दैनिक भास्कर हिंदी: IPL 12 : काम नहीं आई धोनी की पारी, रोमांचक मैच में बेंगलुरु ने चेन्नई को 1 रन से हराया

April 22nd, 2019

हाईलाइट

  • रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच IPL-12 का 39वां मैच खेला गया।
  • चेन्नई ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला किया।
  • यह मैच बेंगलुरु के एम चिन्नस्वामी स्टेडियम पर खेला गया।

डिजिटल डेस्क, बेंगलुरु। रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच खेले गए IPL-12 के 39वें मैच में बेंगलुरु ने चेन्नई को 1 रन से हरा दिया है। टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए बेंगलुरु ने 20 ओवर में 7 विकेट के नुकसान पर 161 रन बनाए। बेंगलुरु के लिए पार्थिव पटेल ने सबसे ज्यादा 53 रन बनाए। 162 रनों का पीछा करने उतरी चेन्नई की टीम 20 ओवर में 8 विकेट के नुकसान पर 160 रन ही बना सकी। अंतिम ओवर में चेन्नई को जीतने के लिए 26 रन की जरूरत थी, जिसमें से वह केवल 24 रन ही बना सकी और 1 रन से हार गई। चेन्नई की ओर से धोनी ने सबसे ज्यादा 84 रन की पारी खेली।

चेन्नई टीम की शुरुआत रही बेहद खराब
162 रनों के लक्ष्य को चेज करने उतरी चेन्नई टीम की शुरुआत बेहद खराब रही। पहले ही ओवर में चेन्नई ने दो विकेट खो दिए। तेज गेंदबाज डेल स्टेन ने पारी के पहले ओवर में पहले तो शेन वाटसन को स्लिप में कैच कराया और उसकी अगली गेंद पर सुरेश रैना को बोल्ड कर दिया। फाफ डु प्लेसिस और केदार जाधव भी कुछ खास नहीं कर सके और जल्दी आउट हो गए। 28 रन के कुल स्कोर पर चार विकेट गंवा देने के बाद अंबाती रायडू और कप्तान एमएस धोनी ने पारी को संभालते हुए पांचवें विकेट के लिए 55 रन की पार्टनरशिप की। हालांकि 29 रन के निजी स्कोर पर रायडू भी आउट हो गए। अपनी पारी में उन्होंने 2 चौके और एक छक्का लगाया। 

धोनी ने लगाया 111 मी का छक्का
इसके बाद धोनी ने मोर्चा संभालते हुए दूसरे छोर से रन बनाना जारी रखा। चेन्नई को अंतिम तीन ओवरों में 49 रन की जरूरत थी। 18वें ओवर में चेन्नई ने 13 रन बनाए। इसके बाद 19वें ओवर में चेन्नई की टीम सिर्फ 10 रन ही बना सकी और ब्रावो का विकेट गंवा दिया। अंतिम ओवर में चेन्नई को जीतने के लिए 26 रन चाहिए थे, जबकि धोनी स्ट्राइक पर मौजूद थे। उमेश यादव की पहली गेंद पर धोनी ने चौका लगाया। वहीं दूसरी गेंद को धोनी ने स्टेडियम के पार भेज दिया। 111 मी का यह छक्का इस IPL का अब तक सबसे लंबा छक्का है। इसकी अगली ही गेंद पर धोनी ने एक और छक्का लगाया और चेन्नई को बाकी बचे तीन गेंद में 10 रन चाहिए थे। चौथे गेंद पर धोनी ने 2 रन लिए और पांचवीं गेंद पर एकबार फिर छक्का लगा चेन्नई को मैच में वापस ला दिया। अंतिम गेंद पर चेन्नई को जीत के लिए 2 रन और टाई कराने के लिए 1 रन की जरूरत थी। धोनी से मिस होकर बॉल विकेटकीपर पार्थिव के पास चली गई और पार्थिव ने विकेट पर सटीक निशाना लगा शार्दुल ठाकुर को रन आउट कर दिया। इस तरह चेन्नई 1 रन से मैच हार गई। बेंगलुरु की ओर से डेल स्टेन और उमेश यादव ने दो-दो विकेट लिए जबकि चहल और सैनी को 1-1 विकेट मिला।

पार्थिव पटेल की अर्धशतकीय पारी
टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी बेंगलुरु टीम की शुरुआत बेहद खराब रही। 11 रन के कुल स्कोर पर बेंगलुरु ने पिछले मैच के शतकवीर विराट कोहली का विकेट गंवा दिया। उन्हें दीपक चहर ने धोनी के हाथों कैच कराया। इसके बाद एबी डिविलियर्स और पार्थिव पटेल ने दूसरे विकेट के लिए 47 रन की साझेदारी की। दूसरे विकेट के रूप में आउट होने से पहले डिविलियर्स ने 19 गेंदों पर 3 चौके और 1 छक्के की मदद से 25 रन बनाए। डिविलियर्स को रविंद्र जडेजा ने आउट किया। इसके बाद पार्थिव ने अक्षदीप नाथ के साथ मिलकर तीसरे विकेट के लिए 41 रन की पार्टनरशिप की। अक्षदीप 24 रन बनाकर रविंद्र जडेजा का दूसरा शिकार बने। इस दौरान पार्थिव ने अपना अर्धशतक पूरा किया। चौथे विकेट के रूप में आउट होने से पहले पार्थिव ने 37 गेंदों पर 2 चौके और 4 छक्कों की मदद से 53 रन बनाए। वहीं स्टोइनिस, पवन नेगी और मोईन अली कुछ खास नहीं कर सके और जल्दी आउट हो गए।

चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान एमएस धोनी ने इस मैच के लिए टीम में दो बदलाव किए थे। वह कर्न शर्मा की जगह खुद प्लेइंग इलेवन में वापस आए थे। जबकि सैम बिलिंग्स की जगह ड्वेन ब्रावो को टीम में शामिल किया गया। वहीं बेंगलुरु के कप्तान विराट कोहली ने भी टीम में दो चेंज किए थे। डिविलियर्स और उमेश यादव को टीम में शामिल किया गया था। यह मैच बेंगलुरु के एम चिन्नस्वामी स्टेडियम पर खेला गया।

दोनों टीमें इस प्रकार हैं- 

चेन्नई सुपर किंग्स : एमएस धोनी (विकेटकीपर/कप्तान), शेन वॉटसन, फाफ डु प्लेसिस, सुरेश रैना, अंबाती रायुडू, केदार जाधव, ड्वेन ब्रावो, रवींद्र जडेजा, दीपक चाहर, शार्दुल ठाकुर, इमरान ताहिर

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर : पार्थिव पटेल (विकेटकीपर), विराट कोहली (कप्तान), एबी डिविलियर्स, अक्षदीप नाथ, मोईन अली, मार्कस स्टोइनिस, पवन नेगी, डेल स्टेन, नवदीप सैनी, युजवेंद्र चहल, उमेश यादव