• Dainik Bhaskar Hindi
  • Cricket
  • IPL 2020: CSK skipper MS Dhoni said, We have been a bit too relaxed at times, We tried to kill game in the 19th over, says David Warner

दैनिक भास्कर हिंदी: IPL-13: हैदराबाद के खिलाफ हार के बाद धोनी ने कहा, मैं गेंद को बल्ले के बीचों बीच नहीं ले पा रहा था

October 3rd, 2020

हाईलाइट

  • IPL में शुक्रवार को सनराइजर्स हैदराबाद ने चेन्नई सुपर किंग्स को 7 रन से हराया
  • हार के बाद धोनी ने कहा, मैं गेंद को बल्ले के बीचों बीच नहीं ले पा रहा था
  • धोनी ने कहा, हमें कैच पकड़ने होंगे, नो बॉल नहीं फेंकनी होंगी

डिजिटल डेस्क, दुबई। इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में शुक्रवार को सनराइजर्स हैदराबाद (SRH) ने चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) को 7 रन से हराया। IPL-13 में चेन्नई की यह लगातार तीसरी हार है। मैच में धोनी अंत तक खड़े रहे, लेकिन नाबाद 47 रन बनाने के बाद भी टीम को जीत नहीं दिला पाए। वो भी तब जब आखिरी ओवर एक युवा गेंदबाज अनुभवहीन अब्दुल समद के पास था। मैच हारने के बाद धोनी ने कहा कि वह गेंद को बल्ले के बीचों बीच नहीं ले पा रहे थे। इस बीच धोनी को थकान के कारण काफी परेशान होते हुए भी देखा गया था।

गेंदों को बल्ले के बीचों बीच नहीं ले पा रहा था: धोनी
धोनी ने कहा, मैं काफी गेंदों को बल्ले के बीचों बीच नहीं ले पा रहा था, शायद गेंद को ज्यादा जोर से मारने की कोशिश कर रहा था। मैदान को देखते हुए यह दिमाग में चल रहा था। अपनी तबीयत को लेकर धोनी ने कहा, मैं ठीक हूं। इस तरह की परिस्थितियों में गला सूखता है। चेन्नई ने सीजन की शुरुआत मुंबई इंडियंस के खिलाफ मिली जीत के साथ की थी, लेकिन इसके बाद वह लगातार तीन मैच हार गई है और यह 2014 के बाद से पहली बार हुआ है कि चेन्नई लगातार तीन मैच हारी है।

हमें कैच पकड़ने होंगे, नो बॉल नहीं फेंकनी होंगी
इस पर धोनी ने कहा, काफी पहले हम लगातार तीन मैच हारे थे, हमें कैच पकड़ने होंगे, नो बॉल नहीं फेंकनी होंगी। कई बार हम ज्यादा ढीले हो जाते हैं। हमारे दो ओवर अच्छे गए लेकिन कुल मिलाकर हम कुछ और बेहतर कर सकते थे। कोई भी कैच छोड़ना नहीं चाहता, लेकिन इस स्तर पर आपको देखना होगा कि इस तरह के कैच लिए जाएं।

मुझे समद पर भरोसा था: डेविड वॉर्नर 
वहीं डेविड वॉर्नर ने उस समय सभी को हैरानी में डाल दिया जब उन्होंने इस मैच में युवा लेग स्पिनर अब्दुल समद को धोनी के सामने आखिरी ओवर दिया। मैच के बाद वॉर्नर ने अपने फैसले पर कहा कि उनको समद पर भरोसा था। 19वें ओवर की दूसरी गेंद फेंकते हुए भुवनेश्वर कुमार चोटिल हो गए थे। इस कारण यह ओवर खलील अहमद ने पूरा किया और आखिरी ओवर समद के हिस्से आया। 

मेरे पास समद के अलावा विकल्प भी नहीं था
वॉर्नर ने कहा, मैंने समद का साथ दिया। मेरे पास विकल्प भी नहीं थे। खलील ने पांच गेंदें फेंकी। हमारी कोशिश उसी ओवर में मैच खत्म करने की थी। अभिषेक शर्मा को ओवर दे सकता था, लेकिन समद की लंबाई और जिस तरह की वो गेंदबाजी कर रहे थे उसी कारण मैं उनके साथ गया। इस मैच में हैदराबाद को सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाने में दो युवा खिलाड़ियों प्रियम गर्ग और अभिषेक का हाथ रहा। इन दोनों ने 77 रनों की साझेदारी कर टीम को मुश्किल स्थिति में से निकाला और ऐसा स्कोर दिया जिसका टीम बचाव करने में सक्षम थी।

हमारे युवा खिलाड़ी अच्छा कर रहे हैं यह देखकर खुश हूं
युवाओं को लेकर वॉर्नर ने कहा, हमारे खिलाड़ी अच्छा कर रहे हैं यह देखकर खुश हूं। मैंने इन युवाओं को यही संदेश है कि अपना खेल खेलो। यह उनके लिए मुश्किल होने वाला है। मैंने उनसे पूछा था कि एक अच्छा स्कोर क्या होगा। उन्होंने कहा कि 150, लेकिन हम 160-170 के बीच में पहुंचे। बता दें कि मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए हैदराबाद ने 20 ओवर में 5 विकेट पर 164 रन बनाए थे। इसके बाद लक्ष्य का पीछा करने उतरी चेन्नई 20 ओवर में 5 विकेट पर 157 रन ही बना पाई और मैच हार गई। 
 

खबरें और भी हैं...