आईपीएल 2022: पंजाब किंग्स को थोड़ा रक्षात्मक क्रिकेट खेलने की जरुरत!, अपनी पुरानी फ्रैंचाइजी के सामने होंगे केएल राहुल 

April 29th, 2022

हाईलाइट

  • अपनी टीम को आगे से लीड कर रहे है कप्तान केएल राहुल

डिजिटल डेस्क, मुंबई, मनुज भारद्वाज। पिछली साल तक केएल राहुल पंजाब किंग्स के कप्तान थे और मयंक अग्रवाल उप-कप्तान और दोनों पंजाब के लिए ओपनिंग करते थे, लेकिन इस साल परिस्थिति बदल चुकी है। दो दोस्त पुणे के एमसीए मैदान पर खेलते हुए तो जरूर नजर आएंगे लेकिन एक-साथ नहीं। जहां एक तरफ नेतृत्व करते हुए केएल राहुल लखनऊ सुपरजायंट के लिए ओपन करते हुए नजर आएंगे वहीं मयंक यह काम पंजाब किंग्स के लिए कर रहे होंगे। 

फिलहाल, पॉइंट्स टेबल में लखनऊ 8 मैचों में 5 जीत (10 अंक) के साथ चौथे स्थान पर है वहीं पंजाब की स्थिति थोड़ी खराब और वह 8 मैचों में 4 जीत (8 अंक) के साथ सातवें स्थान पर है। 

पंजाब को आक्रमक के साथ-साथ अपनानी होगी रक्षात्मक शैली 

टूर्नामेंट में अभी तक पंजाब किंग्स ने बहुत ही आक्रामक क्रिकेट खेला है, जहां एक तरफ उनकी टीम लगातार विकेट गंवा रही होती है वहीं दूसरी तरफ उनके बल्लेबाज या तो बॉउंड्री लगा रहे होते है या फिर विपक्षी टीम को तोहफे में एक और विकेट दे रहे होते है। मिड-सीजन तक पॉइंट्स टेबल में आप बॉटम-4 में हो तो निश्चित ही आपको रूककर सोचना होगा कि क्या यह शैली फायदेमंद है? 

पंजाब को बल्लेबाजी के दौरान अब थोड़ा रक्षात्म क्रिकेट खेलने की भी जरुरत। टीम ने इस शैली के साथ या तो 180+ का स्कोर किया है या फिर वह सिर्फ 115-140 के बीच ही उनकी टीम सिमट कर रह गयी। पावरप्ले के बाद किंग्स ने लगभग हर मैच में लय गंवाई है और उसके बाद क्लस्टर में विकेट गंवाए है। उन्होंने बीच के ओवरों (29) में सबसे ज्यादा और डेथ ओवरों में दूसरे सबसे ज्यादा विकेट गंवाए हैं।

मौजूदा सीजन अब अपने दूसरे चरण में पहुंच गया है और बाकी टीमों ने भी प्लेऑफ के लिए कमर कस ली तो ऐसे में पंजाब को भी बॉटम-4 से टॉप-4 में जगह बनाने के लिए जल्दी रफ्तार पकड़नी होगी क्योंकि टॉप-2 पर मौजूद गुजरात टाइटन्स और राजस्थान रॉयल्स अगले 3-4 मैचों प्लेऑफ की सीटों के दो स्थान को भर सकते है। 

हालांकि, टीम ने पिछले मुकाबले चेन्नई सुपर किंग्स को 11 रन से मात दी थी लेकिन पंजाब के प्रदर्शन में कंसिस्टेंसी की आभाव रहा है। टीम के लिए शिखर धवन ने शानदार बल्लेबाजी की है और वह 302 रन के साथ ऑरेंज कैप की लिस्ट में चौथे स्थान पर है। लियाम लिविंगस्टोन ने टीम को मुश्किल में सपोर्ट किया है वहीं मजबूत स्थिति में कैमियो खेले है। 

पिछले मुकाबले में अर्शदीप ने अंडर-प्रेशर काफी शानदार गेंदबाजी की थी और महत्वपूर्ण 19वें ओवर में धोनी और जडेजा के सामने होते हुए भी महज 8 रन दिए थे। सीएसके के खिलाफ अर्शदीप और रबादा ने 4 ओवरों में 23 रन देकर क्रमशः 1 और 2 विकेट चटकाए थे।  

भानुका राजपक्षे का वापसी करते हुए 42 रन की पारी खेलना, एक अच्छा संकेत है। राजपक्षे ने टीम के लिए पहले दो मैचों में (41 रन, 22 गेंद) और (31 रन, 9 गेंद) की तूफानी पारियां खेली लेकिन प्लेइंग-11 में सिर्फ 4 विदेशी खिलाड़ी को शामिल करने के चलते उन्हें जॉनी बेयरस्टो की जगह बेंच पर बैठना पड़ा था। 

आगे से लीड कर रहे है कप्तान 

अपने पहले सीजन में अच्छा प्रदर्शन कर रही लखनऊ सुपर जायंट्स की सफलता का राज ही उनके कप्तान केएल राहुल है। 368 रन के साथ राहुल इस सीजन में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले दूसरे खिलाड़ी हैं। इस दौरान उनके बल्ले से दो शतक भी निकले है। 

ऑलराउंडरों से भरपूर, सुपर जायंट्स दिखा रही है कि वह इस टूर्नामेंट में डीप तक जाने के लिए आई है। टीम की प्लेइंग-11 में जेसन होल्डर, मार्कस स्टोइनिस, क्रुणाल पांड्या और दीपक हुड्डा जैसे ऑलराउंडरों की मौजूदगी से, उनकी बल्लेबाजी के साथ-साथ गेंदबाजी में भी गहराई है।

ऐसी हो सकती है प्लेइंग-11 

लखनऊ सुपर जायंट्स :  केएल राहुल (कप्तान),  क्विंटन डी कॉक (विकेटकीपर), मनीष पांडे, मार्कस स्टोइनिस, दीपक हुड्डा, क्रुणाल पांड्या, आयुष बडोनी,  जेसन होल्डर, दुष्मंथा चमीरा, रवि बिश्नोई, अवेश खान/मोहसिन खान

पंजाब किंग्स : शिखर धवन, मयंक अग्रवाल (कप्तान), भानुका राजपक्षे, लियाम लिविंगस्टोन, जॉनी बेयरस्टो, जितेश शर्मा (विकेटकीपर), ऋषि धवन, कगिसो रबाडा, राहुल चाहर, अर्शदीप सिंह, संदीप शर्मा