comScore

बयान: धोनी ने बताया, बैटिंग करने के लिए नंबर 7 पर क्यों आए? हार के लिए नो बॉल को बताया जिम्मेदार

बयान: धोनी ने बताया, बैटिंग करने के लिए नंबर 7 पर क्यों आए? हार के लिए नो बॉल को बताया जिम्मेदार

हाईलाइट

  • राजस्थान रॉयल्स ने मंगलवार को चेन्नई सुपर किंग्स पर 16 रनों की जीत दर्ज की
  • कप्तान एमएस धोनी ने अंतिम ओवर में तीन बैक-टू-बैक छक्के मारे
  • प्रशंसकों ने आश्चर्य व्यक्त किया कि धोनी बैटिंग करने के लिए नंबर 7 पर क्यों आए?

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। राजस्थान रॉयल्स ने मंगलवार को चेन्नई सुपर किंग्स पर 16 रनों की जीत दर्ज की। इस दौरान सीएसके के कप्तान एमएस धोनी ने अंतिम ओवर में तीन बैक-टू-बैक छक्के मारे। उनके शॉट में इतनी तेज ताकत थी कि एक बॉल शारजाह स्टेडियम के बाहर जाकर गिरी। ऐसे में उनके प्रशंसकों और विशेषज्ञों ने आश्चर्य व्यक्त किया कि धोनी बैटिंग करने के लिए नंबर 7 पर क्यों आए?

जब मैच के बाद प्रजेंटेशन सेरेमनी में उनसे इस बारे में पूछा गया, तो कप्तान ने खुलासा किया कि उन्होंने खुद को प्रमोट नहीं किया क्योंकि  उन्होंने कुछ समय में बल्लेबाजी नहीं की थी। धोनी ने कहा, इसके साथ ही हम विभिन्न चीजों को आजमाना चाहता थे। यदि यह काम नहीं करता है, तो आप हमेशा अपनी स्ट्रेंथ पर वापस जा सकते हैं। 

टीम को मिली हार को लेकर महेंद्र सिंह धोनी ने कहा कि टीम को नो बॉल फेंकने का खामियाजा भुगतना पड़ा। राजस्थान रॉयल्स ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवरों में सात विकेट के नुकसान पर 216 रन बनाए। चेन्नई पूरे ओवर खेलने के बाद 200 रन ही बना सकी। चेन्नई ने पूरे मैच में तीन नो बॉल फेंकी जिसमें से दो नो बाल लुंगी नगिदी ने आखिरी ओवर में फेंकी जिन पर दो छक्के पड़े।

धोनी मैच के बाद कहा, उनके स्पिनरों ने ज्यादा कुछ अलग करने की कोशिश नहीं की, लेकिन हमारे स्पिनरों ने शुरुआती ओवरों में ऐसा नहीं किया। किसी एक को कुछ न कहते हुए मेरा कहना है कि हम नियंत्रण कर सकते थे। हम नो बॉल पर नियंत्रण कर सकते थे। अगर हमने नो बॉल नहीं फेंकी होती तो हम 200 रनों का पीछा कर रहे होते और यह एक अच्छा मैच होता। 217 रनों के लक्ष्य के पीछा करने उतरी चेन्नई के लिए किसी का बल्ला चला तो वो था फाफ डु प्लेसिस का। फाफ ने 37 गेंदों पर सात छक्के और एक चौके की मदद से 72 रनों की पारी खेली।

धोनी ने फाफ की तारीफ करते हुए कहा, फाफ ने शानदार बल्लेबाजी की। अहम चीज स्थिति के साथ तालमेल बिठाना है। जब स्पिनर छोटी गेंद कर रहे थे जरूरी था कि मिड ऑन के ऊपर से मारा जाए न कि स्कावयर लेग के क्योंकि गेंद नीची रह रही थी। मुझे लगता है कि फाफा ने यही किया। धोनी ने कहा कि राजस्थान के गेंदबाजों को भी श्रेय देना चाहिए। उन्होंने कहा, आपको उनके गेंदबाजों को श्रेय देना होगा। काफी सारी ओस थी। वो जानते थे कि किस लैंग्थ पर गेंदबाजी करनी है।
 

कमेंट करें
kI0Bn