comScore

India Vs SA : क्रिकेट पर भी कोरोनावायरस का साया, तीन मैचों की सीरीज का दूसरा और तीसरा वनडे रद्द

India Vs SA : क्रिकेट पर भी कोरोनावायरस का साया, तीन मैचों की सीरीज का दूसरा और तीसरा वनडे रद्द

हाईलाइट

  • भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच दूसरा और तीसरा वनडे रद्द
  • पहला एकदिवसीय मैच भी बारिश के कारण नहीं हो सका था

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। कोरोनोवायरस के चलते भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच होने वाले दूसरे और तीसरे वनडे को रद्द कर दिया गया है। 15 मार्च और 18 मार्च को ये मैच होने थे। इससे पहले इन दोनों वनडे को दर्शकों के बिना खेले जाने का फैसला किया गया था। तीन मैचों की श्रृंखला का पहला गेम भी धर्मशाला में बारिश के कारण रद्द हो गया था।दक्षिण अफ्रीकी टीम अब दिल्ली आएगी और जल्द से जल्द उपलब्ध फ्लाइट से वापस अपने देश रवाना हो जाएगी।

IPL के भी शेड्यूल में बदलाव
इससे पहले कोरोनावायरस के चलते इंडियन प्रीमियर लीग को भी मिड अप्रैल तक स्थगित कर दिया गया है। पहले ये 29 मार्च से शुरू होने वाला था। फ्रेंचाइजियों को भी इसकी जानकारी दे दी गई है। बीसीसीआई के एक अधिकारी ने कहा कि टूर्नामेंट को आयोजित कराने का सबसे सही तरीका यही है कि इसे 15 अप्रैल से शुरू किया जाए। वहीं फ्रेंचाइजी के एक अधिकारी ने कहा, 'हां, हमें बता दिया गया है कि आईपीएल अब 15 अप्रैल से शुरू होगा, लेकिन हमें विदेशी खिलाड़ियों की उपलब्धता को लेकर सफाई चाहते हैं। अगर हमारे चार विदेशी खिलाड़ी नहीं होंगे तो आईपीएल अपना वर्चस्व खो देगा क्योंकि भारतीय सितारों की तरह ही वह भी हमारी टीम का अहम हिस्सा हैं।

एक अन्य अधिकारी ने कहा, हमने अपनी टीम चार विदेशी खिलाड़ियों को ध्यान में रखकर बनाई है। अगर यह लीग भी बिना विदेशी खिलाड़ियों के खेली जाती है तो यह सैयद मुश्ताक अली, विजय हजारे ट्रॉफी की तरह ही घरेलू टूर्नामेंट बन जाएगा। इस लीग के वर्चस्व को बरकरार रखने के लिए जरूरी है कि विदेशी खिलाड़ी इसमें हों। जब यह बात आती है तो किसी तरह से विचारों में भिन्नता नहीं है। इस समय बिना दर्शकों के लीग को आयोजित करना सबसे सही विकल्प है ना कि स्थागन।

कोरोनावायरस से 5000 से ज्यादा लोगों की मौत
बता दें कि दुनिया भर में फैल रहे कोरोनावायरस की वजह से मौत का आकंड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है। अब तक 5,050 लोग इस वायरस की चपेट में आकर अपनी जान गवा चुके हैं। वहीं संक्रमित लोगों की संख्या एक लाख 35 हजार से ज्यादा हो गई है। इस वायरस की अभी तक कोई वैक्सीन नहीं बन पाई है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इसे महामारी घोषित कर दिया है। 

कमेंट करें
8ksib