंचाइजी द्वारा बनाए गए बायो बबल में से बाहर नहीं जाएंगे। साथ ही वह खिलाड़ियों के साथ सफर नहीं कर सकते और ड्रेसिंग रूम में नहीं जा सकते।

कमेंट करें
LHxgj