भारत बनाम वेस्टइंडीज : आउट होना मेरी नाराजगी का सबब बना : अय्यर

July 25th, 2022

हाईलाइट

  • संजू सैमसन और श्रेयस अय्यर ने पारी को संभाला था

भारत बनाम वेस्टइंडीज, पोर्ट ऑफ स्पेन। वेस्टइंडीज के खिलाफ भारतीय टीम एक समय पर 17.2 ओवर पर अपने 3 विकेट गंवा चुकी थी। तभी क्रीज पर आए संजू सैमसन और पहले से मौजूद श्रेयस अय्यर ने पारी को संभाला। दोनों बल्लेबाजों ने क्रमश: 54 और 63 रन की पारी खेली और टीम को खराब स्थिति से बाहर निकाला। इस दौरान चौथे विकेट के लिए दोनों बल्लेबाजों के बीच 99 रनों की साझेदारी हुई।

अय्यर ने मैच समाप्त होने के बाद कहा, मैंने जिस तरह से पारी खेली उससे मैं खुश था, लेकिन जिस तरह से मैं आउट हुआ वह मेरे लिए नाराजगी का सबब बना। मुझे लगा कि मैं आसानी से टीम को जीत दिला सकता हूं। मैं और रन बनाने में सक्षम था, लेकिन आउट होने की वजह से नहीं बना सका।

हालांकि दोनों के आउट होने के बाद भारत की पारी एक बार फिर डगमगाती हुई दिख रही थी। तभी अक्षर पटेल के नाबाद 64 रनों ने भारत को एक और मजबूत स्कोर के साथ पारी को आगे बढ़ाया और 2 विकेट से टीम को जीतने में मदद मिली। टीम ने इस जीत के साथ तीन एकदिवसीय मैचों की सीरीज में 2-0 से अजेय बढ़त बना ली है।

उन्होंने आगे कहा, टीम में नंबर तीन सर्वश्रेष्ठ पदों में से एक है क्योंकि अगर सलामी बल्लेबाजों में से कोई भी आउट हो जाता है तो आप टीम के स्कोर को संभाल सके। अगर सलामी बल्लेबाजों के पास अच्छी साझेदारी है, तो आपको उस गति को आगे बढ़ाने और रन रेट को बनाए रखने में मदद करनी होती है।

सैमसन के साथ निभाई गई साझेदारी को लेकर श्रेयस अय्यर ने कहा, हमने लगातार दो विकेट गंवाए। टीम एक समय पर 17.2 ओवर में अपने 3 विकेट गंवा चुकी थी। वहां से हमने पारी को संभाला और स्कोर की गति पकड़ी। उसके बाद संजू आए, तब तक मैं 20 गेंदों पर 15 रन पर था।

मुझे पता था कि मैं आगे क्या करने जा रहा हूं और तभी संजू ने कुछ गेंदों का सामना किया। स्पिनर के खिलाफ संजू ने दो छक्के जड़े और मैच का रुख बदल गया।

अय्यर इस बात से खुश थे कि मुख्य कोच राहुल द्रविड़ और बल्लेबाज कोच विक्रम राठौर के साथ नेट सत्र में उनकी कड़ी मेहनत सामने नजर आ रही है। सीरीज में एक के बाद एक अर्धशतक के रूप में उन्होंने अपनी बल्लेबाजी को निखारा है। उन्होंने आगे कहा, मैं मुख्य कोच और बल्लेबाज कोच के साथ कई सालों से जुड़ा हुआ हूं। हम लोग हमेशा बल्लेबाजी की सुधार को लेकर बातचीत करते हैं। साथ ही टीम के बारे में भी बातचीत करते हैं।

उन्होंने आगे कहा, तब हम परिणामों पर नहीं आते मगर एक दूसरे की सोच से बहुत कुछ सीखते हैं। हम लोगों में अच्छी वार्ता है। दोनों कोच खिलाड़ियों का काफी सहयोग करते हैं। वे कभी भी हम लोगों पर दबाव नहीं डालते हैं।

साथ ही अय्यर ने अक्षर पटेल की ताबड़तोड़ बल्लेबाजी की प्रशंसा की और कहा कि दूसरे मैच के हीरो पटेल हैं, उन्होंने जिस तरह से बल्लेबाजी को संभाला वह वाकई काबिले तारीफ है।

(आईएएनएस)

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ bhaskarhindi.com की टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.