नियुक्ति: तालिबान ने पूर्व क्रिकेटर मीरवाइस अशरफ को कार्यवाहक एसीबी प्रमुख नियुक्त किया

November 12th, 2021

हाईलाइट

  • क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया का निर्णय अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) तत्वाधान में आया है

डिजिटल डेस्क, काबुल। अफगानिस्तान में तालिबान के नेतृत्व वाली सरकार ने पूर्व क्रिकेट ऑलराउंडर मीरवाइस अशरफ को अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड (एसीबी) का कार्यवाहक अध्यक्ष नियुक्त किया है। मीरवाइस अजीजुल्लाह फाजली की जगह लेंगे, जो पिछले दो महीनों से बोर्ड के प्रभारी थे। तालिबान ने एक बयान में कहा, अफगानिस्तान के इस्लामी अमीरात के प्रधानमंत्री ने मीरवाइस अशरफ को अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड (एसीबी) के कार्यकारी अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया है।

रिपोर्ट्स से पता चलता है कि चल रहे ट्वेंटी 20 विश्व कप के दौरान अबू धाबी में तालिबान अधिकारियों के साथ बैठक के दौरान विभिन्न राष्ट्रीय क्रिकेट टीम के खिलाड़ियों द्वारा बार-बार मांग के बाद यह निर्णय लिया गया है। अशरफ की एसीबी प्रमुख के रूप में नियुक्ति अफगानिस्तान क्रिकेट के लिए पुनरुद्धार की नई उम्मीदें लेकर आई है ।

अफगान क्रिकेट अतीत में पूर्ण प्रतिबंध का शिकार होने के बाद फिर से उभरा है, हालांकि तालिबान ने महिलाओं को क्रिकेट सहित किसी भी खेल को खेलने से रोक दिया है। अफगानिस्तान पुरुष क्रिकेट टीम पाकिस्तान, भारत और न्यूजीलैंड से हारने के बाद ट्वेंटी 20 विश्व कप 12 चरण से बाहर हो गई और अपने पांच मैचों में से केवल दो में जीत दर्ज की।

अशरफ देश की पुरुष टीम के लिए क्रिकेट के भविष्य को स्थापित करने और उसे मूर्त रूप देने के लिए एक अच्छा विकल्प हो सकते हैं। हालांकि अफगानिस्तान की महिला क्रिकेट टीम के होने की उम्मीद अब भी लगभग नामुमकिन सी लगती है। अशरफ ने 2016 में क्रिकेट से संन्यास ले लिया था। उन्होंने कम से कम 46 एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय और 25 ट्वेंटी -20 अंतर्राष्ट्रीय मैच खेले हैं।

अशरफ के लिए पहला लक्ष्य क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के साथ जुड़ना होगा, जिसने हाल ही में इस महीने के अंत में ब्रिस्बेन में होने वाले अफगानिस्तान के खिलाफ एक टेस्ट मैच स्थगित कर दिया था। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने कहा कि वह मैच की मेजबानी तभी करेगा जब देश की स्थिति और निश्चित हो जाएगी।

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया का निर्णय अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) तत्वाधान में आया है, जिसके नियम हैं कि सभी सदस्य देशों में पुरुष और महिला दोनों क्रिकेट टीमें होनी चाहिए। आईसीसी ने एक बयान में कहा है कि वह इस महीने के अंत में बोर्ड की बैठक में इस मामले पर चर्चा करेगा।

दूसरी ओर, एसीबी ने घोषणा की है कि उसकी टीम दिसंबर 2021 के दौरान कम से कम तीन एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय और तीन ट्वेंटी -20 अंतरराष्ट्रीय मैचों के लिए जिम्बाब्वे का दौरा करेगी।

आईएएनएस