comScore

MI vs CSK IPL-2020 : रायडू और डु प्लेसिस ने दिलाई चेन्नई को जीत, ओपनिंग मैच में मुंबई को 5 विकेट से हराया

September 20th, 2020 10:21 IST

हाईलाइट

  • मुंबई इंडियंस ने 9 विकेट पर 162 बनाए, सौरभ के बाद क्विंटन डिकॉक ने 33 रन की पारी खेली
  • दोनों टीमों के बीच अब तक हुए 4 ओपनिंग मैच में से 2 मुंबई इंडियंस और 2 सीएसके जीती

डिजिटल डेस्क, अबु धाबी। अंबाती रायडू (71) और फाफ डु प्लेसिस (58) के बेहतरीन अर्धशतकों की मदद से चेन्नई सुपरकिंग्स (CSK) ने शनिवार को इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के 13वें सीजन के ओपनिंग मैच में मुंबई इंडियंस (MI) को 5 विकेट से हरा दिया। अबु धाबी के शेख जायद स्टेडियम में खेले गए मैच में टॉस हारकर पहले खेलने मुंबई इंडियंस की टीम ने 20 ओवर में 9 विकेट गंवाकर 162 रन बनाए। इसके जवाब में चेन्नई की टीम ने चार गेंद शेष रहते 19.2 ओवर में 5 विकेट गंवाकर 166 रन बनाए और मैच अपने नाम कर लिया। चेन्नई ने आईपीएल के ओपनिंग मैच में डिफेंडिंग चैम्पियन मुंबई को दूसरी बार शिकस्त दी है। इस जीत के साथ धोनी सेना ने मुंबई के खिलाफ लगातार पांच हार के सिलसिले को भी तोड़ा।

163 रन के टारगेट का पीछा करने उतरी महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी वाली सीएसके की शुरुआत बेहद खराब रही थी। टीम ने शुरुआती 2 ओवर में ही दो विकेट गंवा दिए थे। पारी को अंबाती रायडू (71) और फाफ डु प्लेसिस (58) ने संभाला और तीसरे विकेट के लिए 115 रन की पार्टनरशिप की। इस जीत के साथ सीएसके 2 पॉइंट्स हासिल कर टैली में टॉप पर है। मुंबई इंडियंस के ट्रेंट बोल्ट, जेम्स पैटिंसन, जसप्रीत बुमराह, क्रुणाल पंड्या और राहुल चाहर ने 1-1 विकेट लिया।

चेन्नई ने मुंबई के मजबूत बल्लेबाजी क्रम को सस्ते में को रोका
मौजूदा विजेता मुंबई इंडियंस का मजबूत बल्लेबाजी क्रम आईपीएल-13 के पहले मैच में रविवार को चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ बड़ा स्कोर खड़ा नहीं कर पाया। मुंबई ने काफी कोशिश के बाद 20 ओवरों में नौ विकेट खोकर 162 रनों का सम्मानजनक स्कोर खड़ा किया है। अच्छी शुरुआत के बाद उम्मीद थी की मुंबई बड़ा स्कोर करेगी लेकिन अंत में केरन पोलार्ड भी फ्लॉप रहे और हार्दिक पांड्या भी।

टॉस हारकर बल्लेबाजी करने उतरी मुंबई को कप्तान रोहित शर्मा और क्विंटन डी कॉक की सलामी जोड़ी ने दमदार शुरुआत दी और चार ओवरों में 45 रन जोड़े। पांचवें ओवर में डी कॉक ने एक रन लेकर रोहित को स्ट्राइक दी। रोहित ने लेग स्पिनर पीयूष चावला की गेंद पर मिड ऑफ के ऊपर से मारने की कोशिश की लेकिन सैम कुरैन के हाथों लपके गए। रोहित ने महज 12 रन बनाए। इन्हीं कुरैन ने अगले ओवर में डी कॉक की पारी का अंत कर दिया। डी कॉक ने 20 गेंदों पर पांच चौकों की मदद से 33 रन बनाए। मुंबई का स्कोर 48 रनों पर दो विकेट था। सूर्यकुमार यादव (17) और सौरव तिवारी (42) टीम को आगे ले जाने की कोशिश कर रहे थे और टीम का स्कोर 92 पर पहुंचा दिया। इस साझेदारी को दीपक चहर ने पनपने नहीं दिया और यादव को आउट कर दिया।

रवींद्र जडेजा ने तिवारी को अर्धशतक पूरा नहीं करने दिया और 121 के कुल स्कोर पर उन्हें फाफ डु प्लेसिस के हाथों कैच कराया। तिवारी ने 31 गेंदों पर तीन चौके और एक छक्का लगाया। जडेजा और डु प्लेसिस की जोड़ी ने ही हार्दिक पांड्या (14) को पवेलियन भेज दिया। यहां डु प्लेसिस ने शानदार कैच पकड़ा। पांड्या का विकेट 124 के कुल स्कोर पर गिरा। उनके भाई क्रूणाल पांड्या (3) लुंगी नगिदी की गेंद पर विकेट के पीछे धोनी के हाथों लपके गए।

चेन्नई को अब सिर्फ केरन पोलार्ड का डर था और नगिदी ने उन्हें भी धोनी के हाथों कैच करा दिया। पोलार्ड ने 18 रन बनाए। जेम्स पैटिनसन नगिदी का अगला शिकार बने। 11 रन बनाने वाले पैटिनसन 156 के कुल स्कोर पर मुंबई के आठवें विकेट के रूप में आउट हुए। नगिदी ने पोलार्ड और पैटिनसन को 19वें ओवर में ही आउट किया। चाहर ने ट्रैंट बाउल्ट को आखिरी ओवर में पवेलियन भेज मुंबई को नौवां झटका दिया। चेन्नई के लिए नगिदी ने तीन विकेट लिए। चाहर और जडेजा के हिस्से दो-दो विकेट आए। कुरैन और चावला को एक-एक सफलता मिली।

मैच की झलकियां:-

कप्तान धोनी ने CSK को दिलाई 100वीं जीत
धोनी की कप्तानी में यह चेन्नई सुपरकिंग्स की 100वीं जीत थी। इस तरह माही आईपीएल में किसी एक टीम को 100 मैच जीताने वाले पहले कप्तान बन गए।

आखिरी ओवर में पांच रन चाहिए
आखिरी छह गेंदों में चेन्नई को जीत के लिए पांच रन चाहिए। बुमराह की पांचवीं गेंद पर धोनी अंपायर द्वारा विकेट के पीछे आउट दे दिए गए थे, लेकिन डीआरएस माही के पक्ष में गया। 

बुमराह ने करन को आउट किया
बुमराह की दूसरी गेंद पर पैटिंसन ने जबरदस्त कैच लपका।

चेन्नई का चौथा विकेट गिरा
रवींद्र जडेजा 10 रन के स्कोर पर क्रुणाल पांड्या ने निपटाया। क्रुणाल पांड्या ने 18वें ओवर में जडेजा का विकेट जरूर लिया, लेकिन 13 रन भी लुटा दिए। 

रायुडू 71 रन बनाकर आउट
आखिरकार मुंबई इंडियंस को वह सफलता मिल ही गई, जिसका उसे बेसब्री से इंतजार था। राहुल चाहर ने अपनी ही गेंद पर रायुडू को लपका।

IPL 2020 की पहली फिफ्टी रायुडू के नाम
सुरेश रैना की गैरहाजिरी में अंबाती रायुडू चेन्नई के लिए अहम भूमिका निभाते हुए। 11वें ओवर की पांचवीं गेंद पर बुमराह को चौका मारते हुए रायुडू ने 33 गेंदों में 51 रन पूरे किए।


चेन्नई सुपरकिंग्स के दोनों सलामी बल्लेबाज पवेलियन लौटे। दूसरे ओवर की आखिरी गेंद पर जेम्स पैंटिसन ने मुरली विजय को पगबाधा आउट किया। सात गेंदों में एक रन बनाने वाले विजय अगर डीआरएस लेते तो शायद बच जाते, क्योंकि गेंद लेग स्टंप से बाहर निकल रही थी।

पहले ओवर में ही CSK को पहला झटका
सलामी बल्लेबाज शेन वॉटसन के रूप में चेन्नई सुपरकिंग्स को पहला झटका। लेफ्ट आर्म तूफानी पेसर ट्रेंट बोल्ट ने शेन वॉटसन को LBW आउट किया। पांच गेंदों में चार रन बनाकर ऑस्ट्रेलियाई ऑलराउंडर आउट हुए। 1 ओवर के बाद चेन्नई का स्कोर: 6/1. मुरली विजय (1) और फाफ डुप्लेसिस (0)

मुंबई ने चेन्नई को 163 रन का टारगेट दिया।

19 ओवर में स्कोर 156/8
लुंगी एनगिडी ने पहली गेंद पर पोलार्ड को तो इसी ओवर की पांचवीं गेंद पर पैटिंसन को चलता किया। 

मुंबई का छठा विकेट गिरा
16 ओवर में पांच विकेट के नुकसान पर 136 रन के बाद जैसे ही दोबारा खेल शुरू हुआ, लुंगी एनगिडी ने चेन्नई को छठी सफलता दिलाई। विकेट के पीछे धोनी ने क्रुणाल पांड्या को लपका। 

सौरभ तिवारी की ही तरह हार्दिक पांड्या भी आउट। वही गेंदबाज, वही फिल्डर, वही शॉट और वही अंजाम। छक्के के लिए जाती हुई गेंद को उछलकर बेहतरीन अंदाज में रोकना और फिर लपकना कोई फाफ से सीखे। हार्दिक 10 गेंदों में दो छक्के की मदद से 14 रन बनाकर आउट

सौरभ तिवारी अर्धशतक से चूके
रवींद्र जडेजा ने दिलाई चेन्नई को अहम सफलता। तोड़ी मुंबई इंडियंस की साझेदारी। सौरभ तिवारी को बाउंड्री पर फाफ डुप्लेसिस के हाथों लपकवाया। छक्का मारने के प्रयास में तिवारी 42 रन बनाकर आउट हुए। 14.1 ओवर के बाद मुंबई का स्कोर: 121/3 हार्दिक पांड्या (13) 

सूर्यकुमार यादव 17 रन बनाकर आउट
तीसरे विकेट के लिए सूर्यकुमार यादव (17) और सौरभ तिवारी (26) के बीच 44 रन की साझेदारी का अंत हुआ। 11 ओवर के बाद मुंबई का स्कोर: 92/3

Image

चार गेंदों में मुंबई के दो विकेट गिरे
चौथे ओवर की चौथी गेंद पर रोहित शर्मा के आउट होने के बाद पांचवें ओवर की पहली ही गेंद पर मुंबई को दूसरा झटका लगा। अपने पहले ही ओवर में सैम करन ने दूसरे सलामी बल्लेबाज क्विंटन डीकॉक को लौटाया। रोहित का कैच भी करन ने ही लपका था। शॉर्ट ऑफ अ लैंथ गेंद को मारने के चक्कर में डीकॉक धीमी गेंद पर गच्चा आ गए, उनका कैच वॉटसन ने लपका। आउट होने से पहले इस सलामी बल्लेबाज ने 20 गेंदों में 33 रन बनाए। 

रोहित शर्मा आउट
आखिरकार चेन्नई सुपरकिंग्स को पहली सफलता मिली। सीएसके के लिए पहला सीजन खेल रहे लेग स्पिनर पीयूष चावला ने अपने पहले ही ओवर में विरोधी कप्तान रोहित शर्मा को चलता किया। चावला की बेहद धीमी पर रोहित ने सैम करन को अपना कैच दे दिया।

चौके से IPL 2020 का आगाज
टॉस गंवाकर पहले बल्लेबाजी करने पहुंची मुंबई इंडियंस को कप्तान रोहित शर्मा ने शानदार शुरुआत दिलाई। दीपक चाहर की आउट स्विंगर गेंद पर हिटमैन ने कवर औऱ पाइंट के बीच में शानदार चौका जमाया। 

धोनी ने कहा- इस बार सेट अप नया है
टॉस के बाद धोनी ने सोशल डिस्टेंसिंग पर मजाकिया अंदाज में कहा कि हम ये जानना चाहते थे कि स्लिप में फील्डर रख पाएंगे या नहीं। इस बार का सेट अप नया है। आइसोलेशन से लेकर प्रैक्टिस तक सबसे बहुत इंजॉय किया। टीम पूरी तरह से तैयार है। वहीं रोहित शर्मा ने पिछली बार की तुलना में इस बार यूएई में हम लगभग नई टीम के साथ खेल रहे हैं। ऐसे में हमें उम्मीद है कि यहां हमारा रिकॉर्ड सुधरेगा।

चैन्नई ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला लिया है। 

हेड टू हेड
दोनों टीमों के बीच IPL में अब तक 28 मैच हुए हैं। जिसमें से मुंबई ने 17 और चेन्नई ने 11 जीते हैं। चार बार की चैंपियन मुंबई ने लीग में चेन्नई को सबसे ज्यादा मैच हराए हैं। मुंबई IPL की सबसे सफल टीम है। रोहित शर्मा की कप्तानी में मुंबई ने चार बार 2013, 2015, 2017 और 2019 में लीग का खिताब जीता है। जबकि मुंबई लीग के सबसे ज्यादा 5 फाइनल खेलने वाली दूसरी टीम है। वहीं धोनी की कप्तानी वाली चेन्नई ने लीग के सबसे ज्यादा 8 फाइनल खेले हैं और 3 बार खिताब (2010, 2011, 2018) अपने नाम किया है।

टीमें :
मुंबई इंडियंस :
रोहित शर्मा (कप्तान), क्विंटन डी कॉक (विकेटकीपर), सूर्यकुमार यादव, सौरभ तिवारी, कीरोन पोलार्ड, हार्दिक पांड्या, क्रुणाल पांड्या, जेम्स पैटिंसन, राहुल चाहर, ट्रेंट बोल्ट, जसप्रीत बुमराह।

चेन्नई सुपर किंग्स : शेन वॉटसन, मुरली विजय, फाफ डु प्लेसिस, अंबाती रायडू, महेंद्र सिंह धोनी (कप्तान, विकेटकीपर), केदार जाधव, रवींद्र जडेजा, पीयूष चावला, दीपक चाहर, सैम कुरैन, लुंगी एनगिदी।

कमेंट करें
YteVB
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।